News Nation Logo
मुंबई भी पहुंचा ओमीक्रॉन वैरिएंट, एक और मरीज मिला प्रियंका गांधी का बड़ा आरोप- UP TET घोटाले में दाल में कुछ काला ही नहीं, पूरी दाल ही काली है BJP योगी के नेतृत्व में लड़ेगी यूपी चुनाव: अमित शाहRead More » IPL 2022 : RCB के साथ फिर जुड़ेंगे एबी डिविलियर्स, विराट कोहली के साथ...!Read More » नवजोत सिंह सिद्धू ने फिर की भारत-पाक बार्डर खोलने की मांग ओमीक्रॉन को लेकर केंद्र की राज्यों को चिट्ठी, Omicron पर ट्रेसिंग और टेस्टिंग बढ़ाना जरूरी MSP गारंटी पर कमेटी के लिए 5 नामों पर बनी सहमति PM मोदी ने देवभूमि को किया प्रणाम, पढ़ी ये कविता 'जहां पर्वत गर्व सिखाते हैं...'Read More » ओमीक्रॉन खौफ के बीच टीम इंडिया का दक्षिण अफ्रीका दौरा टला न्यूजीलैंड में शामिल मुंबई के लड़के एजाज पटेल ने किया कमाल. लिए 10 विकेट

UP ATS ने मनी लॉन्ड्रिंग केस में दो चीनी नागरिकों को किया गिरफ्तार

यूपी एटीएस की शुरूआती पूछताछ में सामने आया है कि दोनों चीनी नागरिक विभिन्न डिस्टीब्यूटरों और ररटेलरों के माध्यम से जिन्हें पहले गिरफ्तार किया जा चुका है, से प्री एक्टीवेटेड सिम कार्ड प्राप्त करते थे.

News Nation Bureau | Edited By : Shailendra Kumar | Updated on: 24 Jan 2021, 07:25:57 PM
Chinese nationals in connection with a money laundering case in Gautam Buddh Nagar

गौतमबुद्ध नगर में मनी लॉन्ड्रिंग मामले में दो चीनी नागरिकों को गिरफ्ता (Photo Credit: @ANI)

नोएडा:

उत्तर प्रदेश आतंकवाद निरोधक दस्ता (UP ATS) ने साइबर इकोनामिक फ्रॉड के मामले में दो चीनी नागरिकों को गिरफ्तार किया है. नोएडा से गिरफ्तार इन चीनी नागरिकों के नाम पोचंली टेंगली उर्फ ली टेंग ली और जू जुंफी उर्फ जुलाही हैं. यह शातिर गिरोह फर्जी आइडी से सिम कार्ड हासिल कर ऑनलाइन खाते खोलकर लेनदेन कर रहा था. एटीएस टेरर फंडिंग और हवाला नेटवर्क के लिंक भी तलाश रही है.

यह भी पढ़ें : बरेली में 10 बार शादी करने वाले व्यक्ति की हत्या, जानें वजह

अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक, कानून और व्यवस्था, प्रशांत कुमार ने कहा कि चीनी नागरिकों को जाली दस्तावेजों के माध्यम से सिम कार्ड खरीदने और फिर बैंकों के माध्यम से उन सिमों पर धोखाधड़ी करने के लिए गिरफ्तार किया गया है. यूपी एटीएस की शुरूआती पूछताछ में सामने आया है कि दोनों चीनी नागरिक विभिन्न डिस्टीब्यूटरों और ररटेलरों के माध्यम से जिन्हें पहले गिरफ्तार किया जा चुका है, से प्री एक्टीवेटेड सिम कार्ड प्राप्त करते थे.

यह भी पढ़ें : गणतंत्र दिवस पर 150 साल पुरानी यरवदा जेल में घूम सकेंगे पर्यटक

प्रशांत कुमार ने कहा कि एटीएस को अहम सफलता मिली है. 14 शातिरों को गिरफ्तार करने के बाद दो चीनी नागरिकों को भी पकड़ा गया है. यह गिरोह बनाकर फर्जी आइडी से सिम कार्ड हासिल करते थे. उस प्री-एक्टिवेटेड सिम कार्ड से विभिन्न बैंकों में ऑनलाइन खाते खोलते थे. फिर आपराधिक गतिविधियों से प्राप्त धनराशि को उन खातों में डालकर कुछ ही समय में कार्डलेस ट्रांजेक्शन कर लेते थे. 

First Published : 24 Jan 2021, 07:19:35 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.