News Nation Logo

ग्वालियर-चंबल में 76 हजार कांग्रेस कार्यकर्ताओं के BJP में शामिल होने का दावा

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के ग्वालियर-चंबल क्षेत्र में बीजेपी (BJP) द्वारा चलाए गए तीन दिन के सदस्यता अभियान में 76 हजार से अधिक कांग्रेस कार्यकर्ताओं के पार्टी में शामिल होने का दावा किया है.

IANS | Updated on: 25 Aug 2020, 09:31:57 AM
bjp

BJP (Photo Credit: (सांकेतिक चित्र))

भोपाल:

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के ग्वालियर-चंबल क्षेत्र में बीजेपी (BJP) द्वारा चलाए गए तीन दिन के सदस्यता अभियान में 76 हजार से अधिक कांग्रेस कार्यकर्ताओं के पार्टी में शामिल होने का दावा किया है. साथ ही आगामी समय में होने वाले विधानसभा के उप-चुनाव में बड़ी जीत दर्ज करने के लिए कार्यकर्ताओं से एक-जुट रहने का आह्वान किया गया है.

बीजेपी के प्रदेशाध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा ने बताया, "ग्वालियर-चंबल क्षेत्र के ग्वालियर, गुना, भिंड व मुरैना संसदीय क्षेत्रों के 76 हजार 361 कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने बीजेपी की सदस्यता ली है. बीजेपी में शामिल होने वाले कांग्रेस कार्यकर्ताओं का बीजेपी परिवार में स्वागत है. हम सभी एकाकार होकर मध्य प्रदेश को नई उंचाई तक ले जाएंगे, यह मेरा अटल विश्वास है."

और पढ़ें: Bypolls: एमपी की सियासत के 'केंद्र' में फिर ज्योतिरादित्य सिंधिया

बीजेपी ने राज्यसभा सदस्य ज्येातिरादित्य सिंधिया के बीजेपी में शामिल होने के बाद पहली बार अंचल के दौरे पर आए . इस मौके पर बीजेपी ने तीन दिवसीय सदस्यता अभियान चलाया. इस अभियान के अंतिम दिन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि बीजेपी एक परिवार है, लेकिन कांग्रेस में एक परिवार ही पूरी कांग्रेस है. कांग्रेस में जो व्यक्ति सोनिया गांधी और राहुल गांधी के तलवे चाटे, केवल वही बना रह सकता है, वही वफादार कहलाता है. जो जनता के हित के लिए लड़े, उसे गद्दार घोषित कर दिया जाता है.

सदस्यता ग्रहण समारोह में केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि बीजेपी और कांग्रेस में फर्क यह है कि हमारी सरकार में देश और प्रदेश का विकास होता है और कांग्रेस की सरकारों में भ्रष्टाचार चरम पर होता है.

बीजेपी में शामिल हुए कार्यकर्ताओं का स्वागत करते हुए वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा, "कांग्रेस की सरकार बनाने में ग्वालियर-चंबल संभाग की बड़ी भूमिका रही. इतिहास में पहली बार इस संभाग की 34 में से 26 सीटें कांग्रेस को मिली. लोगों को उम्मीद थी कि कांग्रेस की सरकार विकास करेगी, क्षेत्र के साथ न्याय किया जाएगा. सरकार बनने के बाद ऐसा नहीं हुआ. कमल नाथ की सरकार हमेशा पैसों की तंगी का रोना रोती रही और वादाखिलाफी की और भ्रष्टाचार का बोलबाला रहा."

ये भी पढ़ें: उपचुनाव से पहले एमपी में चढ़ा सियासी पारा, ज्योतिरादित्य सिंधिया पर हमलावर हुए दिग्विजय सिंह

सिंधिया ने कहा, "आने वाला चुनाव बीजेपी और कांग्रेस का चुनाव नहीं है, यह चंबल की जनता के साथ न्याय का, मान-सम्मान का चुनाव है, प्रदेश के भविष्य का चुनाव है. फैसला आपको करना है कि हम वादाखिलाफी और भ्रष्टाचार के रास्ते पर चलें या विकास के. आपको कमलनाथ-दिग्विजय की भ्रष्टाचारी जोड़ी चाहिए, या विकास को समर्पित शिवराज, नरेंद्रसिंह और ज्योतिरादित्य की त्रिमूर्ति चाहिए."

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 25 Aug 2020, 09:31:57 AM

For all the Latest States News, Madhya Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.