logo-image
लोकसभा चुनाव

ओडिशा के बालासोर में सांप्रदायिक हिंसा, इलाके में लगाया गया कर्फ्यू, जानें क्या है पूरा मामला?

Balasore Communal violence: ओडिशा के बालासोर में सोमवार को सांप्रदायिक तनाव फैल गया. इसके बाद शहर में कर्फ्यू लगा दिया गया है. बताया जा रहा है कि बकरीद के मौके पर कुछ लोगों ने नाली में लाल पानी देखकर हंगामा कर दिया.

Updated on: 18 Jun 2024, 01:08 PM

New Delhi:

Balasore Communal violence: ओडिशा का बालासोर में सोमवार को बकरीद के मौके पर बवाल हो गया. हालात तनावपूर्ण होता देख इलाके में कर्फ्यू लगा दिया गया. पुलिस के मुताबिक, अल्पसंख्यक समुदाय के धार्मिक उत्सव के दौरान गोहत्या के आरोप में दो समुदायों के बीच झड़प हो गई. इसके बाद मंगलवार सुबह ओडिशा के तटीय शहर बालासोर में कर्फ्यू लगा दिया गया.  इसके साथ ही शहर में इंटरनेट सेवाएं भी निलंबित कर दी गई हैं. जानकारी के मुताबिक, सोमवार दोपहर शहर के सांप्रदायिक रूप से संवेदनशील इलाके पतरापाड़ा में दोनों समुदायों के सदस्य एक-दूसरे से भिड़ गए.

नाली में लाल पानी देखकर हुआ हंगामा

दरअसल, बकरीद के मौके पर कुछ स्थानीय लोगों ने नालियों में लाल रंग का पानी देखा. उसके बाद उन्हें संदेह हुआ कि यह जानवरों का खून है. एक विशेष समुदाय द्वारा गोहत्या के संदेह के बाद दूसरे समुदाय ने इसका विरोध करना शुरू कर दिया. कुछ ही देर में विवाद इतना बढ़ गया कि पथराव हो गया. जिसमें पांच पुलिसकर्मियों समेत कम से कम 15 लोग घायल हो गए. इसके बाद जिला प्रशासन ने इलाके में सीआरपीसी की धारा 144 लागू कर दी है.

ये भी पढ़ें: पश्चिम बंगाल: कंचनजंगा एक्सप्रेस ट्रेन हादसे के बाद आज भी कई ट्रेनें रद्द, यहां देखें पूरी लिस्ट

रात तक बिगड़ गई स्थिति

हालांकि, सोमवार देर रात स्थिति तब बिगड़ गई जब देर रात शहर के गोलापोखरी, मोतीगंज, सिनेमा चक इलाकों में एक समुदाय के सदस्यों ने दूसरे समुदाय के घरों पर पत्थरों, लाठियों और कांच की बोतलों से हमला कर दिया और वाहनों में आग लगा दी. उपद्रवियों ने गांवों में घुसकर लोगों के घरों पर पथराव करना शुरू कर दिया और कई घरों को आग के हवाले कर दिया. हिंसा पर काबू पाने के लिए पुलिस को ब्लैंक फायरिंग करनी पड़ी.

क्या बोले बालासोर के एसपी नाथ

बालासोर एसपी सागरिका नाथ ने इस मामले में कहा कि, "हमने आगे किसी भी झड़प को रोकने के लिए बालासोर नगर पालिका क्षेत्रों में कर्फ्यू लगा दिया है और कुछ सांप्रदायिक रूप से संवेदनशील क्षेत्रों में इंटरनेट बंद कर दिया है. हम लोगों से अपील कर रहे हैं कि वे अपने घरों से बाहर न निकलें. झड़पों के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी."

ये भी पढ़ें: सुप्रीम कोर्ट ने नीट पेपर लीक मामले में जारी किया नोटिस, NTA और केंद्र से मांगा जवाब

सीएम ने की जिलाधिकारी से बात

वहीं ओडिशा के मुख्यमंत्री मोहन माझी ने जिला कलेक्टर से बात की और निर्देश दिया कि स्थिति को नियंत्रण में रखने के लिए सभी उपाय किये जाएं. उन्होंने कहा कि शांति व्यवस्था कतई भंग नहीं होने दी जाएगी. बालासोर के सांसद प्रताप सारंगी और सदर विधायक मानस कुमार दत्त ने दोनों समुदाय के लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की.