News Nation Logo
Banner
Banner

हरसिमरत कौर बादल ने कहा- गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी को बर्खास्त करे सरकार

हरसिमरत कौर ने ट्वीट कर कहा कि "हम राज्य मंत्री अजय मिश्रा को बर्खास्त करने, उनके बेटे की तत्काल गिरफ्तारी और सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में सुप्रीम कोर्ट के जज से जांच कराने की मांग करते हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Pradeep Singh | Updated on: 09 Oct 2021, 08:48:42 PM
Harsimrat kaur badal

हरसिमरत कौर बादल (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • राज्य मंत्री अजय मिश्रा को बर्खास्त करने और उनके बेटे की तत्काल गिरफ्तारी की मांग
  • सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में सुप्रीम कोर्ट के जज से जांच कराने की मांग 
  • अजय मिश्रा के बेटे को बचाने का योगी सरकार पर आरोप 

नई दिल्ली:

Lakhimpur Kheri violence:पूर्व केंद्रीय मंत्री और शिरोमणि अकाली दल की नेता हरसिमरत कौर बादल ने लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में अजय मिश्रा टेनी को केंद्रीय गृह राज्य मंत्री पद से बर्खास्त करने की मांग की है. हरसिमरत कौर ने ट्वीट कर कहा कि "हम राज्य मंत्री अजय मिश्रा को बर्खास्त करने, उनके बेटे की तत्काल गिरफ्तारी और सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में सुप्रीम कोर्ट के जज से जांच कराने की मांग करते हैं. चूंकि आरोपी शक्तिशाली है, इसलिए सरकार उसे बचा रही है. गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी पर इस्तीफे का दबाव बढ़ता जा रहा है. लखीमपुर हिंसा मामले में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी का बेटा आशीष मिश्रा उर्फ मोनू नामजद आरोपी है. किसानों के ऊपर गाड़ी चढ़ा कर उनकी हत्या करने का आरोप मोनू पर ही लगा है.

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने भी आरोपी को शक्तिशाली बताते हुए अजय मिश्रा के इस्तीफे की मांग की थी. लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी के इस्तीफे की मांग तेज होती जा रही है. कांग्रेस और अकाली दल के नेता लगातार लखीमपुर खीरी की यात्रा कर मामले को गरमा रहे हैं. कांग्रेस, अकाली दल, सपा, बसपा और अन्य दलों के प्रतिनिधि बनबीरपुर हिंसा में मारे गये किसानों के परिजनों से मिल रहे हैं.  पंजाब कांग्रेस के नेता एवं पूर्व क्रिकेटर नवजोत सिंह सिद्धू लखीमपुर हिंसा में मारे गये पत्रकार के घर के सामने  उपवास पर बैठे हैं.

यह भी पढ़ें: आशीष मिश्रा से पूछताछ, निर्दोष साबित करते वीडियो दिए क्राइम ब्रांच को

कांग्रेस इस मुद्दे पर योगी आदित्यनाथ सरकार के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भी निशाना साध रही है. कांग्रेस तीनों कृषि कानूनों को रद्द करने और  पूरे मामले की जांच कर दोषियों को कड़ी सजा देने की मांग कर रही है. 

First Published : 09 Oct 2021, 08:48:42 PM

For all the Latest States News, Punjab News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.