News Nation Logo
Banner

कानपुर में गाय हांकने के विवाद में शख्स की पीट-पीटकर हत्या

कानपुर में पड़ोसी की गाय को डंडे से हांकने के विवाद में एक 46 वर्षीय शख्स को उसकी पत्नी और बच्चों के सामने पीट-पीटकर मार डाला गया. घटना सोमवार शाम को गोविंद नगर पुलिस थाने के अंतर्गत आने वाले महादेव नगर बस्ती में हुई.

IANS | Updated on: 22 Dec 2020, 12:08:09 PM
Man death up in a cow dispute in Kanpur

गाय हांकने के विवाद में शख्स की पीट-पीटकर हत्या (Photo Credit: IANS)

कानपुर:

उत्तर प्रदेश के कानपुर में पड़ोसी की गाय को डंडे से हांकने के विवाद में एक 46 वर्षीय शख्स को उसकी पत्नी और बच्चों के सामने पीट-पीटकर मार डाला गया. घटना सोमवार शाम को गोविंद नगर पुलिस थाने के अंतर्गत आने वाले महादेव नगर बस्ती में हुई. संदिग्ध हत्यारा आयुष यादव अब अपने परिवार के साथ फरार है. खबरों के मुताबिक, आयुष यादव की गाय रमन गुप्ता के घर के सामने आकर खड़ी हो गई थी.

यह भी पढ़ें : PM मोदी करेंगे अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी को संबोधित, 56 साल बाद आया ऐसा मौका

चूंकि रमन गुप्ता के बच्चे, तीन बेटियां और एक बेटा घर के सामने खेल रहे थे, इसलिए उन्होंने गाय को वहां से भगाने की कोशिश की. रमन और उनके परिवार ने गाय को हांकने के लिए डंडे का इस्तेमाल किया जिसे आयुष ने देख लिया और मौके पर पहुंचकर कथित रूप से रमन और उनके परिवार के साथ गालीगलौच की और धमकाया.

रमन की पत्नी माया ने पत्रकारों से कहा, "उसने हमें गाय को डंडे से मारने के लिए दोषी ठहराया. जल्द ही, यह मेरे पति और आयुष के बीच झगड़े में बदल गया." कुछ मिनटों बाद, आयुष डंडा लेकर मौके पर लौट आया. माया ने कहा, "आयुष सबके सामने बार-बार डंडे से मेरे पति के सिर और शरीर के अन्य महत्वपूर्ण अंगों पर वार करता रहा. जब हमने उन्हें बचाने की कोशिश की, तो आरोपी ने हम पर भी हमला किया."

यह भी पढ़ें : 95 साल के पूर्व सैनिक की BJP सरकार से मांग, अंग्रेज बना देते थे घर तक सड़क, अब रोड के लिए तरसे

रमन का खून बहना शुरू हो गया और मौके पर ही गिर पड़े जबकि आयुष हाथ में डंडा लेकर चला गया. पड़ोसियों ने पुलिस को सूचित किया, जबकि रमन का परिवार उन्हें पास के नर्सिग होम में ले गया, जहां से उसे लाला लाजपत राय अस्पताल में रेफर कर दिया गया. वहां के डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. बिहार के दरभंगा के रहने वाले रमन बेरोजगार थे और उनकी पत्नी माया घरों में काम करके घर चलाती थी.

यह भी पढ़ें : कोरोना: 6 महीने में पहली बार भारत में नए मामलों की संख्या 20 हजार से कम

आरोपी आयुष एक डेरी मालिक है और इलाके में अपने परिवार के साथ रहता है. एसपी, दक्षिण, दीपक भुकर ने कहा, "मृतक के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है और प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है. हमने अपने परिवार संग फरार आरोपी की गिरफ्तारी के लिए टीमों का गठन किया है."

First Published : 22 Dec 2020, 12:04:01 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.