logo-image
लोकसभा चुनाव

राजस्थान के बीकानेर में जारी हुआ तुगलकी फरमान, राज्यपाल के प्रोग्राम में नहीं आए तो नहीं दे पाएंगे एग्जाम

राजस्थान के बीकानेर के डॉ तनवीर मालावत पैरामेडिकल इंस्टीच्यूट ने अपने छात्रों को लेकर एक तुगलकी फरमारी जारी कर दिया है. ना सिर्फ फरमान जारी किया है बल्कि इसे नहीं मानने पर छात्रों का भविष्य भी खराब हो सकता है.

Updated on: 07 Jun 2024, 06:50 PM

highlights

  • बीकानेर में जारी हुआ तुगलकी फरमान
  • राज्यपाल के प्रोग्राम में नहीं आए तो नहीं दे पाएंगे एग्जाम
  • प्रिंसिपल का नोटिस हुआ वायरल

Bikaner:

राजस्थान के बीकानेर के डॉ तनवीर मालावत पैरामेडिकल इंस्टीच्यूट ने अपने छात्रों को लेकर एक तुगलकी फरमारी जारी कर दिया है. ना सिर्फ फरमान जारी किया है बल्कि इसे नहीं मानने पर छात्रों का भविष्य भी खराब हो सकता है. इंस्टीच्यूट के प्रिंसिपल ने इसे लेकर आदेश भी जारी कर दिया है कि अगर राज्यपाल के कार्यक्रम में छात्र नहीं पहुंचे तो परीक्षा में उन्हें बैठने नहीं देंगे. उन्होंने यहां तक कह दिया कि इसकी पूरी जिम्मेदारी खुद छात्रों की होगी. दरअसल, प्रिंसिपल ने यह आदेश इसलिए जारी किया है ताकि राज्यपाल कलराज मिश्र के कार्यक्रम में ज्यादा से ज्यादा भीड़ जुटाने की कवायद की है. इस नोटिस की हर तरफ चर्चा हो रही है और यह सोशल मीडिया पर भी जमकर वायरल हो रहा है.

नोटिस जारी कर दिया तुगलकी फरमान-
दिनांक 05.06.2024
कार्यालय आदेश
शैक्षणिक सत्र 2022-23 व 2023-24 (डी.एल.एल.टी व डी.आर.टी.) के समस्त विद्यार्थियों को सूचित किया जाता है कि दिनांक 07.06.2024 को वेटनरी कॉलेज ऑडिटोरियम (राजूवास) में महामहिम कलराज मिश्रा (गवर्नर) दोपहर 3.15 बजे बीकानेर आ रहे हैं। सभी विद्यार्थियों को कॉलेज यूनिफॉर्म यथा एप्रिन, कॉलेज आईकार्ड व नेमप्लेट लगाकर उपस्थित होवें कोई भी विद्यार्थी इस प्रोग्राम में अनुपस्थित रहता है तो उसे परीक्षा में नहीं बैठने दिया जायेगा और न ही उसके आंतरिक अंक भेजे जायेंगे। उसकी समस्त जिम्मेदारी विद्यार्थी की स्वयं की होगी।
प्रिंसिपल डॉ तनवीर मालवेरासैमिकल इंस्टिट्यूट बीकानेर

यह भी पढ़ें- NDA Meeting Viral Video: पीएम मोदी ने चिराग को लगाया गले, तो योगी की थपथपाई पीठ

आपको बता दें कि पैरामेडिकल इंस्टीच्यूट की तरफ से शाम को रेडक्रॉस सोसायटी की तरफ से नशे के विरुद्ध अभियान के तहत संवाद कार्यक्रम का आयोजन किया गया है. जिसमें राज्यपाल कलराज मिश्र छात्रों के साथ संवाद करेंगे. इंस्टीच्यूट के प्रिंसिपल डॉ तनवीर मालावत भी रेडक्रॉस सोसायटी से जुड़े हुए हैं. वहीं, प्रधानाध्यापक का यह चेतावनी पत्र हर तरफ चर्चा का विषय बना हुआ है. अब इस तरह से तुगलकी फरमान देकर छात्रों को कार्यक्रम में बुलाना कितना सही या कितना गलत है, इसे लेकर हर तरफ चर्चा हो रही है. अब तक प्रिंसिपल की इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है.