News Nation Logo
Quick Heal चुनाव 2022

ये गाड़ी हमको दे दो, वरना अच्छा नहीं होगा, विकास दुबे ने विनीत पांडेय से असलहे के बल पर छीनी थी एंबेसडर कार

गैंगस्टर विकास दुबे के सरकारी नम्बर BG सीरीज की गाड़ियों का खुलासा हुआ है. गाड़ी स्वामी से गुंडई तरीके से गाड़ी झटकी थी. ACP कृष्णा नगर दीपक सिंह और उनकी टीम ने किया खुलासा.

News Nation Bureau | Edited By : Sushil Kumar | Updated on: 06 Jul 2020, 01:38:49 PM
car

प्रतीकात्मक फोटो (Photo Credit: फाइल फोटो)

लखनऊ:

गैंगस्टर विकास दुबे (Vikas dubey) के सरकारी नम्बर BG सीरीज की गाड़ियों का खुलासा हुआ है. गाड़ी स्वामी से गुंडई तरीके से गाड़ी झटकी थी. ACP कृष्णा नगर दीपक सिंह और उनकी टीम ने किया खुलासा. गैंगस्टर (Gangster) विकास दुबे के सरकारी नम्बर BG सीरीज की गाड़ियों का खुलासा हुआ है. गाड़ी स्वामी से गुंडई तरीके से गाड़ी झटकी थी. ACP कृष्णा नगर दीपक सिंह और उनकी टीम ने किया खुलासा. पीड़ित की तहरीर पर विकास दुबे के खिलाफ कृष्णा नगर कोतवाली में 386, 420, 467, 468, 471 धाराओं में मामला दर्ज है.

यह भी पढ़ें- शिवसेना ने CM योगी पर साधा निशाना, कहा- कानपुर मुठभेड़ ने 'एनकाउंटर स्पेशलिस्ट' यूपी सरकार की खोल दी पोल 

विनीत पांडे मौजूदा गाड़ी स्वामी ने पूछताछ में किया खुलासा

इसके अलावा शातिर गैंगस्टर विकास दुबे लखनऊ स्थित आवास पर बरामद हुई एंबेसडर कार का भी खुलासा हुआ. एसीपी कृष्णा नगर दीपक सिंह एवं उनकी टीम द्वारा कड़ी जांच पड़ताल के बाद खुलासा हुआ. मौजूदा वाहन स्वामी तक पुलिस पहुंच गई है. पुलिस के मुताबिक़ परिवहन विभाग द्वारा 2009 में एंबेसडर कार UP 32 BG 0156 नीलामी के उपरांत विनीत पांडे नामक व्यक्ति ने नीलामी में खरीदी थी. नीलामी में विनीत पांडे मौजूदा गाड़ी स्वामी ने पूछताछ में किया खुलासा. गाड़ी मालिक विनीत पांडे ने लिखित तहरीर दी है.

यह भी पढ़ें- कानपुर हत्याकांड: गैंगस्टर विकास दुबे पर ढाई लाख का इनाम घोषित, तलाश में जुटीं पुलिस की कई टीमें

असलहे के दम पर छीनी थी कार

गाड़ी स्वामी विनीत पांडेय ने कहा कि मेरे द्वारा एंबेस्डर गाड़ी यूपी 32 BG 0156 नीलामी में लेने के बाद विकास दुबे जो कानपुर का रहने वाला है, अपने भाई दीपक दुबे तथा दो अन्य साथियों के साथ घर आया. धमकाते हुए कहा कि सरकारी गाड़ी जो तुमने नीलामी में ली है मुझको दे दो, वरना अच्छा नहीं होगा. डरते हुए मैंने अपनी गाड़ी की चाबी तथा गाड़ी विकास दुबे को सौंप दी. गाड़ी ले जाने के बाद मैंने कई बार विकास दुबे एवं दीपक दुबे के घर जाकर अपनी गाड़ी मांगना के लिए पहुंचा, तो मुझे धमकी देकर भगा दिया गया. मामला कृष्णानगर थाने में दर्ज किया.

First Published : 06 Jul 2020, 09:29:02 AM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

Related Tags:

Kanpur