logo-image
लोकसभा चुनाव

NEET Paper Leak Update: बिहार के बाद महाराष्ट्र से जुड़ा तार, दो शिक्षकों को किया गया गिरफ्तार

NEET Paper Leak: नीट पेपर लीक मामले में बिहार और गुजरात के बाद महाराष्ट्र कनेक्शन सामने आया है. मामले में पुलिस ने दो शिक्षकों को लातूर से गिरफ्तार किया है. दोनों ही शिक्षक लातूर में अपना निजी कोचिंग सेंटर चलाते हैं.

Updated on: 23 Jun 2024, 12:31 PM

highlights

  • महाराष्ट्र से जुड़ा नीट पेपर लीक का कनेक्शन
  • लातूर से दो शिक्षकों को किया गया गिरफ्तार
  • शिक्षकों से पुलिस कर रही है पूछताछ

Latur:

NEET Paper Leak: नीट पेपर लीक मामले में हर रोज नए-नए खुलासे किए जा रहे हैं. मामले में ना सिर्फ अभ्यर्थी और अभिभावक में आक्रोश देखा जा रहा है बल्कि इसे लेकर सियासत भी तेज हो चुकी है. विपक्ष लगातार केंद्र सरकार पर पेपर लीक को लेकर सवाल उठा रहे हैं. इस बीच पेपर लीक का मास्टरमाइंट बिहार से गिरफ्तार किया जा चुका है. वहीं, बिहार के अलावा राजस्थान और गुजरात से भी कनेक्शन सामने आ चुका है. बिहार और राजस्थान के बाद अब पेपर लीक में महाराष्ट्र कनेक्शन भी सामने आया है. पेपर लीक मामले में नांदेड़ एटीएस ने महाराष्ट्र के लातूर से दोनों शिक्षकों को गिरफ्तार किया है. 

यह भी पढ़ें- NEET-PG परीक्षा स्थ​गित, 23 जून को होनी थी परीक्षा, जल्द जारी होगी नई तारीख

महाराष्ट्र से जुड़ा नीट पेपर लीक का कनेक्शन

आपको बता दें कि शिक्षा मंत्रालय ने नीट परीक्षा पेपर लीक की जांच की जिम्मेदारी सीबीआई को सौंपी है. इसके तहत कार्रवाई तेजी से की जा रही है. महाराष्ट्र से हिरासत में लिए गए एक शिक्षक लातूर और दूसरा शिक्षक सोलापूर में कार्यरत है. दोनों ही शिक्षक जिला परिषद स्कूल में कार्यरत हैं. स्कूल के साथ ही लातूर में दोनों शिक्षक अपना निजीट कोचिंग सेंटर भी चला रहे हैं. शिक्षकों का नाम संजय जाधव और जलील पठान बताया जा रहा है. जेईई IIT और नीट परीक्षा की तैयारी के लिए लातूर में भी छात्र देशभर से आते हैं. यहां पर कई कोचिंग क्लासेस हैं. इसी शक के आधार पर जांच एजेंसियां लातूर तक पहुंची हैं. एटीएस ने शक के आधार पर दोनों शिक्षकों को हिरासत में लिया है और उनसे पूछताछ की जा रही है. 

लातूर से दो शिक्षकों को किया गया गिरफ्तार

आपको बता दें कि 5 मई को नीट परीक्षा के बाद ही बिहार पुलिस ने पेपर लीक के मास्टरमाइंड सिकंदर यादवेंदु समेत 13 लोगों को हिरासत में ले लिया था. उसके बाद से लगातार जांच जारी है. बिहार EOU ने केंद्र सरकार को अपनी रिपोर्ट भी सौंप दी है. वहीं, शिक्षा मंत्रालय ने भी कई अहम फैसले लेते हुए जांच की जिम्मेदारी सीबीआई को सौंपी है. साथ ही NTA के महानिदेशक सुधीर कुमार को हटाते हुए प्रदीप सिंह खरोला को NTA का प्रमुख बनाया गया है.