News Nation Logo
Banner

राम मंदिर निर्माण कार्य को लेकर CM योगी के साथ PM की बैठक शुरू, ये प्रोजेक्ट हैं प्रस्तावित

इस मीटिंग में अयोध्या में चल रहे विकास कार्यों की समीक्षा की जाएगी. कोरोना संक्रमण की वजह से ये मीटिंग वर्चुअली ही हो रही है, जिसमें सीएम योगी आदित्यनाथ भी शामिल हैं. इस मीटिंग में मोदी के सामने अयोध्या का विजन डॉक्यूटमेंट रखा जाएगा. 

News Nation Bureau | Edited By : Karm Raj Mishra | Updated on: 26 Jun 2021, 12:41:27 PM
PM Modi CM Yogi

PM Modi CM Yogi (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • पीएम मोदी ने राम मंदिर निर्माण की समीक्षा की
  • अयोध्या का नवनिर्माण का कार्य जारी है
  • राम नगरी को वेदों के अनुसार निर्मित करने की तैयारी

नई दिल्ली:

अयोध्या में राम मंदिर के लिए जमीन खरीद के घोटाले के आरोपों के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अयोध्या पर मीटिंग कर रहे हैं. इस मीटिंग में अयोध्या में चल रहे विकास कार्यों की समीक्षा की जाएगी. कोरोना संक्रमण की वजह से ये मीटिंग वर्चुअली ही हो रही है, जिसमें सीएम योगी आदित्यनाथ भी शामिल हैं. इस मीटिंग में मोदी के सामने अयोध्या का विजन डॉक्यूटमेंट रखा जाएगा. इस बैठक में सीएम योगी के अलावा प्रदेश के दोनों डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य और दिनेश शर्मा भी मौजूद हैं. इनके अलावा वित्त मंत्री सुरेश खन्ना, नगर विकास मंत्री आशुतोष टंडन, पर्यटन मंत्री नीलकंठ तिवारी, सिंचाई मंत्री महेंद्र सिंह, अयोध्या विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष विशाल सिंह भी बैठक में मौजूद हैं.

ये भी पढ़ें- धर्मांतरण मामले में एक और नया खुलासा, इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर का नाम आया सामने

भव्य राम मंदिर का निर्माण कार्य जारी

यूपी की अयोध्या में बन रहे भव्य राम मंदिर (Ram Mandir) का निर्माण कार्य बड़ी तेजी के साथ जारी है. इस वक्त मंदिर की नींव भराई का काम जारी है. श्री राम जन्म परिसर में भगवान रामलला (Lord Ram) के मंदिर निर्माण के लिए बुनियाद भरी जा रही है. विश्व प्रसिद्ध इस मंदिर को बनाने के लिए नींव को इतना मजबूत बनाया जा रहा कि मंदिर हजारों साल तक स्थिर खड़ा रहे. इसके लिए मंदिर निर्माण के लिए 400 फीट लंबा 300 फीट चौड़ा और 50 फिट गहरा भूखंड बुनियाद के लिए खोदा गया है. इसमें 12 इंच मोटी लेयर बिछाई जाने के बाद उसको वाइब्रेटर से 2 इंच दबाया जा रहा है.

अयोध्या का हो रहा है नवनिर्माण

राम मंदिर का निर्माण शुरू होने के साथ ही अयोध्या के भी पुनर्निमाण का काम शुरू हो गया है. अयोध्या को बुनियादी सुविधाओं का तोहफा देने के साथ ही रामनगरी का वैभव लौटाने की दिशा में कई महत्वपूर्ण फैसले लिए गए हैं. अयोध्या में प्रवेश के लिए अलग-अलग दिशा में 6 रास्ते हैं, इन सभी रास्तों पर अब राम द्वार बनाने की तैयारी की जा रही है. इन्हीं रास्तों से अयोध्या में प्रवेश होगा. इसके अलावा यहां पर रामायणकालीन वाटिकाओं का निर्माण भी होगा.

अथर्ववेद में वर्णित अयोध्या बनाने की कोशिश

अथर्व वेद में वर्णित 9 द्वार वाली अयोध्या के स्वरूप को रामनगरी के पुनर्निमाण में भी प्रमुखता से स्थान देने की कोशिश चल रही है. अभी 9 द्वारों में 6 द्वारों के निर्माण की रूपरेखा तैयार कर ली गई है. अयोध्या में बनने वाले 6 प्रवेश द्वारों का नाम रामायण से जुड़े हुए हैं.  लखनऊ मार्ग पर श्रीराम द्वार का निर्माण किया जा रहा है. गोंडा की ओर से आने वाले मार्ग पर लक्ष्मण द्वार बनाया जाएगा. जबकि प्रयागराज मार्ग पर भरत द्वार निर्माण किया जाएगा. वहीं वाराणसी मार्ग से आने वाले श्रद्धालु जटायु द्वार से प्रवेश करेंगे. तो रायबरेली मार्ग से आने वाले राम भक्त गरुड़ द्वार से राम नगरी में प्रवेश करेंगे. हनुमान द्वार का निर्माण गोरखपुर मार्ग पर किया जा रहा है. 

ये भी पढ़ें- किसानों के धरना-प्रदर्शन पर ISI का साया, बवाल की खुफिया अलर्ट

पर्यटकों को आकर्षित करेगी राम नगरी

मुख्यमंत्री के आदेश के मुताबिक अयोध्या के मशहूर सूर्यकुंड का विकास किया जा रहा है. भरत कुंड, हनुमान कुंड, स्वर्ण कुंड, सीता कुंड, अग्नि कुंड, गणेश कुंड, दशरथ कुंड का भी सौंदर्यीकरण का काम तेजी के साथ चल रहा है. भजन संध्या स्थल, दशरथ महल, सत्संग भवन, यात्री सहायता केन्द्र और रैन बसेरे का काम काफी हद तक पूरा हो चुका है. नया बस डिपो भी बनकर तैयार हो चुका है. इसके अलावा रामायण सर्किट थीम के तहत रामकथा गैलरी और लक्ष्मण किला घाट का काम भी लगभग पूरा है.

अयोध्या में बनेगी श्री राम यूनिवर्सिटी'

राम नगर में श्री राम यूनिवर्सिटी (Sri Ram University) स्थापित किए जाने की घोषणा की गई है. इसके लिए योगी सरकार की ओर से 5 हजार करोड़ रुपये प्रस्तावित किए गए हैं. और इस यूनिवर्सिटी के 2022 तक शुरू होने की संभावना है. इस प्रस्तावित यूनिवर्सिटी में वैदिक गणित, ज्योतिष केंद्र, कर्म कांड (पंडितों द्वारा आयोजित अनुष्ठान सेवाएं)पढ़ाए-सिखाए जाएंगे. साथ ही गीता, वैदिक और रामायण समेत अन्य धार्मिक ग्रंथो पर शोध होगा. इस यूनीवर्सिटी का ऐलान डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा (Deputy CM Dinesh Sharma) ने किया था.

First Published : 26 Jun 2021, 12:15:02 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

LiveScore Live IPL 2021 Scores & Results

वीडियो

×