News Nation Logo
Banner
Banner

हिंदू-सिख की हत्या से उबाल, पाकिस्तान के खिलाफ हो रहे प्रदर्शन

टीआरएफ (TRF) के खिलाफ जम्मू और  श्रीनगर दोनों जगह विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं. लोग न्याय की मांग करते हुए पाकिस्तान विरोधी नारेबाजी कर रहे हैं. 

News Nation Bureau | Edited By : Nitu Pandey | Updated on: 08 Oct 2021, 12:03:14 PM
sukhpinder kaur

हिंदू-सिख की हत्या से उबाल, पाकिस्तान के खिलाफ हो रहे प्रदर्शन (Photo Credit: ANI )

highlights

  • टीचर की हत्या पर भड़का जम्मू-कश्मीर
  • आतंकियों ने गुरुवार को  दो टीचर की हत्या की
  • लोगों पाकिस्तान विरोध लगा रहे हैं नारे, मांग रहे इंसाफ

नई दिल्ली :

जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर में गुरुवार को आतंकवादियों ने दो शिक्षकों की गोली मारकर हत्या कर दी थी. जिनका आज अंतिम संस्कार किया जा रहा है. सुपिंदर कौर और दीपक की हत्या से लोगों में आक्रोश का माहौल है. शुक्रवार को श्रीनगर के सुपिंदर कौर के अंतिम संस्कार में लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा. इस दौरान लोग पाकिस्तान विरोधी नारेबाजी की. सात ही न्याय की मांग भी कर रहे थे. वहीं जम्मू में भी विरोध प्रदर्शन किया गया. टीआरएफ (TRF) के खिलाफ जम्मू और  श्रीनगर दोनों जगह विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं.

बता दें कि सुपिंदर कौर श्रीनगर के रहने वाले थे. वहीं दीपक जम्मू के. गुरुवार को श्रीनगर के ईदगाह इलाके दहशतगर्दों ने सरकारी विद्यालय के प्रिंसिपल सुपिंदर कौर और टीचर दीपक चंद को गोली मार दी. दोनों को तुरंत अस्पताल ले जाया गया. जहां इन्होंने दम तोड़ दिया. 

इसे भी पढ़ें:डेरा प्रमुख राम रहीम सहित 5 आरोपी रंजीत हत्याकांड में दोषी करार

मंगलवार को भी आतंकियों ने किया था कत्ल-ए-आम

बता दें कि मंगलवार को भी आतंकवादियों ने एक स्थानीय पंडित, एम.एल. बिंदरू, एक गैर-स्थानीय विक्रेता और कश्मीर में एक टैक्सी चालक की हत्या कर दी थी.

दहशतगर्दों नेइस साल 25 लोगों की ली जान

आतंकी इस साल 25 मासूम नागरिकों को मौत के घाट उतार चुके हैं. इनमें से तीन विदेशी नागरिक थे. सबसे ज्यादा 10 हत्याएं आतंकियों ने श्रीनगर में की है. उसके अलावा 4-4 हत्याएं पुलवामा और अनंतनाग में, 3 कुलगाम में, 2 बारामूला में और 1-1 बड़गाम और बांदीपोरा में कर चुके हैं. 

First Published : 08 Oct 2021, 11:44:40 AM

For all the Latest States News, Jammu & Kashmir News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.