News Nation Logo

कोरोना अटैक के बीच भोपाल में अब डेंगू और मलेरिया का खतरा

कोरोना वायरस महामारी (Corona virus epidemic) के बढ़ते मरीजों के बीच मध्य प्रदेश की राजधानी भेापाल (Bhopal) में डेंगू, मलेरिया का खतरा मंडराने लगा है.

News Nation Bureau | Edited By : Dalchand Kumar | Updated on: 07 Mar 2021, 01:32:09 PM
Dengue

कोरोना अटैक के बीच भोपाल में अब डेंगू और मलेरिया का खतरा (Photo Credit: फाइल फोटो)

highlights

  • राजधानी भोपाल में कोरोना वायरस का अटैक जारी
  • अब भोपाल में डेंगू और मलेरिया का खतरा भी बढ़ा
  • मलेरिया की रोकथाम के लिए विभिन्न क्षेत्रों में जांच अभियान

भोपाल:

कोरोना वायरस महामारी (Corona virus epidemic) के बढ़ते मरीजों के बीच मध्य प्रदेश की राजधानी भेापाल (Bhopal) में डेंगू, मलेरिया का खतरा मंडराने लगा है. यही कारण है कि राजधानी में मलेरिया (Malaria) की रोकथाम के लिए विभिन्न क्षेत्रों में जांच अभियान चलाया जा रहा है. बताया गया है कि शहर के विभिन्न क्षेत्रों, अति संवेदनशील क्षेत्रों, स्लम एरिया और अन्य बस्तियों में डेंगू लार्वा, मलेरिया और कोरोना के बढ़ने की आशंका है, इसी के बचाव के लिए व्यापक स्तर पर अभियान चलाया जा रहा है. साथ ही लोगों को जागरूक भी किया जा रहा है.

यह भी पढ़ें : BJP सांसद प्रज्ञा ठाकुर की तबीयत बिगड़ी, कोकिलाबेन अस्पताल में भर्ती

जिला मलेरिया अधिकारी अखिलेश दुबे ने बताया कि मलेरिया की रोकथाम के लिए विभिन्न क्षेत्रों में दल नियुक्त कर अभियान चलाया जा रहा है. भोपाल जिले में 799 लोगों की रेपिड टेस्ट से मलेरिया की जांच की गई. मलेरिया का खतरा सबसे ज्यादा बच्चों पर है, इसीलिए जिला मलेरिया अधिकारी ने लोगों को सलाह दी है कि बच्चों को पूरी आस्थीन के कपड़े पहनाएं एवं घर में सोते समय मच्छरदानी का भी उपयोग करें. शाम के समय घरों के आस-पास नीम की पत्तियों का धुआं भी कर सकते हैं. अगर घर में किसी को बुखार आ रहा है तो उसकी जांच तुरंत नजदीकी अस्पताल में जाकर कराए.

देखें : न्यूज नेशन LIVE TV

बताया गया है कि शहर के विभिन्न क्षेत्रों में डेंगू के लार्वा के लिए 29 टीमों का दल नियुक्त किया गया है जिनके द्वारा 1015 घरों का सर्वे कर किया गया और 20 घरों में लार्वा पाया गया. अलग-अलग जगहों पर आठ हजार से अधिक बर्तनों में लार्वा सर्वे किया गया, जिसमें केवल 20 बर्तनों में लार्वा पाया गया. डेंगू के लार्वा को टेमोफॉस डाल कर नष्ट किया गया.

यह भी पढ़ें : कोरोना 'रिटर्न'; मध्य प्रदेश के इन बड़े शहरों में फिर लगने जा रहा है नाइट कर्फ्यू

उधर, राजधानी भोपाल में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है. यह आसार बढ़ने लगे हैं कि भोपाल में 8 मार्च की रात से रात्रिकालीन कर्फ्यू लग सकता है. स्वास्थ्य विभाग के जानकारों का कहना है कि भोपाल में मरीजों की संख्या में हो रही बढ़ोतरी के चलते इस बात की संभावना बढ़ चली है कि यहां पर रात्रिकालीन कर्फ्यू लगाया जा सकता है. ऐसा इसलिए क्योंकि यह शहर ऐसा रहा है, जहां पहले भी बड़ी संख्या में मरीज समाने आए थे. भोपाल जिला प्रशासन ने मास्क के उपयोग को अनिवार्य कर दिया है, लापरवाही बरतने वालों पर कार्रवाई भी हो रही है.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 07 Mar 2021, 01:32:09 PM

For all the Latest States News, Madhya Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.