News Nation Logo

उत्तर प्रदेश में 'ओडीओपी' से ग्रामीण महिलाओं के सपनों को लग रहे पंख

उत्तर प्रदेश सरकार की 'एक जनपद एक उत्पाद (ओडीओपी)' योजना के जरिए महिलाओं के सपनों को पंख लग रहे हैं. वहीं दूसरी ओर उद्यमी महिलाएं मिशन शक्ति अभियान के तहत जरूरतमंद महिलाओं को स्वावलंबी भी बना रही हैं.

IANS | Updated on: 24 Dec 2020, 09:42:25 AM
ODOP Scheme

यूपी में 'ओडीओपी' से ग्रामीण महिलाओं के सपनों को लग रहे पंख (Photo Credit: IANS)

लखनऊ:

उत्तर प्रदेश सरकार की 'एक जनपद एक उत्पाद (ओडीओपी)' योजना के जरिए महिलाओं के सपनों को पंख लग रहे हैं. वहीं दूसरी ओर उद्यमी महिलाएं मिशन शक्ति अभियान के तहत जरूरतमंद महिलाओं को स्वावलंबी भी बना रही हैं. यूपी का हैंडीक्राफ्ट हो या फिर यहां के पारंपरिक मशहूर परिधान, विभिन्न जनपदों के खूबसूरत लिबासों को अंतर्राष्ट्रीय मंच पर पहचान दिलाने संग जरूरतमंद महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने का काम लखनऊ की निरालानगर निवासी फैशन डिजाइनर मंजरी पांडे कर रही हैं. ओडीओपी योजना के जरिए अपने व्यापार को पंख देने वाली मंजरी मिशन शक्ति मुहिम को लखनऊ समेत दूसरे प्रदेशों में बढ़ावा दे रही हैं.

यह भी पढ़ें: अयोध्या में भगवान राम के भव्य मंदिर के लिए दान में कथावाचक मोरारी बापू ने दी इतनी बड़ी राशि  

लखनऊ की जरी जरदोजी, चिकन हो या फिर बनारस का सिल्क, पारंपरिक परिधानों को फैशन के रंगों में रंगने काम, ये महिलाओं को पिछले दस सालों से व्यापार के क्षेत्र में प्रोत्साहित करने का कार्य कर रहे हैं. मंजरी पांडे ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की स्वर्णिम योजना एक जनपद एक उत्पाद 'ओडीओपी' का लाभ उठाते हुए मैंने साल 2018 में 10 लाख रुपये का ऋण लिया. इससे साल 2019 में मशीनों व कच्चे माल को खरीद अपने पहले स्टोर की शुरुआत की. उन्होंने 100 महिलाओं को कार्यशाला के जरिए फैशन डिजाइनिंग की नि:शुल्क ट्रेनिंग देकर रोजगार की मुख्यधारा से जोड़ उनको सशक्त बनाने का कार्य किया.

मंजरी ने बताया कि फैक्ट्री में लगभग 150 घरेलू महिलाएं काम करती हैं जो अब प्रति माह दस हजार रुपये की आमदनी करने लगी हैं. वाराणसी और लखनऊ के तीन सेंटर में लगभग 300 ग्रामीण महिलाओं को आर्थिक तौर पर सशक्त बना रही हैं. इसके साथ ही वो इन महिलाओं को हैंडीक्राफ्ट और परिधानों को तैयार करने का प्रशिक्षण भी दे रही हैं. साल 2010 से शुरू हुए मंजरी इंस्टीट्यूट के जरिए बच्चों को भरतनाट्यम, कथक, योग, फैशन डिजाइनिंग से जुड़े गुरों को सीखा रही हैं.

यह भी पढ़ें: 'अयोध्या की कथा' की यूपी में होगी शूटिंग, CM योगी से मिले पहलाज निहलानी

उन्होंने बताया कि लगभग 400 जरूरतमंद बच्चों को विभिन्न विषयों पर नि:शुल्क शिक्षा पिछले कई सालों से दे रही हैं. इस इंस्टीट्यूट के जरिए लगभग 300 बच्चों को रोजगार मिल चुका है. मंजरी ने बताया कि जल्द ही हम लोग अपना एक नया स्टोर लंदन में शुरू कर रहे हैं. इसमें यूपी के विभिन्न जनपदों के बेशकीमती परिधान नजर आएंगे. उन्होंने बताया कि मंजरी इंस्टीट्यूट में लगभग 100 जरूरतमंद छात्रों को भारतीय नृत्य विधाओं, फैशन डिजाइनिंग और योग की नि:शुल्क शिक्षा दी जा रही है. इंस्टीट्यूट में दुबई, यूएई समेत दूसरे देशों के छात्र भी ऑनलाइन इन विधाओं की ट्रेनिंग ले रहे हैं.

First Published : 24 Dec 2020, 09:42:25 AM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.