News Nation Logo

राजपथ की परेड पर पहला स्थान पाने वाली राममंदिर की झांकी घूमेगी गांव-गांव

देश की राजधानी दिल्ली में यूपी की राममंदिर की झांकी को पहला स्थान मिला है. मुख्यमंत्री योगी के निर्देश पर श्रीराम मंदिर की झांकी की प्रतिकृति को प्रदेश में गांव-गांव में घुमाया जाएगा.

IANS | Edited By : Dalchand Kumar | Updated on: 29 Jan 2021, 07:57:13 AM
Ram Mandir Tableau

राजपथ परेड में पहला स्थान पाने वाली राममंदिर की झांकी घूमेगी गांव-गांव (Photo Credit: फाइल फोटो)

लखनऊ:

देश की राजधानी दिल्ली में यूपी की राममंदिर की झांकी को पहला स्थान मिला है. मुख्यमंत्री योगी के निर्देश पर श्रीराम मंदिर की झांकी की प्रतिकृति को प्रदेश में गांव-गांव में घुमाया जाएगा. दिल्ली के राजपथ पर गणतंत्र दिवस की परेड में पहला स्थान पाने वाली राम मंदिर झांकी को लेकर उत्तर प्रदेश सरकार ने बेहद अहम फैसला लिया है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गणतंत्र दिवस पर उत्तर प्रदेश की श्रीराम मंदिर की झांकी को देश की सर्वश्रेष्ठ झांकी का पुरस्कार मिलने को गर्व का क्षण बताया है.

यह भी पढ़ें: गाजीपुर बॉर्डर पर तनाव भरा सन्नाटा, आधी रात सुरक्षाकर्मी भी हटे 

योगी आदित्यनाथ ने खुशी जताते हुए कहा कि यह प्रदेश के लिए प्रसन्नता और गर्व का अवसर है. झांकी के इस प्रतिरूप को प्रदेश में भी दिखाया जाएगा. जहां-जहां से यह झांकी गुजरेगी, वहां जनता इसका स्वागत करेगी और पुष्पवर्षा की जाएगी. अब सरकार इस झांकी की प्रतिकृति का भ्रमण प्रदेश के गांव-गांव तक में कराएगी. उत्तर प्रदेश सरकार की श्रीराम मंदिर मॉडल की झांकी देश में सर्वोत्तम रही. राजपथ में झांकी में प्रथम पुरस्कार पहली बार प्रदेश के खाते में आया है. इसे गौरव का क्षण बताते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अब प्रदेश भर में इस झांकी का भ्रमण कराने का निर्देश दिया.

उत्तर प्रदेश सरकार के सूचना विभाग ने इस बार अयोध्या में निमार्णाधीन श्रीराम मंदिर मॉडल की झांकी निकाली. दिल्ली में गुरुवार को केंद्रीय युवा कल्याण एवं खेल मंत्री किरेन रिजूजू ने उत्तर प्रदेश के सूचना विभाग को पुरस्कार सौंपा. शाम को लखनऊ लौटकर मुख्यमंत्री के सरकार आवास पर अपर मुख्य सचिव सूचना डॉ. नवनीत सहगल और सूचना निदेशक शिशिर ने मुख्यमंत्री को पुरस्कार सौंपा.

यह भी पढ़ें: LIVE: आंदोलन पर अड़े राकेश टिकैत, समर्थन में आज किसानों की महापंचायत

अपर मुख्य सचिव ने बताया कि झांकी में प्रदेश की बेहद संपन्न विरासत और संस्कृति की झलक दिखाई गई है. अयोध्या में बनने वाले राम मंदिर मॉडल के अलावा रामायण के प्रमुख दृश्य और रामायण की रचना करते हुए महर्षि वाल्मीकि भी आकर्षण का केंद्र रहे. शबरी के झूठे बेर खाते हुए प्रभु श्रीराम के साथ अन्य दृश्यों और संगीत के जरिए सामाजिक समरसता का संदेश देने की कोशिश की गई है. सूचना निदेशक ने इस उपलब्धि को टीमवर्क का नतीजा बताया.

First Published : 29 Jan 2021, 07:57:13 AM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो