logo-image
लोकसभा चुनाव

हनुमान बेनीवाल छोड़ेंगे इंडिया एलायंस का साथ! कांग्रेस ने अटकलों पर लगाया विराम

लोकसभा नतीजों के बाद कई राज्यों में सियासी घमासान मचा हुआ है. इस बीच राजस्थान से भी कई खबरें सामने आ रही है. राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के प्रमुख हनुमान बेनीवाल की नाराजगी की खबरें भी लगातार आ रही है.

Updated on: 08 Jun 2024, 06:24 PM

highlights

  • क्या हनुमान बेनीवाल छोड़ेंगे इंडिया एलायंस का साथ? 
  • कांग्रेस ने अटकलों पर लगाया विराम
  • बेनीवाल ने कहा कि आरएलपी इंडिया गठबंधन का हिस्सा

Nagaur:

लोकसभा नतीजों के बाद कई राज्यों में सियासी घमासान मचा हुआ है. इस बीच राजस्थान से भी कई खबरें सामने आ रही है. राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के प्रमुख हनुमान बेनीवाल की नाराजगी की खबरें भी लगातार आ रही है. इन सबके बीच कांग्रेस नेता केसी वेणुगोपाल ने दावा करते हुए कहा कि मेरी उनसे बात हुई है और सबकुछ ठीक है. दरअसल, 5 जून को इंडिया गठबंधन की दिल्ली में बैठक हुई थी, जिसमें हनुमान बेनीवाल को नहीं बुलाया गया था. जिससे वो नाराज चल रहे थे. आपको बता दें कि आरएलपी नेता हनुमान बेनीवाल ने राजस्थान के नागौर से चुनाव लड़ा था और इस लोकसभा सीट से बीजेपी उम्मीदवार को हराकर जीत हासिल किया. आरएलपी इंडिया गठबंधन का हिस्सा है, लेकिन उन्होंने आरोप लगाया कि उन्हें और उनकी पार्टी को नजरअंदाज किया. 

यह भी पढ़ें- राजस्थान के बीकानेर में जारी हुआ तुगलकी फरमान, राज्यपाल के प्रोग्राम में नहीं आए तो नहीं दे पाएंगे एग्जाम

क्या हनुमान बेनीवाल छोड़ेंगे इंडिया एलायंस का साथ? 

7 जून को नागौर लोकसभा सीट से नवनिर्वाचित सांसद हनुमान बेनीवाल ने कहा कि आरएलपी इंडिया गठबंधन का हिस्सा है, लेकिन एलायंस की बैठक में राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी ने मुझे नजरअंदाज किया. हालांकि उन्होंने इसके साथ यह भी साफ किया कि वो बीजेपी के साथ नहीं जा रहे हैं. हमने बीजेपी के खिलाफ लड़ाई लड़ी है और कांग्रेस को मजबूती देने के लिए काम किया है, लेकिन अगर अगली बैठक में नहीं बुलाया जाता है तो हम एनडीए में शामिल नहीं होंगे. इससे पहले भी यह कयास लगाया जा रहा था कि वो एनडीए की बैठक में शामिल हो सकते हैं.

कांग्रेस ने अटकलों पर लगाया विराम

आपको बता दें कि राजस्थान में भी बीजेपी को लोकसभा चुनाव में भारी नुकसान हुआ. वहीं, बीजेपी ने इस बार 14 सीटों पर जीत दर्ज की है, जबकि इंडिया गठबंधन ने 11 सीटों पर कब्जा किया. वहीं, कांग्रेस को 8 सीटों पर बल्कि इंडिया गठबंधन के दूसरे सहयोगियों को 3 सीटों पर जीत दर्ज की. बता दें कि 2019 लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने 25 में से 25 सीटों पर जीत हासिल की थी.