News Nation Logo
Banner

उज्जैन में जहरीली शराब से 11 लोगों की मौत, 5 पुलिसकर्मी निलंबित

उज्जैन में अलग-अलग स्थानों पर सात लोगों की मौत हुई है. मृतकों के शवों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत की वजह ज्यादा मात्रा में अल्कोहल पीना बताई गई है. शराब पीने वाले ये लोग अन्य बीमारियों से भी ग्रस्त थे. सभी मृतकों के विसरा को सुरक्षित रखा

By : Shailendra Kumar | Updated on: 16 Oct 2020, 06:56:12 AM
11 Death by Poisonous Liquor in Ujjain

उज्जैन में जहरीली शराब से 11 लोगों की मौत (Photo Credit: IANS)

उज्जैन:

मध्य प्रदेश के उज्जैन जिले में 11 लोगों की जहरीली शराब पीने से मौत हो गई. इस मामले की जांच विशेष अनुसंधान दल (एसआईटी) करेगी. इस घटना पर थाना प्रभारी सहित पांच पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है. प्रशासन 'डीनेचर्ड स्प्रिट' पीए जाने की आशंका जता रहा है. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, उज्जैन में बुधवार को अलग-अलग स्थानों पर सात लोगों की मौत हुई है. मृतकों के शवों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत की वजह ज्यादा मात्रा में अल्कोहल पीना बताई गई है. शराब पीने वाले ये लोग अन्य बीमारियों से भी ग्रस्त थे. सभी मृतकों के विसरा को सुरक्षित रखा गया है.

यह भी पढ़ें : मध्य प्रदेश सरकार 18 डिप्टी कलेक्टरों का तबादला रद्द करे : चुनाव आयोग

एसआईटी करेगी की जांच

उज्जैन की इस घटना को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गुरुवार को विशेष बैठक बुलाकर वरिष्ठ अधिकारियों से जानकारी ली. उन्होंने इस घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए निर्देश दिए हैं कि ऐसे पदार्थ बेचने वालों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाए. ऐसे व्यक्तियों का नेटवर्क तोड़ा जाए. इस घटना की विशेष अनुसंधान दल (एसआईटी) द्वारा जांच हो. मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में अन्य कई स्थानों पर यदि ऐसी वस्तुएं बेची जा रही हैं, तो पुलिस बल इसका पता लगाए और दोषियों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई करे. अपर मुख्य सचिव (गृह) इस मामले में समन्वय कर प्रारंभिक जांच के आधार पर रिपोर्ट दें.

यह भी पढ़ें : CM योगी ने बलिया की घटना को संज्ञान में लिया, CO और SDM निलंबित

पोस्टमार्टम के बाद विसरा जांच के लिए रखा गया

मुख्यमंत्री ने अधिकारियों से कहा कि न सिर्फ उज्जैन, बल्कि पूरे प्रदेश में इस तरह के मामलों पर नजर रखी जाए. जहां कहीं भी ऐसे मिलावटी और जहरीले पदार्थ बेचे जाने की आशंका हो, वहां सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए. उज्जैन के जिलाधिकारी आशीष सिंह ने बताया कि 14 अक्टूबर की रात और 15 अक्टूबर की सुबह संभवत: डीनेचर्ड स्प्रिट पीने से अब तक कुल 11 व्यक्तियों की मौत हो चुकी है. पोस्टमार्टम के बाद विसरा जांच के लिए सागर स्थित लेबोरेटरी में भेजा जाएगा. प्राथमिक जांच में दो-तीन संदिग्ध व्यक्तियों के नाम सामने आए हैं. उनके खिलाफ रासुका के तहत कार्रवाई की जा रही है.

यह भी पढ़ें : कुंभ पर उदित राज की टिप्पणी से खड़ा हुआ विवाद, BJP ने कांग्रेस पर निशाना साधा

दवा स्टोर्स के नाम आ रहे सामने

आशीष सिंह ने बताया कि जांच में कुछ दवा स्टोर्स के नाम भी सामने आए हैं, जिनके स्टॉक के वेरिफिकेशन का कार्य किया जा रहा है. दवा बाजार स्थित गुप्ता सर्जिकल मेडिकल के यहां निर्धारित मात्रा से अधिक स्प्रिट पाए जाने पर स्टोर को सील कर दिया गया है. नगर निगम और डॉक्टरों की टीम को फुटपाथ और रैन बसेरों में रह रहे लोगों के स्वास्थ्य की जांच में लगाया गया है, ताकि अन्य किसी व्यक्ति ने भी अगर इसी तरह डीनेचर्ड स्पिरिट का सेवन किया हो तो उसकी जान बचाई जा सके.

यह भी पढ़ें : फारूक बोले- जम्मू-कश्मीर के लोगों का विशेष अधिकार लौटाए सरकार

5 पुलिसकर्मी निलंबित

वहीं, पुलिस अधीक्षक मनोज सिंह ने लापरवाही बरतने पर खाराकुआ थाने के नगर निरीक्षक एमएल मीणा, बीट प्रभारी उप निरीक्षक निरंजन शर्मा, आरक्षक शेख अनवर और नवाज शरीफ को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है.

First Published : 16 Oct 2020, 06:56:12 AM

For all the Latest States News, Madhya Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो