News Nation Logo
Banner

CM योगी का निर्देश- धर्मांतरण मामले में दोषियों पर लगेगा NSA, संपत्ति भी होगी जब्त

दिल्ली से संचालित यह गिरोह बड़ी संख्या में लोगों का धर्मांतरण पैसा, शादी और नौकरी की लालच दे कर करा चुका है. अब इस मामले में सीएम योगी (CM Yogi) ने सख्त तेवर दिखाए हैं. सीएम योगी ने सभी दोषियों पर सख्त से सख्त कार्रवाई करने के आदेश दिए हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Karm Raj Mishra | Updated on: 22 Jun 2021, 11:07:06 AM
CM Yogi

CM Yogi (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • सीएम योगी ने दोषियों पर NSA लगाने का आदेश दिया
  • दोषियों की संपत्ति भी जब्त करने के निर्देश दिए गए
  • 1000 लोगों का धर्मांतरण कराने का मामला

नई दिल्ली:

यूपी एटीएस ने जबरन धर्मांतरण (conversion case) कराने वाले एक बड़े गिरोह का पर्दाफाश किया है. दिल्ली से संचालित यह गिरोह बड़ी संख्या में लोगों का धर्मांतरण पैसा, शादी और नौकरी की लालच दे कर करा चुका है. सोमवार को लंबी पूछताछ के बाद दो लोगों को यूपी एटीएस ने गिरफ्तार कर लिया. इसमें एक का नाम मुफ्ती जहांगीर आलम है और दूसरे का नाम उमर गौतम है. इन लोगों ने एक हजार से अधिक लोगों का धर्मांतरण कराया है जिसमें अधिकतर हिंदुओं को मुस्लिम बनाया गया है. अब इस मामले में सीएम योगी ने सख्त तेवर दिखाए हैं. सीएम योगी ने सभी दोषियों पर सख्त से सख्त कार्रवाई करने के आदेश दिए हैं.

ये भी पढ़ें- ऐसे चलता था धर्म परिवर्तन का खेल, पढ़ें हिंदू से मुस्लिम बना उमर गौतम का इतिहास

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा निर्देश दिया गया है कि एजेंसियां इस मामले की तह में जाएं, जो भी इसमें शामिल हैं उनपर कड़ा एक्शन लिया जाए. इतना ही नहीं मुख्यमंत्री ने आदेश दिया है कि दोषियों पर नेशनल सिक्युरिटी एक्ट (NSA) लगाया जाए, साथ ही गैंगस्टर एक्ट के तहत एक्शन लिया जाए. जो भी धर्मांतरण मामले में आरोपी हैं उनकी संपत्ति जब्त करने का भी निर्देश दिया गया है. 

बता दें कि धर्मांतरण मामले में दिल्ली के जामिया नगर से दो मौलाना को गिरफ्तार किया गया था. यूपी एटीएस की टीम ने कल मोहम्मद उमर गौतम और मुफ्ती काजी जहांगीर कासमी को गिरफ्तार किया था. दोनों आरोपी अब तक 1 हजार से ज्यादा लोगों का धर्मांतरण कर चुके हैं. जांच में पता चला है कि ये लोग गरीब मूक बधिर बच्चों और महिलाओं को लालच देकर उनका धर्म परिवर्तन कराते थे. दोनों आरोपियों के खिलाफ लखनऊ के एटीएस थाने में मामला दर्ज किया गया है.

ये भी पढ़ें- नुसरत जहां की शादी का विवाद पहुंचा संसद, BJP सांसद बोले- रद्द हो सदस्यता

अपर पुलिस महानिदेशक कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार ने बताया कि मूक बाधिर छात्रों व कमजोर आय वर्ग के लोगों को धन, नौकरी व शादी करवाने का लालच देकर धर्मांतरण कराया जा रहा था. इसका खुलासा गाजियाबाद के डासना से गिरफ्त में आए दो युवकों विपुल विजय वर्गीय और काशिफ को गिरफ्तार किया है. इन्हीं दोनों युवकों ने धर्मांतरण के लिए चलाए जा रहे गिरोह के बारे में जानकारी दी थी. इस पूरे मामले की छानबीन एटीएस को सौंपी गई थी.

First Published : 22 Jun 2021, 10:29:14 AM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

LiveScore Live IPL 2021 Scores & Results

वीडियो

×