News Nation Logo

मनसुख हिरेन की पत्नी का बयान दर्ज करने उनके आवास पहुंची एनआईए

एटीएस अधिकारियों की एक टीम ने महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख से भी मुलाकात की और उन्हें मामले की जांच की वर्तमान स्थिति के बारे में जानकारी दी.

IANS | Updated on: 22 Mar 2021, 04:45:45 PM
मनसुख हिरेन की पत्नी का बयान दर्ज करने उनके आवास पहुंची एनआईए

मनसुख हिरेन की पत्नी का बयान दर्ज करने उनके आवास पहुंची एनआईए (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • मनसुख हिरेन मामले में उनकी पत्नी का बयान दर्ज करने पहुंची NIA
  • इससे पहले महाराष्ट्र एटीएस के हाथ में थी हिरेन के मौत की जांच

मुंबई:

व्यवसायी मनसुख हिरेन की मौत की जांच के लिए मामला दर्ज करने वाली राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने उनकी पत्नी और अन्य लोगों के बयान दर्ज करने के लिए उनके आवास का दौरा किया. मामले की जांच से जुड़े एनआईए के एक वरिष्ठ अधिकारी ने आईएएनएस को बताया, "एजेंसी की एक टीम हिरेन की पत्नी का बयान दर्ज करने के लिए उसके आवास पर गई है." अधिकारी ने कहा कि एनआईए हिरेन के रिश्तेदारों के बयान भी दर्ज करेगी और मामले में और सबूत जुटाने की भी कोशिश करेगी. केंद्रीय गृह मंत्रालय ने हिरेन की मौत की जांच के लिए एनआईए को एक अधिसूचना जारी की थी, जिनका शव 5 मार्च को ठाणे क्रीक क्षेत्र में मिला था.

ये भी पढ़ें- खेल-खेल में 5 बच्चों की हुई दर्दनाक मौत, मारे गए बच्चों में 4 भाई-बहन

इससे पहले, महाराष्ट्र एटीएस हिरेन के मौत की जांच का जिम्मा संभाल रही थी. इससे जुड़े मामले में एटीएस अधिकारियों की एक टीम ने महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख से भी मुलाकात की और उन्हें मामले की जांच की वर्तमान स्थिति के बारे में जानकारी दी. रविवार को, एक बड़ी सफलता का दावा करते हुए, एटीएस ने एक बर्खास्त और दोषी पुलिसकर्मी विनायक बी. शिंदे, 51, और एक क्रिकेट बुकी नरेश आर गोर, 31, को हिरेन की मौत के मामले में गिरफ्तार किया.

ये भी पढ़ें- जेपी नड्डा का कांग्रेस पर हमला, कहा- जनता जानती है कौन फोटो खिंचाने आता है कौन सेवा

20 जिलेटिन स्टिक के साथ हिरेन की एसयूवी 25 फरवरी को उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर के पास लाई गई थी. एक अधिकारी ने कहा कि एटीएस की टीम गिरफ्तार जोड़ी को ठाणे क्रीक क्षेत्र में ले गई है, जहां हिरेन का शव मिला था. नवंबर 2006 में रामनारायण गुप्ता उर्फ लखन भैया के वर्सोवा फर्जी मुठभेड़ मामले में दोषी ठहराए जाने के बाद शिंदे को सेवा से बर्खास्त कर दिया गया था. माना जाता है कि वह जेल में बंद माफिया डॉन, राजेंद्र एस.निखालजे उर्फ छोटा राजन का करीबी सहयोगी था. अधिकारियों ने कहा कि वर्तमान में छह से अधिक लोग हिरेन की रहस्यमय मौत में उनकी भूमिका के लिए एटीएस की जांच के दायरे में हैं.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 22 Mar 2021, 04:45:27 PM

For all the Latest States News, Maharashtra News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.