News Nation Logo
Banner

दिल्ली में बेनकाब हो चुके केजरीवाल की यूपी में दाल गलने से रही : सिद्धार्थ नाथ

दिल्ली हाईकोर्ट ने दिल्ली सरकार पर जो टिप्पणी की थी, उसका जवाब देना चाहिए. आपने कितने लोगों को रोजगार दिए. आपने कितने अस्पताल, मेडिकल कॉलेज बनवाए, कितने एम्स जोड़े यह आपको बताना चाहिए.

IANS | Updated on: 16 Dec 2020, 10:20:49 AM
Siddharthnath Singh

सिद्धार्थ नाथ (Photo Credit: फाइल फोटो)

लखनऊ:

उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर पलटवार करते हुए कहा कि उनकी आदत है भ्रमित करने की. वह दिल्ली में बेनकाब हो चुके हैं, उप्र में उनकी दाल गलने से रही. उन्होंने कहा कि, "आपने सदी के सबसे बड़े संकट कोरोना महामारी के दौरान पूर्वाचल के लाखों लोगों का जो अपमान किया है, उसका जवाब देना चाहिए. दिल्ली हाईकोर्ट ने दिल्ली सरकार पर जो टिप्पणी की थी, उसका जवाब देना चाहिए. आपने कितने लोगों को रोजगार दिए. आपने कितने अस्पताल, मेडिकल कॉलेज बनवाए, कितने एम्स जोड़े यह आपको बताना चाहिए." राज्य सरकार के प्रवक्ता और कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ मंगलवार को यहां मीडिया सेंटर में पत्रकारों से मुखातिब थे. उन्होंने कहा कि, "एक मशहूर कहावत है मुंगेरीलाल के हसीन सपने. अब 2022 के बाद इस मुहावरे को बदला जाएगा, केजरीवाल के हसीन सपने."

यह भी पढ़ें : बलिया में अंबेडकर की प्रतिमा क्षतिग्रस्त मिली, घटनास्थल पर पुलिस फोर्स तैनात

उन्होंने कहा कि, "दिल्ली के सीएम को डिंगे मारने की आदत है. दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली में कोविड मैनेजमेंट और सुशासन के कारण यूपी की जनता यह कह रही है कि आप आईए, यूपी को संभालिए. अब मुंगेरीलाल के सपने को भी नहीं रोका जा सकता."

उन्होंने कहा कि, "हाल ही में दिल्ली हाईकोर्ट ने कोविड मैनेजमेंट को लेकर दिल्ली सरकार पर टिप्पणी की थी. दिल्ली हाईकोर्ट ने कहा था कि जब कोविड के मामले बढ़ रहे थे, तब आप क्यों नहीं जागे. यह दिल्ली सरकार पर टिप्पणी है, जिसकी दिल्ली के सीएम दुहाई दे रहे हैं. हाईकोर्ट ने ही कहा था कि पिछले 18 दिनों में जिन लोगों ने अपने परिवार को खोया है, क्या वह उन्हें इसका जवाब दे पाएगी कि जब मामले बढ़ रहे थे, तब प्रशासन ने कदम क्यों नहीं उठाया. इसका जवाब केजरीवाल को देना चाहिए, क्योंकि वह कोविड मैनेजमेंट के बारे में कह रहे हैं."

यह भी पढ़ें : इस बार के क्रिसमस में मिलेगा इम्यूनिटी बूस्टर केक

उन्होंने कहा कि, "यूपी सरकार ने 52 नए मेडिकल जोड़े, आपने कितने जोड़े हैं. दिल्ली की दो करोड़ की आबादी है, लेकिन यूपी की 24 करोड़ की आबादी है. हमारा क्षेत्रफल भी बहुत बड़ा है, लेकिन जब संख्या में हम देखते हैं, तो दिल्ली में दो करोड़ की तुलना में 6 लाख 8 हजार कोरोना संक्रमित हैं और यूपी में 24 करोड़ की तुलना में 5 लाख 66 हजार हैं. प्रतिशत निकालकर आम आदमी पार्टी जवाब दे."

उन्होंने कहा कि, "यूपी में दो करोड़ टेस्ट हुए हैं और दिल्ली में अभी तक 72 लाख ही पहुंचे हैं. आप पूरी दिल्ली की आबादी के बराबर ही कर लेते. फिर भी आप कह रहे हैं हमारा कोविड मैनेजमेंट बहुत अच्छा है." उन्होंने कहा कि हमने यूपी में दो एम्स जोड़े हैं. आपने कितने जोड़े हैं, उसी का जवाब दे दीजिए. एक एम्स जो पुराना है, आप उसी को संभाल नहीं पा रहे हैं. यूपी सरकार ने पिछले चार साल में 52 नए मेडिकल जोड़े हैं, आपने कितने जोड़े हैं?

यह भी पढ़ें : गंगा हमारे देश और संस्कृति की पहचान और अमूल्य धरोहर है : आनंदीबेन

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने चार लाख युवाओं को सीधा रोजगार दिया है और सवा करोड़ लोगों को स्वावलंबी बनाया है. आपके यहां 45 फीसदी बेरोजगारी है. दिल्ली में एक हजार प्राईमरी स्कूल हैं. जबकि यूपी में 1 लाख 35 हजार हैं और 50 हजार स्कूलों को कायाकल्प योजना के तहत बदला गया है. सिद्धार्थ नाथ ने अरविंद केजरीवाल का नाम लिए बिना कहा कि पूर्वाचलियों पर आपने जो टिप्पणी की थी, उसके लिए आपने अभी तक माफी भी नहीं मांगी है.

First Published : 16 Dec 2020, 10:16:38 AM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.