News Nation Logo

सीएम योगी आदित्यनाथ ने डीआरडीओ के अस्थाई कोविड अस्पताल का किया उद्घाटन

सरकार लगातार कोरोना से निपटने के लिए अपनी क्षमता को बढ़ा रही है. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के सहयोग से लखनऊ में डीआरडीओ का यह अस्पताल लखनऊ और प्रदेश वासियों को राहत देगा. उन्होंने कहा कि इस अस्पताल को 250 बेड के साथ शुरू किया जा रहा है.

News Nation Bureau | Edited By : Ravindra Singh | Updated on: 05 May 2021, 10:54:09 PM
yogi adityanath

सीएम योगी आदित्यनाथ (Photo Credit: फाइल )

highlights

  • योगी ने किया अस्थाई अस्पताल का उद्घाटन
  • डीआरडीओ ने बनाए हैं अस्थाई कोविड अस्पताल
  • केंद्र और राज्य सरकार के सहयोग से बना अस्पताल

लखनऊ:

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को लखनऊ में डीआरडीओ द्वारा बनाए गए कोविड अस्पताल का उद्घाटन किया. मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि प्रदेश में कोरोना को लेकर कुछ जगह कम संसाधन की बात सामने आ रही है. सरकार लगातार कोरोना से निपटने के लिए अपनी क्षमता को बढ़ा रही है. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के सहयोग से लखनऊ में डीआरडीओ का यह अस्पताल लखनऊ और प्रदेश वासियों को राहत देगा. उन्होंने कहा कि इस अस्पताल को 250 बेड के साथ शुरू किया जा रहा है, जिनमें 150 आइसीयू और 100 बेड आइसोलेशन वार्ड के होंगे.

अगले तीन दिनों में यहां मौजूदा सभी बेड का इस्तेमाल शुरू हो जाएगा. केंद्र और राज्य सरकार के साथ बना यह अस्पताल लोगों के उपचार में काफी सफल होगा. नैना ने अपना मैन पावर लगाया है, जबकि डीआरडीओ ने आधारभूत ढांचा खड़ा किया है. स्थानीय प्रशासन यहां हाउस कीपिंग स्टाफ के लिए सहयोग करेगा. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को अवध शिल्प ग्राम में डीआरडीओ के तैयार अटल विहारी वाजपेयी कोविड अस्पताल के लोकार्पण अवसर पर कहा कि राज्य सरकार ने आज से गावों में विशेष अभियान की शुरूआत की है. पंचायत चुनाव खत्म हो गया है. गावों में कोरोना न बढ़े इसके लिए हर ग्राम पंचायत में निगरानी समिति बनाई गई है. सभी को थमार्मीटर, ऑक्सिमिटर और जरूरी उपकरण दिए गए हैं.

यह भी पढ़ेंःजेपी नड्डा बोले- संसदीय बोर्ड की बैठक के बाद असम के CM पर होगा फैसला

गांवों में लोगों को लक्षण आते एंटीजन टेस्ट समिति कराएगी. जरूरत पड़ने पर आरटीपीसीआर और कम्युनिटी सेंटर बनाने व होम आइसोलेशन वाले मरीजो को मेडिकल किट दी जाएगी. उन्होंने कहा कि डीआरडीओ अस्पताल मरीजों के लिए समर्पित होगा. इस अस्पताल में मरीजों ले साथ उनके तीमारदारों की भी व्यवस्था होगी. समय समय पर दिन में एक बार भर्ती मरीज की जानकारी तीमारदार को दी जाएगी. सात दिन के बाद उनकी कोरोना जांच की भी व्यवस्था की गई है. सरकार ने तीन दिन पहले ट्रायल के लिए यहां ऑक्सीजन उपलब्ध कराया था.

यह भी पढ़ेंःयूपी के 2.67 करोड़ किसानों को एक सप्ताह में मिलेगी किसान सम्मान निधि - सूर्य प्रताप

यहां 24 घंटे ऑक्सीजन का बैकअप रहे इसके लिए राज्य सरकार यहां ऑक्सीजन की आपूर्ति बनाए रखेगी. डीआरडीओ यहां ऑक्सीजन कन्संट्रेटर की सुविधा उपलब्ध करायेगा. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि डीआरडीओ अस्पताल में फायर सेफ्टी के समुचित प्रबंध के साथ विधुत की आपूर्ति निर्बाध होगी. जिस विश्वास के साथ रक्षा मंत्रालय ने प्रदेश वासियों के लिए यह अस्पताल उपलब्ध कराया है. इसे आगे बढ़ाया जाएगा. इस अस्पताल में सभी व्यवस्थाएं बनी रहे इसकी जिम्मेदारी जिलाधिकारी की होगी. कोई भी आवश्कयता राज्य सरकार खड़ी है. साथ ही यहां एक मजिस्ट्रेट भी हर समय उपलब्ध रहेगा.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 05 May 2021, 10:53:22 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.