News Nation Logo
Banner

पायलट के बिना राजस्थान में 'ऑपरेशन लोटस पार्ट-2' को अंजाम देना चाहती हैं वसुंधरा राजे

बीते दिनों अपनी ही कांग्रेस सरकार को मुसीबत में डालने वाले सचिन पायलट की बीजेपी की रणनीति में मौजदूगी वसुंधरा राजे कैंप को मंजूर नहीं है.

News Nation Bureau | Edited By : Dalchand Kumar | Updated on: 20 Sep 2020, 07:51:35 AM
Vasundhara Raje

पायलट के बिना 'ऑपरेशन लोटस' को अंजाम देना चाहती हैं वसुंधरा राजे (Photo Credit: फाइल फोटो)

highlights

  • जेपी नड्डा के साथ वसुंधरा राजे की हुई मुलाकात
  • मुलाकात के बाद से वसुंधरा राजे बहुत खुश
  • बीजेपी की रणनीति में पायलट की मौजदूगी वसुंधरा को मंजूर नहीं
  • अपने दम पर 'ऑपरेशन लोटस पार्ट-2' को अंजाम देने को तैयार राजे

जयपुर:

राजस्थान (Rajasthan) में एक बार फिर सियासी हलचल शुरू हो गई है. भारतीय जनता पार्टी की नेता और पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे (Vasundhara Raje) 'ऑपरेशन लोटस पार्ट-2' (Operation Lotus Part 2) को अंजाम देने के लिए तैयार हैं, मगर वो इसके लिए पार्टा आलाकमान से 'फ्री हैंड' यानी राजस्थान में पार्टी पर 'कंट्रोल' चाहती हैं. इसके अलावा बीते दिनों अपनी ही कांग्रेस सरकार (Congress Govt) को मुसीबत में डालने वाले सचिन पायलट (Sachin Pilot) की बीजेपी की रणनीति में मौजदूगी वसुंधरा राजे कैंप को मंजूर नहीं है.

यह भी पढ़ें: आज राज्यसभा में पेश होंगे कृषि बिल, कांग्रेस की अपने सदस्यों को हिदायत

इन्हीं सब बातों को लेकर बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के साथ वसुंधरा राजे की मुलाकात हुई है. इस मुलाकात के बाद से वसुंधरा राजे बहुत खुश हैं. बताया जा रहा है कि मुलाकात के विवरण को लेकर प्रदेश भाजपा नेताओं में उत्सुकता है. लेकिन मुलाकात से एक पक्की खबर निकल कर आई है कि राजस्थान में भाजपा की किसी भी भावी रणनीति में वसुंधरा कैंप को सचिन पायलट की मौजूदगी नहीं मंजूर है.

बताया जाता है कि राजस्थान के अंदर पिछली राजनीतिक उथल-पुथल में पायलट बीजेपी की रणनीति के केंद्र बिन्दु थे. उस समय भी वसुंधरा कैंप ने नड्डा-राजनाथ-गडकरी के सामने पायलट कैंप के खिलाफ स्टैंड लिया था. वह बीजेपी के किसी भी प्लान में पायलट को शामिल न करने के स्टैंड पर कायम हैं. अब फिर से वसुंधरा कैंप ने अपना पुराना स्टैंड दोहराया है. वसुंधरा का खुद को पूरा 'फ्री हैंड' देने और पायलट कैम्प को 'प्लान' से दूर रखने का स्टैंड है.

यह भी पढ़ें: Bihar में AIMIM ने किया इस पार्टी से गठबंधन, ओवैसी का RJD पर वार

जानकारी मिली है कि अलबत्ता राजे सबसे पहले राजस्थान में पार्टी पर 'कंट्रोल' चाहती हैं और अमित शाह के पूरे तौर पर स्वस्थ होने पर अगले कुछ दिनों में सबसे पहले इसी पर फैसला होगा. बताया जा रहा है कि लेकिन इससे पहले जेपी नड्डा के साथ हुई मुलाकात में राजे ने दो टूक बात कही है कि यदि आलाकमान और पार्टी उन्हें दे पूरा 'फ्री हैंड' तो वे ऑपरेशन लोटस-पार्ट टू की कमान संभालने को तैयार हैं.

First Published : 20 Sep 2020, 07:45:42 AM

For all the Latest States News, Rajasthan News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो