News Nation Logo
Banner

VIDEO में देेखें 'फ्लाइंग सिख' को कैसे दी गई अंतिम विदाई? भावुक हो गए ये नेता

महान धावक मिल्खा सिंह ने शुक्रवार रात अंतिम सांस ली. वह 91 साल के थे और कोविड-19 के खिलाफ एक मजबूत लड़ाई के बाद विजेता के रूप में सामने आए थे.

News Nation Bureau | Edited By : Mohit Sharma | Updated on: 19 Jun 2021, 06:56:32 PM
Milkha Singh Cremation

Milkha Singh Cremation (Photo Credit: ANI)

highlights

  • महान धावक मिल्खा सिंह ने शुक्रवार रात अंतिम सांस ली
  • फ्लाइंग सिख का अंतिम संस्कार चंडीगढ़ के श्मशान घाट पर किया गया
  • महान धावक मिल्खा सिंह ने कोविड-19 के खिलाफ लड़ी मजबूत लड़ाई

चंडीगढ़ :

महान धावक मिल्खा सिंह ( former Indian sprinter Milkha Singh) ने शुक्रवार रात अंतिम सांस ली. वह 91 साल के थे और कोविड-19 के खिलाफ एक मजबूत लड़ाई के बाद विजेता के रूप में सामने आए थे. बुधवार को उनका कोरोना टेस्ट नेगेटिव आया था. फ्लाइंग सिख ( Flying Sikh ) का अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ शनिवार को चंडीगढ़ के मटका चौक स्थित श्मशान घाट पर किया गया. उनको विदाई देने वालों में केंद्रीय खेल मंत्री किरेन रिजिजू, पंजाब के राज्यपाल वीपी सिंह और हरियाणा के खेल मंत्री संदीप सिंह आदि गणमान्य लोग शामिल रहे. कई मीडिया एजेंसियों ने मिल्खा सिंह के अंतिम संस्कार का वीडियो जारी किया है. 

कोविड-19 के खिलाफ एक मजबूत लड़ाई

महान धावक मिल्खा सिंह कोविड-19 के खिलाफ एक मजबूत लड़ाई के बाद विजेता के रूप में सामने आए थे. मिल्खा सिंह का 400 मीटर का रिकॉर्ड 38 साल तक जबकि 400 मीटर एशियन रिकॉर्ड 26 साल तक कायम था. सिंह के परिवार में तीन बेटियां डॉ मोना सिंह, अलीजा ग्रोवर, सोनिया सांवल्का और बेटा जीव मिल्खा सिंह हैं. गोल्फर जीव, जो 14 बार के अंतरराष्ट्रीय विजेता हैं, भी अपने पिता की तरह पद्म श्री पुरस्कार विजेता हैं.

यह भी पढ़ें: पंजाब: राजकीय सम्मान के साथ होगी मिल्खा सिंह की विदाई, शोक में एक दिन का अवकाश

'फ्लाइंग सिख' नाम से भी माना जाता था

मिल्खा को चंडीगढ़ के PGIMER अस्पताल की गहन चिकित्सा इकाई में भर्ती कराया गया था. पूर्व एथलीट, जिसे 'फ्लाइंग सिख' नाम से भी माना जाता था, को एक सप्ताह तक मोहाली के फोर्टिस अस्पताल में इलाज के बाद ऑक्सीजन के स्तर में गिरावट के बाद 3 जून को PGIMER में भर्ती कराया गया था. बाद में उनका कोविड टेस्ट निगेटिव आया था, इसलिए उनके पार्थिव शरीर को इस समय सेक्टर 8 स्थित उनके आवास पर रखा गया है. उनके आवास पर सुरक्षा कड़ी कर दी गई है, जिसमें प्रमुख हस्तियों के वहां जाने की उम्मीद है. पांच दिन पहले मिल्खा की पत्नी, भारत की पूर्व वॉलीबॉल कप्तान, निर्मल कौर का भी मोहाली के एक निजी अस्पताल में कोरोना से निधन हो गया था. 

First Published : 19 Jun 2021, 06:52:13 PM

For all the Latest States News, Punjab News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.