News Nation Logo
Banner

हाथरस मामले में राहुल- प्रियंका गांधी की जिद पर झुकी योगी सरकार, दिया ये फैसला

प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) ने शनिवार को स्पष्ट कर दिया कि वह किसी भी कीमत पर मंगलवार को मारी गई हाथरस की लड़की के परिवार से मिलेंगी.

News Nation Bureau | Edited By : Ravindra Singh | Updated on: 03 Oct 2020, 04:46:55 PM
rahul priyanka

राहुल गांधी के साथ प्रियंका गांधी (Photo Credit: आईएएनएस)

नई दिल्‍ली:

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) ने शनिवार को स्पष्ट कर दिया कि वह किसी भी कीमत पर मंगलवार को मारी गई हाथरस की लड़की के परिवार से मिलेंगी. टाटा सफारी गाड़ी में राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के साथ यहां कांग्रेस मुख्यालय छोड़ने के बाद उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा, मैं किसी भी कीमत पर हाथरस का दौरा करूंगी, भले ही पुलिस हमें अनुमति न दे. प्रियंका ने खुद टाटा सफारी गाड़ी चलाई, जिसमें उनके भाई और पूर्व कांग्रेस प्रमुख राहुल गांधी आगे की सीट पर उनके साथ बैठे दिखे. दोनों नेताओं के साथ, शशि थरूर (Shashi Tharoor) सहित दर्जनों कांग्रेस सांसद भी हाथरस जा रहे हैं.

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर ने मीडिया से बात करते हुए कहा, यह एक भयानक घटना है और हमें लड़की के प्रति अपना सम्मान दिखाना होगा. जो कुछ भी हुआ है, इस देश में इससे बुरा कुछ नहीं हो सकता. हाथरस में कांग्रेस नेताओं के दौरे की योजना के बाद, उत्तर प्रदेश पुलिस ने यहां दिल्ली-नोएडा-डायरेक्टवे (डीएनडी) पर पर्याप्त व्यवस्था की है. सुबह से ही कांग्रेस नेताओं को उत्तर प्रदेश में प्रवेश करने से रोकने के लिए भारी पुलिस तैनाती की गई है. प्रियंका गांधी शुक्रवार को सामूहिक दुष्कर्म पीड़िता की आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना सभा में शामिल होने के लिए दिल्ली के वाल्मीकि मंदिर गईं.

राहुल-प्रियंका सहित 5 लोगों को जाने की अनुमित
कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) और महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi) हाथरस कथित सामूहिक बलात्कार घटना की पीड़िता के परिवार से मिलने के लिए हाथरस रवाना हुए, लेकिन उनके काफिले को डीएनडी पर पुलिस ने रोक दिया. इसके बाद यूपी प्रशासन ने हाथरस जाने के लिए राहुल गांधी और प्रियंका गांधी समेत 5 लोगों को अनुमति दे दी है.

यह भी पढ़ें-हाथरस गैंगरेप मामले में कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर पुलिस की बर्बरता, DND पर लाठी चार्ज

दिल्ली के अस्पताल में हुई थी पीड़िता की मौत
दिल्ली के एक सरकारी अस्पताल में मंगलवार को हाथरस की दुष्कर्म पीड़िता जिंदगी से जंग हार गई थी. प्रियंका ने कहा है कि पीड़िता के परिवार को इस समय अकेले महसूस नहीं करना चाहिए. राहुल गांधी गुरुवार को भी हाथरस के लिए निकले थे, मगर उन्हें बीच में ही उत्तर प्रदेश पुलिस ने रोक दिया था. गौतम बुद्ध नगर (नोएडा) में यमुना एक्सप्रेस-वे पर उस समय हाई वोल्टेज ड्रामा देखने को मिला था और राहुल को रोकने के दौरान पुलिस के साथ ही हल्की धक्का-मुक्की में राहुल जमीन पर जा गिरे थे. राहुल को अन्य कांग्रेस नेताओं के साथ हिरासत में लिया गया था, जिसके कुछ देर बाद उन्हें छोड़ दिया गया. अन्य कांग्रेस के खिलाफ महामारी रोग अधिनियम के तहत मामला भी दर्ज किया गया.

यह भी पढ़ें-मोदी सरकार का बड़ा ऐलान, 2 करोड़ तक के कर्ज पर अब 'ब्याज पर ब्याज' से राहत

गुरुवार को कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर हुई थी लाठी चार्ज
कांग्रेस नेताओं ने गुरुवार को आरोप लगाया कि जब उन्होंने हाथरस की ओर बढ़ने की कोशिश की तो पुलिस ने उन पर लाठीचार्ज का सहारा लिया. उत्तर प्रदेश सरकार ने 19 वर्षीय लड़की की मौत की जांच के लिए एक विशेष जांच दल (एसआईटी) का गठन किया है. उत्तर प्रदेश सरकार ने इसके अलावा शुक्रवार शाम को कई अधिकारियों को निलंबित भी कर दिया है. उत्तर प्रदेश पुलिस के जवानों ने पिछले दो दिनों से किसी भी मीडियाकर्मी के प्रवेश पर रोक लगाने वाले गांव को सील कर दिया था. हालांकि शनिवार को मीडिया को पीड़िता के गांव में प्रवेश करने और उसके परिजनों से मिलने की अनुमति दे दी गई है.

First Published : 03 Oct 2020, 04:45:28 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो