News Nation Logo

सिंधिया के भोपाल दौरे में दिखे सियासी और शिष्टाचार के रंग

केंद्रीय मंत्री मंडल के संभावित विस्तार और मध्य प्रदेश में निगम-मंडल अध्यक्षों की नियुक्ति की संभावना के बीच भाजपा के वरिष्ठ नेता ज्येातिरादित्य सिंधिया के भोपाल प्रवास के दौरान में सियासी और शिष्टाचार का रंग भी देखने को मिला.

News Nation Bureau | Edited By : Vineeta Mandal | Updated on: 10 Jun 2021, 09:25:03 AM
सिंधिया का भोपाल दौरा

सिंधिया का भोपाल दौरा (Photo Credit: (फोटो-Ians))

भोपाल:

केंद्रीय मंत्री मंडल के संभावित विस्तार और मध्य प्रदेश में निगम-मंडल अध्यक्षों की नियुक्ति की संभावना के बीच भाजपा के वरिष्ठ नेता ज्येातिरादित्य सिंधिया के भोपाल प्रवास के दौरान में सियासी और शिष्टाचार का रंग भी देखने को मिला. सिंधिया बुधवार को भोपाल पहुंचे, उनकी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, भाजपा प्रदेशाध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा, संगठन महामंत्री सुहास भगत, सह संगठन मंत्री हितानंद शर्मा के साथ बैठक हुई. सिंधिया बाद में भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष शर्मा के निवास पर पहुंचे जहां दोनों नेताओं के बीच बंद कमरे में लंबी बातचीत चली और उसके बाद दोपहर का भोज हुआ.

और पढ़ें: आपदा में अवसर: कोरोना काल में भोपाल में बिना जांच के खुले 102 नए अस्पताल

भाजपा प्रदेशाध्यक्ष के आवास पर हुए भोज के दौरान शिष्टाचार का रंग देखने को मिला. शर्मा ने सिंधिया को खाना परसा तो सिंधिया ने भी अन्य नेताओं को खाना परसने में हिचक नहीं दिखाई. कुल मिलाकर नेताओं के बीच शिष्टाचार और सौहार्द नजर आया. आम तौर सियासी गलियारों में यह चर्चा रहती है कि सिंधिया का बर्ताव राजघराने के प्रतिनिधि जैसा रहता है, मगर भोज की सोशल मीडिया पर सामने आए वीडियो और तस्वीरें इसे झुठलाने वाली हैं.

सिंधिया के इस भोपाल प्रवास केा लेकर कई संभावनाओं से जोड़कर देखा जा रहा है. कहा जा रहा है कि यह दौरा निगम-मंडलों की नियुक्ति को लेकर है. वहीं सिंधिया ने इन संभावना को नकारा है. राज्यसभा सांसद सिंधिया अपने प्रवास के दौरान शिवराज सरकार के कई मंत्रियों के आवास पर भी गए और उनसे चर्चा की.

ये भी पढ़ें: योगी आदित्यनाथ के बाद अब शिवराज सिंह चौहान को लेकर चल रहीं चर्चाएं, बीजेपी के दिग्गजों ने सच बताया

सिंधिया के दौरे केा लेकर कांग्रेस ने तंज सके हैं प्रदेशाध्यक्ष कमल नाथ के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने सिंधिया के ग्वालियर में गुमशुदगी के लगाए गए पोस्टर का जिक्र करते हुए कहा है, अभी भी प्रदेश आए तो गुमशुदगी के पोस्टर लगने के बाद सिर्फ अपने लोगों के नामों को पद की बंदर बांट में शामिल करवाने के लिए, प्रदेश में चल रही उठापठक में हाथ धोने के लिए इन्हें तो सबसे पहले प्रदेश वासियों से माफी मांगनी चाहिए.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 10 Jun 2021, 09:25:03 AM

For all the Latest States News, Madhya Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.