logo-image
लोकसभा चुनाव

झारखंड हाईकोर्ट ने सोरेन पर की सुनवाई, 40 घंटे तक गायब रहने के मामले में याचिका वापस

झारखंड हाईकोर्ट ने सोमवार को प्रदेशे के पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के दिल्ली आवास से करीब 40 घंटे तक गायब रहने के मामले में दायर क्रिमिनल रिट याचिका पर सुनवाई की.

Updated on: 15 Apr 2024, 08:21 PM

highlights

  • झारखंड हाईकोर्ट ने सोरेन पर की सुनवाई
  • 40 घंटे तक गायब रहने के मामले में याचिका वापस
  • मनी लॉन्ड्रिंग मामले में सोरेन को किया गया है गिरफ्तार

Ranchi:

झारखंड हाईकोर्ट ने सोमवार को प्रदेशे के पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के दिल्ली आवास से करीब 40 घंटे तक गायब रहने के मामले में दायर क्रिमिनल रिट याचिका पर सुनवाई की. वहीं, जस्टिस रंगन मुखोपाध्याय व जस्टिस दीपक रोशन की बेंच ने इस मामाले की सुनवाई करते हुए कहा कि प्रार्थी के आग्रह को देखते हुए इस याचिका को वापस लेने की अनुमति दी. वहीं, हाईकोर्ट के जस्टिस की खंडपीठ को सुनवाई के दौरान बताया गया कि ईडी ने हेमंत सोरेन को भूमि घोटाले से जुड़े मामले में गिरफ्तार किया है. बता दें कि हेमंत सोरेन बिरसा मुंडा केंद्रीय कारा होटवार में न्यायिक हिरासत में हैं और इस याचिका पर अब सुनवाई का कोई औचित्य नहीं बनता है.  बता दें कि प्रार्थी अधिवक्ता राजीव कुमार ने सोरेन के खिलाफ याचिका दायर कर प्रदेश के तत्कालीन मुख्यमंत्री सोरेन को बरामद करने की मांग की थी. 

यह भी पढ़ें- राजमहल लोकसभा सीट को लेकर लोबिन हेम्ब्रम हुए बागी, लड़ सकते हैं निर्दलीय चुनाव

मनी लॉन्ड्रिंग मामले में सोरेन को किया गया है गिरफ्तार

बता दें कि हेमंत सोरेन को ईडी ने पूछताछ के लिए 10 बार समन भेजा. जिसमें से केवल दो समन का ही जवाब सोरेन ने दिया. ईडी के समन अवहेलना मामले में भी सोरेन पर मामला दर्ज किया गया है. वहीं, 31 जनवरी को करीब 8 घंटे तक पूछताछ करने के बाद सोरेन को ईडी ने गिरफ्तार कर लिया था. सोरेन से ईडी ने पूछताछ मुख्यमंत्री आवास में किया था. वहीं, गिरफ्तारी से पहले ही सोरेन ने राज्यपाल के समक्ष जाकर अपना इस्तीफा सौंप दिया था. फिलहाल सोरेन रांची के होटवार की बिरसा मुंडा केंद्रीय जेल में बंद हैं. 

9 करोड़ की जमीन कुर्क

जमीन पर अवैध कब्जे को लेकर सोरेन के खिलाफ ईडी ने अपनी कार्रवाई तेज कर दी है. जानकारी के अनुसार ईडी ने हेमंत सोरेन के कथित स्वामित्व वाले करीब 9 एकड़ जमीन को कुर्क कर लिया. जिसकी कीमत करीब 31 करोड़ रुपये बताई जा रही है. कुर्क की गई जमीन रांची के बरियातू की बताई जा रही है.