News Nation Logo

येदियुरप्पा के इस्तीफे के बाद कौन होगा कर्नाटक का अगला मुख्यमंत्री? CM की रेस में ये 3 नाम

भाजपा नेता और राज्य के मुख्यमंत्री बी. एस. येदियुरप्पा ( BS Yeddyurappa ) ने राज्यपाल थावरचंद गहलोत को अपना इस्तीफा सौंप दिया

News Nation Bureau | Edited By : Mohit Sharma | Updated on: 26 Jul 2021, 04:08:48 PM
BS Yediyurappa

BS Yediyurappa (Photo Credit: Google)

highlights

  • बी. एस. येदियुरप्पा ने राज्यपाल थावरचंद गहलोत को अपना इस्तीफा सौंप दिया
  • कर्नाटक की इस राजनीतिक घटना के बाद अब सबकी नजरे सूबे के अगले CM पर टिकी

नई दिल्ली:

कर्नाटक (Karnataka) में सोमवार का दिन सियासी उठापटक वाला रहा. भाजपा नेता और राज्य के मुख्यमंत्री बी. एस. येदियुरप्पा ( BS Yeddyurappa ) ने राज्यपाल थावरचंद गहलोत ( Thawar Chand Gehlot ) को अपना इस्तीफा सौंप दिया. कर्नाटक की इस बड़ी राजनीतिक घटना के बाद अब सबकी नजरें सूबे के अगले मुख्यमंत्री पर टिकी हैं. अब देखने वाली बात यह है कि भाजपा किसको कर्नाटक की कमान सौंपती है.  इस बीच संसद भवन में कर्नाटक के नए मुख्यमंत्री के चेहरे को लेकर भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ( JP Nadda ) और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ( Amit Shah ) के बीच बैठक हुई. बैठक में तय हुआ कि भाजपा केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ( Dharmendra Pradhan ) को पर्यवेक्षक के तौर पर कर्नाटक भेजेगी. धर्मेंद्र और प्रदेश प्रभारी अरुण सिंह की मौजूदगी में अगले दो दिनों के भीतर राज्य के नए मुख्यमंत्री का नाम तय किया जाएगा.

ये भी पढ़ें- HBD: माहिका शर्मा को जब एडल्ट फिल्म स्टार संग दोस्ती पड़ी थी भारी

हालांकि जब तक नए सीएम का नाम सामने नहीं आता तब तक येदियुरप्पा ही कार्यवाहक मुख्यमंत्री हो ंगे. सूत्रों के अनुसार कर्नाटक के नए मुख्यमंत्री के लिए तीन नाम सामने आए थे. इनमें बसवराज बोम्मई, विश्वश्वरा हेगड़ेे कगेरी और प्रह्लाद जोशी शामिल हैं. प्रह्लाद फिलहाल केंद्रीय कोयला खनन मंत्री हैं, जबकि कगेरी बड़ा ब्राह्मण चेहरा हैं. वहीं, बोम्मई लिंगायत समुदाय से हैं और कर्नाटक सरकार में गृह मंत्री हैं. माना जा रहा है कि संघ भी येदियुररप्पा के स्थान पर किसी लिंगायत समुदाय के नेता को ही सीएम बनाना चाहता है. हालांकि भाजपा किसी गैर लिंगायत को भी सूबे की कमान सौंप सकती है.

ये भी पढ़ें- सिर पर पल्लू, हाथों में कंगन, दुल्हन बनीं नोरा फतेही, वीडियो वायरल

इसके साथ ही 500 से ज्यादा लिंगायत संतो ने येदियुरप्पा को सीएम पद से न हटाने की मांग की थी. इस बारे में मुरुगा मठ के संत श्री शिवमूर्ति शरानारू ने मीडिया में कहा था कि हम चाहते है कि येदियुरप्पा सीएम बने रहें. इससे पहले येदियुरप्पा ने ट्वीट करते हुए अपने इस्तीफा देने की घोषणा की थी और कहा था कि दो साल तक राज्य की सेवा करना उनके लिए सम्मान की बात है. कन्नड़ में किए गए एक ट्वीट में, येदियुरप्पा ने कहा कि उन्होंने राज्यपाल को अपना इस्तीफा सौंप दिया है और उन्हें अपने उत्तराधिकारी की घोषणा होने तक अंतरिम मुख्यमंत्री के रूप में बने रहने के लिए कहा गया है.

First Published : 26 Jul 2021, 03:55:27 PM

For all the Latest States News, Other State News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.