News Nation Logo
Banner

फिल्म सिटी की घोषणा भी कोविड से जूझ रहे आगरा में नहीं फूंक पाई जान

आगरा के महापौर नवीन जैन ने मुख्यमंत्री को बधाई देते हुए पत्र लिखा और सुझाव दिया कि आगरा में भी एक मिनी फिल्म सिटी खोली जानी चाहिए. हालांकि यहां स्वास्थ्य संकट जारी है, बल्कि लगातार गहराता जा रहा है.

News Nation Bureau | Edited By : Shailendra Kumar | Updated on: 23 Sep 2020, 01:43:59 PM
Film City

फिल्म सिटी (Photo Credit: फाइल फोटो)

आगरा:

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के ग्रेटर नोएडा में भारत की सबसे बड़ी फिल्म सिटी की स्थापना की घोषणा ने पूरे ब्रज मंडल में उत्साह ला दिया है, लेकिन कोविड-19 संक्रमण से बुरी तरह जूझ रहे आगरा के निराशाजनक माहौल को यह घोषणा भी नहीं बदल पाई है. मथुरा की सांसद हेमा मालिनी सहित कई कलाकारों, लेखकों और सांस्कृतिक कार्यों से जुड़े स्थानीय संगठनों ने राज्य के पश्चिमी हिस्से में एक विशाल फिल्म सिटी स्थापित करने की योगी की घोषणा का स्वागत किया है. ब्रज मंडल हेरिटेज कंजर्वेशन सोसाइटी के अध्यक्ष सुरेंद्र शर्मा ने कहा, यह निश्चित रूप से स्थानीय संस्कृति को बढ़ावा देने और स्थानीय युवाओं के रोजगार के लिए एक बड़ा जरिया बनेगा.

यह भी पढ़ें : UP : बहराइच में एक कार पेड़ से टकराई, 4 की मौत, 6 घायल

आगरा के महापौर नवीन जैन ने मुख्यमंत्री को बधाई देते हुए पत्र लिखा और सुझाव दिया कि आगरा में भी एक मिनी फिल्म सिटी खोली जानी चाहिए. हालांकि यहां स्वास्थ्य संकट जारी है, बल्कि लगातार गहराता जा रहा है. यहां पिछले महीने से कोविड-19 के रोज मामलों की संख्या बढ़ी है. पिछले 24 घंटों में आगरा में 127 नए मामले और 1 मौत दर्ज हुई है. यहां अब तक 5,125 मामले सामने आ चुके हैं और 4,048 लोग ठीक हो चुके हैं. मौजूदा सक्रिय मामलों की संख्या 958, रिकवरी दर 78.99 प्रतिशत, सामने आए मामलों में मृत्यु दर 2.32 प्रतिशत और नमूनों के पॉजिटिव आने की दर 2.99 प्रतिशत है.

यह भी पढ़ें : लखनऊ में प्राइवेट अस्पतालों की बड़ी लापरवाही, 48 कोरोना संक्रमितों की मौत

शहर में स्थिति निराशाजनक बनी हुई है, चिकित्सा का बुनियादी ढांचा दबाव में है. इन चुनौतीपूर्ण हालातों में 45 सार्वजनिक स्वास्थ्य केंद्र भी कम साबित हो रहे हैं. एस.एन. मेडिकल कॉलेज में आईसीयू बेड की संख्या 160 (सभी पूर्ण) से बढ़ाकर कम से कम 180 करने के लिए प्रयास जारी हैं. जिला मजिस्ट्रेट पी.एन. सिंह ने कहा है कि जिला अस्पताल में पर्याप्त बेड हैं और सप्लाई में भी सुधार हुआ है. जरूरत पड़ने पर एक निजी अस्पताल को व्यापक तौर पर सेवाओं में लगाया जा सकता है.

यह भी पढ़ें : मैंने अभी कोई पार्टी ज्वाइन नहीं की, फैसला जल्द : गुप्तेश्वर पांडेय

जिला स्वास्थ्य अधिकारी दिशानिर्देशों का पालन करने और सुरक्षित रहने के लिए लोगों को कह रहे हैं. ताजमहल और किले को फिर से खोलने के कारण लोग धीरे-धीरे सावधानियों के साथ बाहर आ रहे हैं. उम्मीद है कि अक्टूबर के पहले सप्ताह से और अधिक लोग ट्रेनों और फ्लाइट से आगरा पहुंचना शुरू कर देंगे. वहीं स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने चेतावनी दी है कि सर्दी का मौसम इस निराशाजनक स्वास्थ्य स्थितियों को और बढ़ाएगा. सेवानिवृत्त लेफ्टिनेंट कर्नल (डॉ.) राजेश चौहान ने आईएएनएस से कहा, यह लोगों के लिए बेहद सावधानी बरतने का समय होगा क्योंकि ठंड का मौसम कोविड -19 फ्लू के साथ मिलकर फ्लू को वापस ला सकता है. हालांकि उन्हें उम्मीद है कि तब तक वैक्सीन आ जाएगी.

First Published : 23 Sep 2020, 01:43:59 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो