News Nation Logo

महाराष्ट्र में बारिश का कहर: PM-CM ने जताया दुख, जानें दिनभर का अपडेट

कोरोना महामारी से अभी जंग खत्म नहीं हुई कि महाराष्ट्र पर कुदरत ने बारिश का कहर ढा दिया. जिससे अब तक कुल 56 मौतें हो चुकी हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Rajneesh Pandey | Updated on: 23 Jul 2021, 07:48:46 PM
MAHARASHTRA RAIN CRISIS

MAHARASHTRA RAIN CRISIS (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • मुंबई और आसपास के जिलों में लगातार जारी बारिश
  • बारिश की वजह से महाराष्ट्र में बाढ़ का कहर
  • मुंबई से चलने वाली कई ट्रेनें निरस्त

नई दिल्ली:

कोरोना महामारी से अभी जंग खत्म नहीं हुई कि महाराष्ट्र पर कुदरत ने बारिश का कहर ढा दिया. जिससे अब तक कुल 56 मौतें हो चुकी हैं. शुक्रवार को महाराष्ट्र में क्या आवासीय इलाके, क्या सड़कें, क्या गांव, क्या शहर, सब कुछ बारिश में बहता और डूबता हुआ दिखाई दिया. इस भीषण बाढ़ की वजह से रायगढ़, रत्नागिरी और कोल्हापुर जिलों में कई नदियां खतरे के निशान से ऊपर बहने लगी. पुणे मंडल में संभावित बाढ़ की स्थिति को देखते हुए सतारा, सांगली और कोल्हापुर जिलों में भी एनडीआरएफ की इकाइयों को तैनात किया गया है. नदियों के खतरे के निशान के ऊपर बहने की वजह से लोग बुरी तरह फंस गए हैं.

यह भी पढ़ें : भारी बारिश के चलते महाराष्ट्र में आया सैलाब, पूरा चिपलून शहर हुआ जलमग्न

मुंबई से सटे रायगढ़ जिले के महाड में कुल तीन जगहों पर भूस्खलन हुआ है. तीनों जगहों पर भूस्खलन होने से कई घर दब गए हैं, जिसमें 36 लोगों की मौत हुई है. यहां के तलई में 32 लोगों की मौत हुई है और साखर सुतार वाड़ी में चार लोगों की मौत हुई है. दोनों जगहों पर करीब 15 लोगों को बचाया गया है. वहीं 30-35 लोगों की अभी भी तलाश जारी है. महाड में सावित्री नदी खतरे के निशान से ऊपर बहकर सब कुछ डुबा रही है. महाड और खेड में NDRF और कोस्टगार्ड की मदद ली जा रही थी. अब बचाव के लिए नौसेना की टीम भी मदद कर रही है. महाड से थोड़ा पहले दासगांव, टोल नाके के पास नौसेना की टीम अपने साथ लाए बोट पानी में उतारकर मदद कर रही है. इसके आगे सड़क पर भी पानी भरा है.वहीं मुंबई से चलने वाली कई ट्रेनों को भी निरस्त कर दिया गया है. 

रेलवे सुविधा भी हुई प्रभावित

कोंकण रेलवे मार्ग पर ट्रेन सेवाएं प्रभावित हो गई और करीब छह हजार यात्री फंस गए है. भारी बारिश की वजह से मुंबई सहित राज्य के कई अन्य हिस्सों में रेल और सड़क यातायात प्रभावित हुआ है. कोल्हापुर जिले में भारी बारिश के चलते सड़कों के जलमग्न हो जाने पर करीब 47 गांवों का संपर्क टूट गया है और 965 परिवारों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाना पड़ा. बारिश की वजह से हालात इतने खराब हो गए हैं कि एक महिला सहित दो लोग पानी में बह गए. कोंकण रेलवे मार्ग प्रभावित होने की वजह से अब तक नौ रेलगाड़ियों का मार्ग परिवर्तन किया गया है या रद्द किया गया है या उनके मार्ग को छोटा किया गया है. बारिश की वजह से कुल 33 ट्रेनों को दूसरे रूट के लिए डाइवर्ट कर दिया गया है. वहीं 51 ट्रेनों को आधे रास्ते में रोक दिया गया, 48 ट्रेनों को पूर्णत: रद्द कर दिया गया है.

खतरे के निशान के ऊपर बह रही नदियां

भारी बारिश की वजह से कोंकण क्षेत्र की प्रमुख नदियां रत्नागिरि और रायगढ़ जिले में नदियां खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं और प्रशासन प्रभावित लोगों को सुरक्षित स्थानों पर ले जाने में जुटा है. मुख्यमंत्री कार्यालय के मुताबिक मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने लगातार हो रही बारिश से इन दो तटीय जिलों में उत्पन्न स्थिति की समीक्षा की है. वहीं भारत मौसम विभाग (आईएमडी) ने तटीय क्षेत्रों के लिए अगले तीन दिन तक भारी बारिश की चेतावनी जारी की है. मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को सतर्क रहने और नदियों के जलस्तर पर नजर रखने एवं लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने का निर्देश दिया है. गुरुवार की रात सेना और नौसेना को बाढ़ में फंसे लोगों को बचाने के लिए तैनात कर दिया गया है. इस प्रचंड स्थिति को देखते हुए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने यह फैसला लिया है.

वहीं रत्नागिरी में जमा बाढ़ का पानी कुछ कम हुआ है. चिपलूण में अभी भी पानी भरा है. वहां अभी भी हजारों लोग फंसे हुए हैं. लोग सोशल मीडिया के जरिये अपने परिजनों को बाढ़ से सुरक्षित निकालने की गुहार लगा रहे हैं. इगतपुरी के कसारा घाट पर चट्टान खिसकने और तेज बारिश से मध्य रेलवे की पटरी तक बह गई, मुंबई से सटे कल्याण और भिवंडी को भी बारिश के पानी ने अपनी आगोश में ले लिया. सांगली में कृष्णा नदी में पानी तेजी से भर रहा है. 

पीएम मोदी ने ट्वीट कर जताया शोक और दी आर्थिक मदद

पीएम मोदी ने ट्वीट कर पीड़ितों के लिए शोक जताया है और रायगढ़ में हुए भूस्खलन में मृतकों व घायलों के लिए आर्थिक मदद की बात कही है. मोदी ने रायगढ़ भूस्खलन में मृतकों के परिजनों को 2 लाख व घायलों के लिए 50 हजार की आर्थिक मदद देने की बात कही है.

गृहमंत्री अमित शाह ने भी जाहिर किया शोक

गृहमंत्री अमित शाह ने भी ट्वीट कर महाराष्ट्र के पीड़ितों के प्रति शोक जाहिर किया है. उन्होंने उद्धव ठाकरे से इस बारे में बात की है और मदद के लिए संभव हर सुविधा उपलब्ध कराने की बात भी कही है.

राहत कार्यों में जुटे उद्धव ठाकरे, 5 लाख की आर्थिक मदद का ऐलान

उद्धव ठाकरे महाराष्ट्र में राहत बचाव कार्यों में लगे हुए हैं. ट्वीटर पर उन्होंने कुछ तस्वीरें भी साझा की. साथ ही ठाकरे ने पीड़ितों को 5 लाख की आर्थिक मदद की बात कही है और पीड़ितों के प्रति शोक भी जताया है.

First Published : 23 Jul 2021, 07:45:08 PM

For all the Latest States News, Maharashtra News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.