News Nation Logo

BREAKING

राजस्थान में पहले चरण में 4.5 लाख हेल्थ वर्कर्स को लगाई जाएगी कोविशील्ड वैक्सीन

स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि प्रथम चरण वैक्सीनेशन के लिए 5,626 वैक्सीनेशन दलों को प्रशिक्षित किया गया है. प्रथम चरण में 3689 चिकित्सा संस्थानों एवं 2969 निजी क्षेत्र के चिकित्सा संस्थानो पर वैक्सीनेशन के लिए चिन्हित किया गया है.

News Nation Bureau | Edited By : Shailendra Kumar | Updated on: 10 Jan 2021, 04:49:38 PM
Corona vaccine in Rajasthan

राजस्थान वैक्सीनेशन के लिए तैयार (Photo Credit: न्यूज नेशन )

जयपुर :

चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने बताया कि प्रदेश में 16 जनवरी से प्रारंभ होने वाले कोरोना वैक्सीसनेशन के प्रथम चरण में करीब 4.5 लाख हैल्थकेयर वर्कर्स को सम्मिलित किया गया है, जिन्हें कोविशील्ड कोरोना वैक्सीन लगाई जाएगी. उन्होंने बताया कि 282 सैशन साइट पर प्रथम चरण का वैक्सीनेशन होगा. वैक्सीनेशन के लिए चिकित्सा विभाग ने सभी तैयारियां पूर्ण कर ली हैं. डॉ शर्मा ने रविवार को स्वास्थ्य भवन स्थित सभागार में आयोजित प्रेस ब्रीफिंग में वैक्सीनेशन के बारे में विस्तार से जानकारी दी. उन्होंने बताया कि कोविड वैक्सीन का भंडारण एयर कनेक्टिविटी वाले तीन जिलों जयपुर, उदयपुर व जोधपुर में किया जाएगा. यहां वैक्सीन को 2 से 8 डिग्री के मध्य रखने की व्यवस्था की गई है. 

यह भी पढ़ें : बिहार में नहीं लागू होगा NRC, क्या गिर जाएगी नीतीश सरकार?

चिकित्सा मंत्री ने बताया कि राज्य में कोविड वैक्सीन स्टोर के 3 राज्य स्तरीय और 7 संभाग स्तरीय और 34 जिला स्तरीय वैक्सीन स्टोर हैं. उन्होंने बताया कि सामुदायिक एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर 2,444 कोल्ड चैन पॉइन्ट्स कार्यशील हैं. प्रत्येक जिले में एक वैक्सीन वैन भी उपलब्ध है. उन्होंने बताया कि वैक्सीनेशन के दौरान किसी भी प्रतिकूल प्रभाव से बचाव के लिए वैक्सीनेशन केंद्रों पर 104 व 108 एंबूलेंस की सुविधा भी उपलब्ध रहेगी. 

यह भी पढ़ें : किसानों द्वारा NH 48 जाम करने के विरोध में हरियाणा और राजस्थान के 35 गांवों ने की महापंचायत

स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि प्रथम चरण वैक्सीनेशन के लिए 5,626 वैक्सीनेशन दलों को प्रशिक्षित किया गया है. प्रथम चरण में 3689 चिकित्सा संस्थानों एवं 2969 निजी क्षेत्र के चिकित्सा संस्थानो पर वैक्सीनेशन के लिए चिन्हित किया गया है. इनमें से 3736 चिकित्सा संस्थानों को सत्र स्थल के रूप में कोविन सॉफ्टवेयर अपलोड कर दिया गया है. 

चिकित्सा मंत्री ने बताया कि सभी वैक्सीनेशन सत्र स्थलों पर टीकाकरण के पश्चात होने वाले संभावित प्रतिकूल प्रभाव के ईलाज की व्यवस्था सुनिश्चित की गई है. साथ ही कोविड वैक्सीनेशन से सम्बन्धित भारत सरकार से प्राप्त प्रचार. प्रसार सामग्री के मुद्रण एवं वितरण की व्यवस्था की गई है. उन्होंने बताया कि वैक्सीनेशन की तैयारियों के लिए पूर्व में ही जन प्रतिनिधियों (विधायक, प्रधान सरपंच), चिकित्सकों, स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं, स्वास्थ्य मित्रों एवं आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका और आशा सहयागिनियों का भी जिला, ब्लॉक एवं सेक्टर स्तर पर आमुखीकरण कर दिया गया है.

यह भी पढ़ें : ADG ने हिस्ट्रीशीटर सोनू जायसवाल को बताया निर्दोष, जानें क्या कहा

चिकित्सा मंत्री ने बताया कि वैक्सीनेशन के लिए मुख्य सचिव द्वारा सभी जिला कलक्टर्स एवं अन्य जिला स्तरीय अधिकारियों के साथ तैयारियों की समीक्षा के लिए वीडियो कॉन्फ्रेन्स की जा चुकी हैं. साथ ही राज्य स्तर पर शासन सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की अध्यक्षता में स्टेट टास्क फोर्स की बैठक भी आयोजित की गई थी. प्रेस ब्रीफिंग के दौरान राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के निदेशक श्री नरेश ठकराल, निदेशक आरसीएच डॉ. लक्ष्मण सिंह ओला व विभाग के अन्य अधिकारीगण मौजूद रहे.

First Published : 10 Jan 2021, 04:40:59 PM

For all the Latest States News, Rajasthan News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.