News Nation Logo

अजब गजब: पुलिस की अनूठी पहल, अवैध शराब बनाने की जगह का गोबर से शुद्धिकरण

पुलिस इस कारोबार में लिप्त लोगों के नजरिए में बदलाव लाने का अभियान चला रही है जिसके तहत अवैध शराब बनाए जाने वाली जगह का गाय के गोबर से शुद्धिकरण किया जा रहा है और रंगोली उकेरी जा रही है.

IANS | Updated on: 20 Aug 2020, 04:09:36 PM
MP Police

पुलिस की अनूठी पहल, अवैध शराब बनाने की जगह का गोबर से शुद्धिकरण (Photo Credit: फाइल फोटो)

बैतूल:

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के बैतूल जिले की पुलिस ने अवैध शराब के खिलाफ अनूठी जंग छेड़ी है. पुलिस इस कारोबार में लिप्त लोगों के नजरिए में बदलाव लाने का अभियान चला रही है जिसके तहत अवैध शराब बनाए जाने वाली जगह का गाय के गोबर से शुद्धिकरण किया जा रहा है और रंगोली उकेरी जा रही है. बैतूल जिले के कई हिस्सों में अवैध शराब का कारोबार चलता है, इसे रोकने के साथ इस कारोबार में लगे लोगों की सोच और नजरिए में बदलाव लाने के प्रयास तेज किए गए हैं. जिन स्थानों पर अवैध तरीके से शराब बनाई जाती है उन क्षेत्रों और कारोबार से जुड़े लोगों पर कार्रवाई तो हो रही है, साथ में उन्हें इस कारोबार से दूर रखने की शपथ भी दिलाई जा रही है.

यह भी पढ़ें: स्वच्छता में इंदौर ने फिर मारी बाजी, चौथी बार देश का सबसे स्वच्छ शहर बना

पुलिस को इस अभियान के तहत जहां भी अवैध शराब बनाने की जानकारी मिलती है, वहां पुलिस मौके पर पहुंचती है और सभी सामग्री को नष्ट करने की कार्रवाई करती है. उसके बाद शराब बनाने वालों से संकल्प पत्र भरवाए जाते हैं और शपथ दिलाई जाती है कि दोबारा वह शराब नहीं बनाएंगे. इसके अलावा पुलिस द्वारा जिस स्थान पर शराब बनाई जा रही थी उस स्थान को बाकायदा गाय के गोबर से लिपाई-पुताई कर शुद्ध करवाती है और उस पर रंगोली भी उकेरी जा रही है ताकि शुद्धता बनी रह सके.

इस अभियान का नेतृत्व बैतूल के पुलिस उपाधीक्षक (डीएसपी) संतोष पटेल कर रहे हैं. ग्रामीण क्षेत्रों में चलाए जा रहे इस अभियान से निर्भया, संगवारी मोबाइल, महिला सेल और ग्राम रक्षा समिति की महिला सदस्यों को जोड़ा गया है. यह दल उन इलाकों का दौरा करता है जहां कच्ची महुआ शराब बनाने और बेचे जाने की जानकारी मिलती है. मौके पर पहुंचकर दल के सदस्य पहले तो अवैध कच्ची शराब और उसे बनाने के लिए उपयोग किये जाने वाले साधनों को नष्ट करते हैं.

यह भी पढ़ें: इंदौर के सबसे स्वच्छ शहर बनने पर मप्र के लिए गर्व का क्षण: शिवराज

पुलिस के मुताबिक अवैध शराब बनाते पकड़े गए परिवारों को मौके पर समझाया जाता है, संकल्प दिलाया जाता है और गोबर से लिपाई-पुताई कराने के बाद रंगोली बनवाई जाती है. उसके बाद भी अगर वह फिर से इस अवैध काम में लिप्त पाया जाता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

डीएसपी संतोष पटेल ने बताया है कि इस अभियान के तहत दल ने कोतवाली थाना इलाके के गांव गौठान के इलाको में सर्च अभियान चलाया. यहां पर एक चूल्हे पर कच्ची शराब बनाते हुए एक महिला को पकड़ा गया. मौके पर बनाया गया चूल्हा और बर्तन नष्ट कर स्थान का शुद्धिकरण किया गया. इसके साथ ही यह दल शहर में भी अवैध शराब और जुए के खिलाफ जनजागरूकता अभियान चला रहा है.

यह भी पढ़ें: शराब के शौकीनों को सरकार का तोहफा, होटल और क्लब में ले सकेंगे पैग का मजा

डीएसपी पटेल ने आगे बताया कि अभियान के तहत उन स्थलों और गांवों को चिन्हित किया गया है. जहां शराब बनाने की सामाजिक बुराई ज्यादा है. वहा ग्रामीणों को इस बुराई से हटाने के लिए सामाजिक रीति परम्पराओ का सहारा लिया जा रहा है.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 20 Aug 2020, 04:09:36 PM

For all the Latest States News, Madhya Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.