News Nation Logo
Banner

महाराष्ट्र में 7 किलो यूरेनियम जब्त, बड़ी साजिश की आशंका

दोनों ही आरोपी बीते कुछ दिनों से यूरेनियम को बेचने के लिए ग्राहकों की तलाश में थे. जब्त किए गए यूरेनियम की बाजार में कीमत तकरीबन 21 करोड़ रुपये बताई जा रही है.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 06 May 2021, 02:18:16 PM
ATS

यूरेनियम से खतरनाक विस्फोटक बनाए जाते हैं. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

जिस पर एटीएस नागपाड़ा ने गुरुवार को मामला दर्ज किया.

महाराष्ट्र में 21 करोड़ कीमत का 7 किलो यूरेनियम जब्त

दो गिरफ्तार शख्स इसे बेचने की फिराक में थे
यूरेनियम का इस्तेमाल परमाणू हथियारों में होता है

मुंबई:

कोरोना संक्रमण (Corona Epidemic) के गंभीर संकट से जूझ रहे महाराष्ट्र में अपराध के मामले कम नहीं हो रहे हैं. अब तो एक ऐसा मामला सामने आया है, जिसने जानकारों तक को दहला दिया है. महाराष्ट्र एटीएस (ATS) ने बड़ी कार्रवाई करते हुए गुरुवार को दो लोगों को 7 किलोग्राम यूरेनियम (Uranium) के साथ गिरफ्तार किया है. बताते हैं कि दोनों ही आरोपी बीते कुछ दिनों से यूरेनियम को बेचने के लिए ग्राहकों की तलाश में थे. जब्त किए गए यूरेनियम की बाजार में कीमत तकरीबन 21 करोड़ रुपये बताई जा रही है. गौरतलब है कि यूरेनियम का इस्तेमाल परमाणु हथियार बनाने में किया जाता है. हालांकि यह प्रक्रिया आसान नहीं होती है. फिर भी यूरेनियम की बरामदगी ने खुफिया के भी कान खड़े कर दिए हैं. 

एक किलो की कीमत 3 करोड़
बताते हैं कि मुंबई स्थित भाभा एटॉमिक रिसर्च सेंटर के अधिकारियों ने इस यूरेनियम को वेरीफाई किया है. इसके बाद शिकायत दर्ज करवाई गई है. एटीएस अधिकारियों की माने तो अगर यह यूरेनियम गलत हाथों में लग जाए तो इसका इस्तेमाल विस्फोटक बनाने में किया जा सकता है. आरोपियों ने किसी प्राइवेट लैब में भी इस यूरेनियम की जांच करवाई थी और लैब वालों ने यूरेनियम की प्योरिटी बताने में आरोपियों की मदद की थी. महाराष्ट्र एटीएस प्राइवेट लैब की छानबीन करने में जुटी हुई है जहां से इस यूरेनियम की प्योरिटी टेस्ट करवाई गई थी. आपको बता दें कि यूरेनियम का इस्तेमाल करें संवेदनशील चीजों को बनाने में किया जाता है 1 किलो यूरेनियम की कीमत 3 करोड़ रुपये के आसपास बताई जा रही है.

यह भी पढ़ेंः वैक्‍सीन असंतुलन दूर नहीं हुआ तो 2024 तक खत्‍म नहीं होगा कोरोना

14 फरवरी को मिला था इनपुट
एटीएस ने एक प्रेस विज्ञप्ति के जरिए जानकारी दी कि इसी साल 14 फरवरी को पुलिस इंस्पेक्टर भालेकर को विश्वसनीय स्रोत से एक जानकारी मिली कि जिगर पांड्या नाम का शख्स अवैध रूप से यूरेनियम पदार्थ के टुकड़े बेचने जा रहा था. इसके बाद भालेकर और नागपाड़ा यूनिट के अधिकारियों ने ठाणे निवासी पांड्या को गिरफ्तार कर लिया. पूछताछ करने पर पता चला कि यूरेनियम के ये टुकड़े उसे अबु ताहिर नाम के व्यक्ति ने दिए थे. इसके बाद नागपाड़ा यूनिट के अधिकारी और कर्मचारी मुंबई स्थित मानखुर्द से अबू ताहिर को भी पकड़ा. सीज किए गए पदार्थ की जांच के लिए उसे बार्क भेजा गया था. जहां से रिपोर्ट आई कि बरामद की गई वस्तु प्राकृतिक यूरेनियम है.

First Published : 06 May 2021, 02:12:50 PM

For all the Latest States News, Maharashtra News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.