logo-image
लोकसभा चुनाव

नोटों की गिनती के फेर में टूट गई शादी, ये चूक कर बैठा दूल्हा; बेरंग लौटी बारात

उत्तर प्रदेश के औरैया में एक अनोखी घटना ने सबका ध्यान खींचा है. जयमाला के बाद जब दूल्हे से नोट गिनने के लिए कहा गया तो वह ऐसा नहीं कर सका, जिसके बाद दुल्हन ने शादी तोड़ दी. इस अजीबोगरीब घटना के बाद बारात को खाली हाथ वापस लौटना पड़ा.

Updated on: 10 Jun 2024, 01:40 PM

highlights

  • नोटों की गिनती के फेर में टूट गई शादी, ये चूक कर बैठा दूल्हा
  • उत्तर प्रदेश के औरैया में बेरंग लौटी बारात
  • दूल्हे के परिवार को मिला बड़ा झटका

 

New Delhi:

Auraiya Viral News: उत्तर प्रदेश के औरैया में एक अनोखी घटना ने सबका ध्यान खींचा है. जयमाला के बाद जब दूल्हे से नोट गिनने के लिए कहा गया तो वह ऐसा नहीं कर सका, जिसके बाद दुल्हन ने शादी तोड़ दी. इस अजीबोगरीब घटना के बाद बारात को खाली हाथ वापस लौटना पड़ा. बता दें कि ये घटना औरैया जिले के एक गांव की है, जहां एक शादी समारोह में सब कुछ सामान्य रूप से चल रहा था. जयमाला की रस्म के बाद, दुल्हन के परिवार ने दूल्हे से नोट गिनने को कहा, यह एक साधारण परंपरा थी, जिसका उद्देश्य ये देखना था कि दूल्हा बुनियादी गणितीय कौशल में कितना कुशल है, लेकिन जब दूल्हा ये आसान काम भी पूरा नहीं कर पाया तो दुल्हन और उसके परिवार को यह फैसला लेने पर मजबूर होना पड़ा.

यह भी पढ़ें: मोदी कैबिनेट की आज हो सकती है पहली बैठक, Modi 3.0 में 72 मंत्री, 33 नए चेहरे

दूल्हा नहीं गिन पाया नोट तो दुल्हन ने शादी से किया इनकार

आपको बता दें कि जब दूल्हा नोट नहीं गिन पाया तो दुल्हन ने शादी तोड़ने का फैसला कर लिया ये कहते हुए कि वो एक ऐसे व्यक्ति से शादी नहीं कर सकती जो साधारण गणना भी नहीं कर सकता. इस फैसले ने शादी समारोह में हड़कंप मचा दिया. बारात को निराश होकर वापस लौटना पड़ा. गांव के लोगों और बारातियों के बीच यह घटना चर्चा का विषय बन गई. दुल्हन के इस साहसिक फैसले ने कई लोगों को हैरान किया. वहीं कुछ ने उसकी समझदारी की सराहना भी की. दुल्हन का मानना था कि शादी का रिश्ता केवल परंपराओं और रस्मों तक सीमित नहीं होना चाहिए, बल्कि इसमें सामंजस्य और व्यवहारिकता भी महत्वपूर्ण है. दूल्हे की इस छोटी सी असमर्थता ने उसके भविष्य को लेकर दुल्हन को संदेह में डाल दिया. बता दें कि यह घटना औरैया जिले में तेजी से फैल गई और चर्चा का मुख्य विषय बन गई. सोशल मीडिया पर भी इस घटना की खूब चर्चा हो रही है. कई लोग इसे दुल्हन का सही कदम मान रहे हैं, जबकि कुछ लोग इसे अत्यंत कठोरता का उदाहरण मान रहे हैं.

दूल्हे के परिवार को मिला बड़ा झटका

इसके अलावा आपको बता दें कि इस घटना ने एक बार फिर यह सवाल खड़ा कर दिया है कि शादी के फैसलों में केवल पारंपरिक रीति-रिवाजों का पालन करना कितना महत्वपूर्ण है और क्या इस तरह के परीक्षण वास्तव में एक साथी का मूल्यांकन करने का सही तरीका हैं? हालांकि, दुल्हन के परिवार ने इस निर्णय को सही ठहराया है. साथ ही उनका कहना है कि उनका मकसद दूल्हे की योग्यता को परखना था, जो भविष्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निभाने में सक्षम हो सके. वहीं दूल्हे के परिवार ने इस घटना पर कोई टिप्पणी नहीं की है, लेकिन स्थानीय लोगों का कहना है कि ये घटना दूल्हे और उसके परिवार के लिए एक बड़ा झटका है. बहरहाल, औरैया की इस घटना ने यह स्पष्ट कर दिया है कि अब विवाह केवल पारंपरिक रस्मों तक सीमित नहीं रह गए हैं. वहीं यह घटना कई परिवारों को विवाह संबंधी निर्णयों में व्यावहारिकता और आपसी समझ के महत्व के बारे में सोचने पर मजबूर कर सकती है.