News Nation Logo

अस्पताल के मुर्दाघर में चल रही थी पार्टी, रंगरेलियां मनाते पकड़े गए कर्मी

एमवाय अस्पताल के मुर्दाघर में लड़कियों के साथ रंगरेलियां मनाने की तस्वीरें वायरल होने के बाद प्रशासन ने दो कर्मचारियों की सेवाएं समाप्त कर दी है.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 19 Mar 2021, 02:04:58 PM
MP Mortuary

मरीज के परिजनों किया वीडियो वायरल. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • इंदौर के एमवाय अस्पताल के मुर्दाघर का मामला
  • कर्मचारी लड़कियां ला मना रहे थे रंगरेलियां
  • पहले भी लापरवाही के कई मामले आए सामने

इंदौर:

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के सरकारी अस्पतालों में सबसे बड़े इंदौर (Indore) के एमवाय अस्पताल के मुर्दाघर में लड़कियों के साथ रंगरेलियां मनाने की तस्वीरें वायरल होने के बाद प्रशासन ने दो कर्मचारियों की सेवाएं समाप्त कर दी है, एक को निलंबित किया गया है और चिकित्सक को कारण बताओ नेाटिस जारी किया गया है. एमवाय अस्पताल की मर्चुरी की तस्वीरें एक समाचार पत्र में प्रकाशित हेाने के साथ सोशल मीडिया पर वायरल हुई थी, जिसमें कुछ कर्मचारी युवतियों के साथ नजर आ रहे थे. इस मामले में संभागायुक्त डॉ. पवन कुमार शर्मा ने कार्रवाई की है.

रंगरेलियां मना रहे थे मुर्दाघर के कर्मचारी
दरअसल, एक मरीज के परिजनों ने सोशल मीडिया पर कुछ तस्वीरे वायरल की है, जिसमें साफ दिख रहा है कि मॉर्चुरी में तैनात कर्मचारी लड़कियों के साथ हैं. ये लोग एक शव को लेकर मॉर्चुरी पहुंचे थे. इन लोगों ने कर्मचारियों को टोका कि लड़कियां कौन हैं तो उन्होने टका सा जवाब दे दिया आप अपना काम करो और यहां से जाओ. बता दें कि मॉर्चुरी की देखरेख का ठेका एक निजी कंपनी के पास है. सूत्रों के मुताबिक इसी कंपनी के कर्मचारी पिछले कुछ दिनों से रात में यहां लड़कियो को लाते हैं और रंगरलियां मनाते हैं.

यह भी पढ़ेंः  'फटी जींस' पर अब इस मंत्री ने कहा- महिलाओं को रहना चाहिए मर्यादा में

लापरवाही का केंद्र बन गया है अस्पताल
इससे पहले पिछले दिनों यहां एक बुजुर्ग का शव करीब 158 दिन पड़े रहने के बाद हंगामा हुआ था और उसके बाद यहां की देखरेख की जिम्मेदारी प्राइवेट कंपनी को सौंप दी गई, लेकिन प्राइवेट कंपनी के कर्मचारियों ने मॉर्चरी को ही अय्याशी का अड्डा बना दिया. जानकारी के मुताबिक इन तस्वीरों के सामने आने के बाद अस्पताल प्रबंधन ने इसमें दिख रहे दोनों व्यक्तियों को काम से हटा दिया है और ठेकेदार को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है, लेकिन सवाल ये है कि क्या दो लोगो को हटाने से सारी जिम्मेदारी खत्म हो जाती है. आखिर एमवाय में होने वाली गड़बड़ियों को लेकर प्रबंधन कब कोई ठोस कदम उठागा?

यह भी पढ़ेंः MP-MLA कोर्ट ने पूर्व सांसद अन्नू टंडन को सुनाई 2 साल की सजा, जानें वजह

कर्मचारियों-अधिकारियों पर गिरी गाज
इस मामले के सामने आने के बाद एमजीएम मेडिकल कॉलेज इंदौर की कार्यकारी समिति के अध्यक्ष एवं संभागायुक्त डॉ. पवन कुमार शर्मा ने एमवाय अस्पताल के मुर्दाघर में अनुबंध पर कार्यरत एचएलएल हाइट्स (जो कि भारत सरकार के स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के अधीन उपक्रम है) के दो कर्मचारियों की सेवाएं तत्काल प्रभाव से समाप्त कर दी. इसके अलावा एचएलएल हाइट्स को उचित आर्थिक दंड भी देना आदेशित किया है. डीन मेडिकल कॉलेज डॉ. संजय दीक्षित ने बताया कि मुर्दाघर में कार्यरत कर्मचारी वार्ड बॉय मुकेश अंजाना को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है तथा मुर्दाघर विभाग के प्रभारी अधिकारी डॉ. बजरंग सिंह को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है.

First Published : 19 Mar 2021, 02:00:19 PM

For all the Latest States News, Madhya Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो