News Nation Logo
Banner

कृषि कानून के खिलाफ आंदोलन का जवाब देने की रणनीति बना रही बीजेपी

उत्तर प्रदेश सरकार और भाजपा संगठन मिलकर नए कृषि बिल के बारे में किसानों को जवाब देने की रणनीति तैयार कर ली है.

IANS | Updated on: 19 Dec 2020, 09:09:22 AM
BJP

कृषि कानून के खिलाफ आंदोलन का जवाब देने की रणनीति बना रही बीजेपी (Photo Credit: फाइल फोटो)

लखनऊ:

उत्तर प्रदेश सरकार और भाजपा संगठन मिलकर नए कृषि बिल के बारे में किसानों को जवाब देने की रणनीति तैयार कर ली है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को कालीदास मार्ग स्थित अपने आवास पर मंत्रिमंडल और भाजपा संगठन के लोगों के साथ बैठक कर रहे थे. वहां से मिली जानकारी के अनुसार प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की जयंती 25 दिसंबर का दिन इस काम के लिए चुना गया है. उस दिन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी किसानों के खाते में सम्मान निधि की राशि ट्रांसफर करेंगे.

यह भी पढ़ें: भाजपा के नाराज विधायक ने लौटाई अपनी सुरक्षा, हमले की जांच में ढिलाई का आरोप

बैठक से मिली जानकारी के अनुसार 25 दिसंबर को अटल बिहारी वाजपेयी का जन्म दिन सुशासन दिवस के रूप में मनाया जाता है. इस बार किसान सम्मान निधि के ट्रांसफर और प्रधानमंत्री के संबोधन के अलावा अन्य कोई कार्यक्रम नहीं होगा. सरकार और संगठन से मिली जानकरी के अनुसार प्रदेश के सभी 826 ब्लॉकों में विभिन्न योजनाओं के किसान लाभार्थियों व आम किसानों व कार्यकर्ता की बड़ी भागीदारी के भव्य वर्चुअल समारोह एलईडी स्क्रीन पर प्रधानमंत्री का संबोधन सुनवाया जाएगा.

मोदी कृषि बिलों पर उनका मार्गदर्शन करेंगे. इससे पहले स्थानीय नेताओं का संबोधन होगा. प्रत्येक ब्लॉक में वर्चुअल समारोहों का आयोजन कृषि विभाग करेगा. मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी प्रभारी मंत्री अपने जिलों में प्रवास कर इस कार्यक्रम की तैयारी कराएंगे. भाजपा संगठन इसमें भागीदारी के लिए सहयोग करेगा. एक तरह से इस आयोजन को कृषि बिलों के खिलाफ आंदोलन के जवाब के रूप में देखा जा रहा है.

यह भी पढ़ें: हाथरस कांड में CBI ने दाखिल की चार्जशीट, पीड़िता के आखिरी बयान को बनाया आधार 

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री का संबोधन दिन में 12 बजे होगा. प्रत्येक ब्लॉक में बड़ी एलईडी स्क्रीन पर इसका लाइव प्रसारण किया जाएगा. इससे पहले 11 से 12 बजे के बीच स्थानीय नेता बोल सकते हैं लेकिन वे कृषि बिल पर अपना पक्ष नहीं रखेंगे. कृषि बिलों पर प्रधानमंत्री मार्गदर्शन करेंगे. योजना बनी है कि प्रत्येक ब्लॉक में पीएम किसान सम्मान निधि समेत तमाम सरकारी योजनाओं के लाभार्थी किसानों के अलावा आम किसानों, अन्य लाभार्थियों व भाजपा कार्यकतार्ओं की सहभागिता रहेगी.

हर ब्लॉक मुख्यलाय पर हजारों लोग प्रधानमंत्री का संबोधन सुनेंगे. मंत्रियों से कहा गया है कि कृषि बिल को लेकर किसानों के नाम कृषि मंत्री नरेन्द्र तोमर के पत्र को हूबहू छपवाकर बड़े स्तर पर गांव-गांव उसका वितरण कराया जाए. प्रवासी मंत्री जिलों के प्रवास में 25 दिसंबर के कार्यक्रम तथा पत्र वितरण की योजना को क्रियान्वित कराएंगे. भाजपा के प्रदेश महामंत्री (संगठन) सुनील बंसल ने जानकारी दी कि कृषि बिलों पर जनता के बीच सही स्थिति लाने के लिए प्रदेश में अब तक 19 किसान सम्मेलन किए जा चुके हैं.

यह भी पढ़ें: अल्पसंख्यक अधिकार दिवस पर टर्म लोन योजना के तहत लाभार्थियों को मिले इतने करोड़ रुपये

योगी आदित्यनाथ ने मंत्रियों से जिला पंचायत चुनाव की तैयारी में जुटने के निर्देश दिए. उन्होंने कहा कि जिला पंचायत सदस्य पद के लिए प्रत्याशी घोषित करके चुनाव लड़ा जाएगा. कार्यकर्ताओं को चुनाव लड़ाया जाएगा. पार्टी नेताओं के परिवार के सदस्यों को उम्मीदवार नहीं बनाया जाएगा. मंत्रियों को नए प्रदेश प्रभारी राधा मोहन सिंह व तीनों सह प्रभारियों का परिचय कराया गया. इसी के साथ प्रदेश में बनाए गए दो नए सहमहामंत्री (संगठन) पश्चिमी यूपी से कर्मवीर सिंह और पूर्वांचल से भवानी सिंह का भी परिचय कराया गया.

First Published : 19 Dec 2020, 08:59:29 AM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.