News Nation Logo
Banner

कोरोना के नए स्ट्रेन के बीच उत्तर प्रदेश से आई डराने वाली खबर, ब्रिटेन से लौटे 570 लोग लापता

कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन से दहशत फैली हुई है. कोरोना के नए स्ट्रेन ने लोगों की चिंताओं को बढ़ा दिया है. इस बीच उत्तर प्रदेश से एक डराने वाली खबर सामने आई है.

News Nation Bureau | Edited By : Dalchand Kumar | Updated on: 29 Dec 2020, 08:34:35 AM
Corona virus

सामने आई डराने वाली खबर, ब्रिटेन से UP लौटे 570 लोगों का पता नहीं (Photo Credit: फाइल फोटो)

लखनऊ:

कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन से दहशत फैली हुई है. कोरोना के नए स्ट्रेन ने लोगों की चिंताओं को बढ़ा दिया है. इस बीच उत्तर प्रदेश से एक डराने वाली खबर सामने आई है. सरकार और प्रशासन के लिए उन लोगों को ढूंढना चुनौती बन गया है, जो हाल ही में ब्रिटेन की यात्रा करके लौटे हैं. हाल ही में ब्रिटेन की यात्रा करके उत्तर प्रदेश लौटे 570 लोगों का पता नहीं चल पा रहा है. 9 दिसंबर के बाद ब्रिटेन से लौटे इनमें से ज्यादातर लोगों के फोन स्विच ऑफ या नॉट रिचबल आ रहे हैं.

यह भी पढ़ें: Covid-19 और ब्‍लड प्रेशर में संक्रमण से जूझ रहे मरीजों को अधिक खतरा : स्‍टडी 

माना जा रहा है कि ये लोग खुद को छिपा रहे हैं. कोरोना की गंभीर बीमारी को लेकर इन लोगों की लापरवाही अन्य लोगों के लिए मुसीबत बन सकती है. इनमें से कोई से कोई नए स्ट्रेन से संक्रमित हो सकता है और संक्रमण अन्य लोगों में फैला सकता है. जिसको लेकर स्वास्थ्य विभाग भी डरा हुआ है. इनका पता लगाने के लिए प्रशासन जद्दोजहद कर रहा है. भले ही वायरस के स्ट्रेन की पहचान होना बाकी है, लेकिन राज्य सरकार कोई चांस नहीं लेना चाहती है.

यह भी पढ़ें: Big Breaking : भारत में लांच हो गई स्वदेशी न्यूमोकोकल कोरोना वैक्सीन

बता दें कि पिछले दिनों ब्रिटेन से वापस उत्तर प्रदेश आए 609 लोगों में से 8 का कोविड-19 परीक्षण पॉजिटिव पाया गया था. उधर, उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के अंदर कैंटेनमेंट जोन में फिर से बैरिकेडिंग लगाई जाएगी. लखनऊ में इस वक्त 200 कैंटेन्मेंट जोन हैं. कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर रोकने के लिए बैरिकेडिंग की जाएगी. अधिकारियों ने कोरोना संक्रमण के लिहाज से अगले 15 दिन को अहम बताया है.

First Published : 29 Dec 2020, 08:34:35 AM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.