News Nation Logo
Banner

पंजाब ने दूसरे राज्यों से आने वाले पोल्ट्री प्रोडक्ट पर लगाई 7 दिन की रोक

हरियाणा में मुर्गियों के रहस्यमय तरीके से मरने का सिलसिला 5 दिसंबर से शुरू हुआ था. बरवाला क्षेत्र के 110 मुर्गी फार्मों में से लगभग दो दर्जन फार्मों में मुर्गियों की रहस्यमय तरीके से मौत हो चुकी है.

News Nation Bureau | Edited By : Shailendra Kumar | Updated on: 08 Jan 2021, 10:36:19 PM
Bird Flu

पंजाब ने दूसरे राज्यों से आने वाले पोल्ट्री प्रोडक्ट पर लगाई 7 दिन की (Photo Credit: न्यूज नेशन )

चंडीगढ़:

पंजाब सरकार ने दूसरे राज्यों से आने वाले मीट, मुर्गों और अंडों पर अगले सात दिनों के लिए प्रतिबंध लगा दिया है. पंजाब सरकार ने यह फैसला हरियाणा की तरफ से पोल्ट्री पदार्थों और अंडों को पंजाब में डंप करने की सूचना के तहत किया है. दरअसल, हरियाणा में मुर्गियों के रहस्यमय तरीके से मरने का सिलसिला 5 दिसंबर से शुरू हुआ था. बरवाला क्षेत्र के 110 मुर्गी फार्मों में से लगभग दो दर्जन फार्मों में मुर्गियों की रहस्यमय तरीके से मौत हो चुकी है.

यह भी पढ़ें : UP अब अपराधों का प्रदेश बन गया है, यहां अपराधी बेख़ौफ़ हैं : ललन कुमार

देश के चार राज्यों-केरल, राजस्थान, मध्य प्रदेश और हिमाचल प्रदेश में 12 स्थानों पर एवियन इन्फ्लुएंजा या बर्ड फ्लू के मामले सामने आए हैं, जबकि पंचकुला में मुर्गी पालन केंद्रों में इन पक्षियों की अस्वाभाविक मौत के मामलों के चलते हरियाणा को हाई अलर्ट पर रखा गया है.

यह भी पढ़ें : किसान के साथ बैठक बेनतीजा निकलने पर राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर ये साधा निशाना

बता दें कि मध्य प्रदेश में बर्ड फ्लू की दस्तक के बाद सरकार की चिंताएं बढ़ी हुई हैं. बर्ड फलू की रोकथाम के प्रयास किए जा रहे हैं. राज्य के 52 में से 21 जिलों में कौओं और बगुलों की मौत हुई है. वहीं नौ जिलों में तो बर्ड फ्लू की पुष्टि भी हो चुकी है. प्रदेश में अब-तक नौ जिलों इंदौर, मंदसौर, आगर, नीमच, देवास, उज्जैन, खण्डवा, खरगौन और गुना में कौओं में बर्ड फ्लू वायरस की पुष्टि हो चुकी है. अब-तक 21 जिलों से 885 कौओं और नौ बगुलों की मृत्यु हुई है. विभिन्न जिलों से 293 सैम्पल राष्ट्रीय उच्च सुरक्षा रोग अनुसंधान प्रयोगशाला भोपाल को जांच के लिये भेजे गये हैं.

First Published : 08 Jan 2021, 10:32:32 PM

For all the Latest States News, Punjab News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.