News Nation Logo
ओमिक्रॉन पर स्वास्थ्य मंत्रालय ने दी जानकारी 66 और 46 साल के दो मरीज आइसोलेशन में रखे गए भारत में ओमीक्रॉन वायरस की पुष्टि कर्नाटक में मिले ओमीक्रॉन के 2 मरीज सीएम योगी आदित्यनाथ ने प. यूपी को गुंडे-माफियाओं से मुक्त कराकर उसका सम्मान लौटाया है: अमित शाह जहां जातिवाद, वंशवाद और परिवारवाद हावी होगा, वहां विकास के लिए जगह नहीं होगी: योगी आदित्यनाथ पीएम नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में देश में चक्रवात से संबंधित स्थिति पर हुई समीक्षा बैठक प्रभावित देशों से आने वाले यात्रियों का एयरपोर्ट पर RT-PCR टेस्ट किया जा रहा है: सत्येंद्र जैन दिल्ली में पिछले कुछ महीनों से कोविड मामले और पॉजिटिविटी रेट काफी कम है: सत्येंद्र जैन आंदोलनकारी किसानों की मौत और बढ़ती महंगाई के मुद्दे पर विपक्षी सांसदों ने राज्यसभा में नारेबाजी की दिल्ली में आज भी प्रदूषण का स्तर काफी खराब, AQI 342 पर पहुंचा बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने बैठकर गाया राष्ट्रगान, मुंबई BJP के एक नेता ने दर्ज कराई FIR यूपी सरकार ने भी ओमीक्रॉन को लेकर कसी कमर, बस स्टेशन- रेलवे स्टेशन पर होगी RT-PCR जांच

शिवराज सिंह चौहान ने कहा- भोपाल और इंदौर में लागू होगी पुलिस कमिश्नरेट प्रणाली 

भोपाल और इंदौर में जनसंख्या की बढोतरी और भौगोलिक विस्तार के साथ तकनीक के कारण कानून व्यवस्था की नई चुनौतियां पैदा हुई हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Pradeep Singh | Updated on: 21 Nov 2021, 01:19:38 PM
CM SHIVRAJ SINGH CHOUHAN

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Photo Credit: TWITTER HANDLE)

नई दिल्ली:

उत्तर प्रदेश की तर्ज पर मध्य प्रदेश सरकार भी राज्य के बड़े शहरों में पुलिस कमिश्नर प्रणाली लागू करेगी. पहले राज्य की राजधानी भोपाल और इंदौर में यह प्रणाली लागू होगी. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रविवार सुबह यह घोषणा की. मुख्यमंत्री ने बताया कि दोनों शहरों की बढ़ती जनसंख्या और भौगोलिक विस्तार को ध्यान में रखते हुए यह फैसला किया गया है. शिवराज ने कहा कि प्रदेश में कानून व्यवस्था की स्थिति अच्छी है. भोपाल और इंदौर में जनसंख्या की बढोतरी और भौगोलिक विस्तार के साथ तकनीक के कारण कानून व्यवस्था की नई चुनौतियां पैदा हुई हैं. इनसे निबटने के लिए यह निर्णय लिया गया है. इससे कानून-व्यवस्था को और बेहतर बनाना संभव होगा.

इधर, सीएम की घोषणा के साथ ही कांग्रेस ने इस पर तंज कसा है. पार्टी प्रवक्ता नरेंद्र सिंह सलूजा ने कहा है कि इंदौर-भोपाल में पुलिस कमिश्नर प्रणाली की घोषणा कोई नई नहीं है. यह घोषणा भी शिवराज की 22 हज़ार कभी नहीं पूरी हुई घोषणाओं में से एक है. 10 वर्ष पहले भी शिवराज ने राज्यपाल के अभिभाषण पर चर्चा के जवाब में यह घोषणा की थी.

यह भी पढ़ें: कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कांग्रेस के खिलाफ खोला मोर्चा, किया यह ऐलान

सलूजा ने लिखा कि इसे लागू नहीं किया जा सका तो दिसंबर, 2009 में एसएसपी सिस्टम भी लागू किया था. यह फेल रहा तो 18 दिसंबर 2012 को डीआईजी सिस्टम लागू कर दिया गया. सलूजा ने यह भी कहा है कि इस घोषणा के जरिए सरकार का मकसद केवल आईएएस और आईपीएस लॉबी को आमने- सामने करना है.

 

First Published : 21 Nov 2021, 01:17:32 PM

For all the Latest States News, Madhya Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो