News Nation Logo
Banner

साधु-संतों की हत्या होने पर उनके घर क्यों नहीं जाते राहुल-प्रियंका गांधी- मोहसिन रजा

 राजस्थान के करौली जिले में भूमि विवाद में पांच लोगों द्वारा कथित तौर पर एक पुजारी को जिंदा जला दिया, जिनकी बृहस्पतिवार को यहां एसएमएस अस्पताल में मौत हो गयी. पुलिस ने इस बारे में मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है जबकि अन्य आरोपियों की तलाश जारी है.

News Nation Bureau | Edited By : Vineeta Mandal | Updated on: 10 Oct 2020, 09:50:36 AM
rahul priyanka gandhi

rahul priyanka gandhi (Photo Credit: (फाइल फोटो))

नई दिल्ली:

महाराष्ट्र के पालघर में साधु की पीट-पीटकर हत्या करने के बाद अब राजस्थान में एक मंदिर के पुजारी को जिंदा जला दिया गया. इस घटना ने सबको दहला कर रख दिया है और अपराधियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग उठाई जा रही है.  वहीं कांग्रेस शासित राज्य में हुई इस तरह की घटना पर बीजेपी ने जमकर हमला बोला है. यूपी के मंत्री मोहसिन रजा ने कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी और राहुल गांधी को घेरते हुए उनपर कई सवाल खड़े किए हैं. 

और पढ़ें: पुजारी हत्याकांड: राजवर्धन सिंह राठौर का गहलोत और राहुल पर निशाना, कही ये बड़ी बात

मोहसिन रजा ने कहा, 'राहुल जी और प्रियंका वाड्रा जी सिर्फ हाथरस पर राजनीति करने  आ गये थे और अब कांग्रेस शासित राज्यों में लगातार हो रही साधुओं की हत्या पर खामोश क्यों हैं?. उन्होंने आगे कहा कि किसी साधु-संत की हत्या और उनके साथ हो रही लगातार क्रूर घटनाओं पर राहुल गांधी और प्रियंका वाड्रा उनके घर नहीं जाते.

यूपी के मंत्री ने आरोप लगाते हुए ये भी कहा कि वहीं किसी को खरोच भी लग जाए और पता चल जाए कि अल्पसंख्यक समुदाय से आते हैं तो उनके घर पूरी कांग्रेस पहुंच जाती है.

मोहसिन रजा ने सवाल उठाते हुए आगे कहा कि कांग्रेस को जवाब देना होगा कि आखिर कांग्रेस शासित राज्य में साधु-संतों और पुजारियों के साथ इस तरह की घटनाएं क्यों हो रही हैं ? इसके पीछे कौन लोग हैं? और क्या इन लोगों को आपका संरक्षण मिल रहा है?

उन्होंने आगे कहा कि कांग्रेस (Congress), सपा (SP), बसपा (BSP), आम आदमी पार्टी (AAP) को साधु - संतों के विरुद्ध हो रहे अत्याचार दिखाई नहीं देते इनके प्रति कोई संवेदना नहीं है और न ही इन पार्टियों की नज़रों में साधु- संतों का कोई महत्व है.

बता दें कि राजस्थान के करौली जिले में भूमि विवाद में पांच लोगों द्वारा कथित तौर पर एक पुजारी को जिंदा जला दिया, जिनकी  गुरुवार को यहां एसएमएस अस्पताल में मौत हो गयी. पुलिस ने इस बारे में मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है जबकि अन्य आरोपियों की तलाश जारी है.

ये भी पढ़ें: पुजारी को जिंदा जलाने के मामले में बोले CM अशोक गहलोत, दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा

पुलिस के अनुसार घटना करौली जिले में सापोटरा के बूकना गांव की है. वहां बुधवार को एक मंदिर के पुजारी बाबू लाल वैष्णव पर पांच लोगों ने हमला किया. आरोप है कि मंदिर के पास की खेती जमीन पर कब्जा करने की कोशिश कर रहे इन लोगों ने पुजारी पर पेट्रोल छिड़क कर आग लगा दी. घायल पुजारी को स्थानीय अस्पताल ले जाया गया जहां से उन्हें गुरुवार को जयपुर भेजा गया वहां उन्होंने दम तोड़ दिया.

करौली के पुलिस अधीक्षक मृदुल कच्छावा के अनुसार घायल पुजारी के बयानों पर भादसं की धारा 307 में मामला दर्ज किया गया था. बृहस्पतिवार को पुजारी की मौत के बाद इस मामले में भादसं की धारा 302 भी जोड़ी गयी है. प्रकरण के मुख्य आरोपी कैलाश मीणा को गिरफ्तार कर लिया गया है. बाकी आरोपियों को भी जल्द पकड़ लिया जाएगा. मृतक का शव शुक्रवार को परिजनों को सौंप दिया गया.

First Published : 10 Oct 2020, 09:43:38 AM

For all the Latest States News, Rajasthan News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो