News Nation Logo
Quick Heal चुनाव 2022

राजौरी, कठुआ के बाद अब श्रीनगर में भी ड्रोन-UAV पर लगा टोटल बैन

27 जून को पाकिस्तान से महज 14 किलोमीटर दूरी पर स्थित जम्मू के सतवारी एयरबेस पर शनिवार-रविवार देर रात ड्रोन से हमला हुआ था. इन धमाकों के बाद श्रीनगर में भी ड्रोन्स पर बैन लगा दिया गया है.

News Nation Bureau | Edited By : Ravindra Singh | Updated on: 04 Jul 2021, 04:18:12 PM
Imaginative Pic

सांकेतिक चित्र (Photo Credit: फाइल )

highlights

  • राजौरी और कठुआ के बाद श्रीनगर में भी ड्रोन बैन
  • सुरक्षा एजेंसियों ने सभी तरह के ड्रोनों पर बैन लगाया
  • सरकारी ड्रोन्स के लिए भी स्थानीय थानों लेनी होगी इजाजत

जम्मू कश्मीर:

27 जून को पाकिस्तान से महज 14 किलोमीटर दूरी पर स्थित जम्मू के सतवारी एयरबेस पर शनिवार-रविवार देर रात ड्रोन से हमला हुआ था. इन धमाकों के बाद श्रीनगर में भी ड्रोन्स पर बैन लगा दिया गया है. किसी भी तरह के ड्रोन या अन्‍य अनमैन्‍ड एरियल वीकल्‍स (UAVs) रखना प्रतिबंधित होगा. जम्मू के प्रशासन ने कहा कि जिनके पास भी ऐसी डिवाइस या फिर ड्रोन्स हैं वो अपने नजदीकी थाने में जमा करवा दें. आपको बता दें कि इसके पहले कठुआ और राजौरी जिले में भी ड्रोन को लेकर बैन लगाया जा चुका है.  ऐसा ही बैन लगाया जा चुका है. जम्‍मू एयरफोर्स स्‍टेशन पर आतंकी हमले में दो लोग घायल हो गए थे.

जम्मू एयरबेस पर ड्रोन के जरिए विस्फोट के बाद से लगातार जम्मू के इलाके में ड्रोन देखे जा रहे थे. 27 जून को भी जम्मू के कुछ इलाकों में ड्रोन दिखाई दिए थे. इसके बाद से सुरक्षा बल अलर्ट पर हैं. ड्रोन के खतरे को देखते हुए जम्‍मू के वायुसेना स्‍टेशन पर सुरक्षा के लिए एंटी ड्रोन सिस्‍टम और जैमर जैसे अत्‍याधुनिक उपकरण लगाए गए हैं. सूत्रों से मुताबिक एनएसजी की ओर से इसे तैनात किया गया है. 

ड्रोन उड़ाने के लिए सरकारी विभागों को भी थाने में सूचना देनी होगी
श्रीनगर के जिलाधिकारी मोहम्‍मद ऐजाज द्वारा जारी किए गए आदेश में कहा गया है कि यह फैसला एसएसपी की सिफारिशों के बाद लिया गया है. जिले में ड्रोन या ऐसे ही UAVs को उड़ाने, बेचने रखने या अन्य इस्तेमाल के लिए या ट्रांसपोर्ट करने पर प्रतिबंध होगा. यहां तक कि वो सरकारी विभाग जो ड्रोन्स का उपयोग करते हैं , उन्‍हें ऐसा कुछ करने से पहले स्‍थानीय थाने में सूचना देना होगी.

यह भी पढ़ेंःजम्मू में ड्रोन हमले और IED बरामद होने के बाद जम्मू पुलिस की सख्त कार्रवाई

ड्रोन घुसपैठ को लेकर तमिलनाडु, केरल में हाई अलर्ट
जम्मू-कश्मीर में ड्रोन हमले के बाद केंद्रीय खुफिया एजेंसियां ने केरल और तमिलनाडु को हाई अलर्ट पर रखा है. मीडिया सूत्रों के हवाले से पता चला है कि एजेंसियों ने केरल और तमिलनाडु दोनों राज्यों की पुलिस को सतर्क रहने और राज्यों में घुसपैठ के लिए तैयार रहने के लिए कहा है. श्रीलंका में हंबनथोटा बंदरगाह पर चीनी कब्जे के बाद, तटरक्षक बल और भारतीय नौसेना की खुफिया जानकारी तमिलनाडु के तटीय क्षेत्रों और केरल के दक्षिणी क्षेत्रों में हाई अलर्ट पर है.

यह भी पढ़ेंःइस्लामाबाद में भारतीय उच्चायोग के परिसर के अंदर देखा गया ड्रोन, हड़कंप

पीएम मोदी ने की थी उच्च स्तरीय बैठक
इसके पहले 29 जून को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ड्रोन हमले को लेकर एक उच्च स्तरीय बैठक की थी. इस बैठक में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह केंद्रीय रक्षामंत्री राजनाथ सिंह और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल भी शामिल हुए थे. गौरतलब है कि जम्मू में शनिवार-रविवार की रात एयरफोर्स स्टेशन पर हुए ड्रोन अटैक की जांच घटना के 48 घंटे बाद मामले की जांच गृह मंत्रालय ने NIA को सौंप दी है. इस बैठक में पीएम मोदी ने जम्मू के एयरबेस में हुए ड्रोन हमले को लेकर बातचीत की थी.

First Published : 04 Jul 2021, 03:25:46 PM

For all the Latest States News, Jammu & Kashmir News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.