News Nation Logo
एकनाथ शिंदे ने आगे की रणनीति पर चर्चा के लिए दोपहर 2 बजे गुवाहाटी के होटल में बैठक बुलाई भारत में पिछले 24 घंटों में कोरोना के 17,073 नए मामले सामने आए दिल्ली हाईकोर्ट के नए मुख्य न्यायाधीश सतीश चंद्र शर्मा को आज LG दिलाएंगे शपथ महाराष्ट्र: मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने बुलाई कैबिनेट बैठक, 2.30 बजे होगी मीटिंग असम : एकनाथ शिंदे गुवाहाटी स्थित कामाख्या मंदिर पहुंचे भारत में पिछले 24 घंटों में कोरोना के 14,506 नए मामले सामने आए महाराष्ट्र: कल होगा फ्लोर टेस्ट, राज्यपाल ने बुलाया विधानसभा का विशेष सत्र असम बाढ़ के लिए मुख्यमंत्री राहत कोष में 51 लाख रुपए दान करेंगे एकनाथ शिंदे बीजेपी के 164 विधायकों का दावा- देवेंद्र फडणवीस कल देर रात सीएम पद का शपथ ले सकते हैं बीजेपी के कोर ग्रुप के सदस्यों और विधायकों की बैठक देवेंद्र फडणवीस के घर शुरू

अशोक गहलोत के एक बयान ने राजस्थान में सियासी हलचल को बढ़ाया, जानें इस्तीफे पर क्या कहा?

कांग्रेस के अंदर भी गुटबाजी का दौर जारी है. अब मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के एक बयान ने राजस्थान में सियासी हलचल को बढ़ा दी है.

News Nation Bureau | Edited By : Pradeep Singh | Updated on: 23 Apr 2022, 11:04:28 PM
Ashok Gehlot

CM अशोक गहलोत, राजस्थान (Photo Credit: News Nation)

जयपुर:  

राजस्थान कांग्रेस में एक बार फिर खलबली है. पार्टी के अंदर गुटबाजी तो लंबे समय है. एक गुट मुख्यमंत्री असोक गहलोत का है तो दूसरा गुट सचिन पायलट का है. सचिन पायलट लंबे समय से मुख्यमंत्री बनने को लालायित है. लेकिन पार्टी हाईकमान से हरी झंडी न मिलने के कारण वे नेपथ्य में है. एक साल बाद राजस्थान विधानसभा चुनाव होने जा रहे हैं. ऐसे में राज्य में एक बाऱ फिर नेतृत्व परिवर्तन की चर्चा जोरों पर है.  चुनाव के मद्देनजर राजस्थान में राजनीतिक हलचल तेज हो गयी है. कांग्रेस ही नहीं बीजेपी में भी अंदरूनी कलह की खबरें जोर पकड़ ही रही हैं, कांग्रेस के अंदर भी गुटबाजी का दौर जारी है. अब मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के एक बयान ने राजस्थान में सियासी हलचल को बढ़ा दी है.

मीडिया से बात करते हुए गहलोत ने कहा है कि मेरा तो परमानेंट इस्तीफा सोनिया गांधी के पास रखा है. अब इस एक बयान ने अटकलों के बाजार को गर्म कर दिया है. इस बयान के ज्यादा मायने इसलिए भी निकाले जा रहे हैं क्योंकि हाल ही में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की सचिन पायलट से मुलाकात हो चुकी है. इस बात पर भी चर्चा शुरू हो गई कि हो सकता है कि अशोक गहलोत, प्रशांत किशोर के प्लान के तहत ग़ैर गांधी परिवार के कांग्रेस अध्यक्ष बने या चुनाव संचालन का ज़िम्मा संभालने वाले उपाध्यक्ष बन जाएं. ऐसा होने पर सचिन पायलट को राज्य का मुख्यमंत्री बनाया जा सकता है.

यह भी पढ़ें : दिल्ली में चिंता बना कोरोना, 24 घंटे में 1094 नए केस और दो की मौत

अब जानकारी के लिए बता दें कि आज सीएम अशोक गहलोत मीडिया से चर्चा कर रहे थे. चर्चा के दौरान उन्होंने इस बात का जिक्र किया कि समय-समय पर मीडिया में उनके इस्तीफे को लेकर खबरें चलती रहती हैं. इस बारे में उन्होंने बताया कि मेरा इस्तीफा तो हमेशा से सोनिया गांधी के पास रखा है. वे कोई भी फैसला लेने के लिए स्वतंत्र हैं. मैं तो यही अपील करता हूं कि इन अफवाहों को आप हवा ना दें.

वैसे राजस्थान की राजनीति में नेतृत्व परिवर्तन जोर पकड़ रखा है. पायलट गुट के नेता लगातार ऐसे दावे भी कर रहे हैं. गुरुवार को सचिन पायलट ने भी कहा था कि वास्तव में हम इसी पर चर्चा कर रहे हैं. उस चर्चा में सब कुछ शामिल है. क्या करें, क्या न करें. अंतिम फैसला पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी करेंगी. उन्होंने कहा कि हम जैसे लोग जो जमीन पर काम कर रहे हैं, यह हमारी जिम्मेदारी है कि हम उचित फीडबैक दें. इसके अलावा सचिन पालयट ने ये भी बताया था कि 2023 में राजस्थान में फिर कांग्रेस की सरकार बने, इस पर सोनिया गांधी के साथ मंथन हुआ.

लेकिन उस मुलाकात के बाद अब अशोक गहलोत ने इस्तीफे वाली अफवाह पर विराम लगाने का काम किया है. जोर देकर कहा गया है कि जब सीएम बदलना होगा तो किसी को कानों कान खबर तक नहीं होगी. यह काम रातोरात हो जाएगा. यहां पर ये भी जानना जरूर हो जाता है कि राजस्थान में प्रशासनिक असफलता की वजह से करौली और अलवर की घटना के बाद राज्य में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बदले जाने के क़यास ज़ोर पकड़ रहे थे. इन दोनों जगहों पर सरकार की प्रशासनिक लापरवाही से बीजेपी को बड़ा मुद्दा मिल गया था.

इस सब के अलावा राजस्थान की राजनीति में पिछले साल भी सियासी तूफान आया था. जब राज्य सरकार द्वारा मंत्रिमंडल विस्तार होना था, पायलट बनाम गहलोत की जंग काफी तेज हो गई थी. तब प्रियंका गांधी से लेकर राहुल गांधी तक, कई नेताओं से मुलाकात हुई और तब जाकर दोनों गहलोत और पायलट की पसंद को ध्यान में रखते हुए मंत्रिमंडल विस्तार किया गया. लेकिन अब जब चुनाव में सिर्फ एक साल का समय रह गया है, एक बार फिर दोनो गुट सक्रिय हो गए हैं और बयानबाजी का दौर भी शुरू हो गया है.

First Published : 23 Apr 2022, 10:47:27 PM

For all the Latest States News, Rajasthan News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.