News Nation Logo

दूध बिकेगा 100 रुपए लीटर, किसान आंदोलन के पक्ष में खाप का फरमान

1 मार्च से सरकारी सहकारी समितियों समेत डेरी को 100 रुपए प्रति लीटर की दर से दूध बेचा जाएगा. इस फरमान को नहीं मानने वालों पर 11 हजार रुपए का जुर्माना लगाने की भी घोषणा की गई है.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 28 Feb 2021, 06:59:04 AM
Milk

हिसार के नारनौंद की सतरोल खाप ने किया ऐलान. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • हिसार, हरियाणा के नारनौंद में सतरोल खाप का ऐलान
  • किसान आंदोलन के समर्थन में लिया गया फैसला
  • फरमान की अवहेलना पर 11 हजार रुपए का जुर्माना

हिसार:

कृषि कानूनों (Farm Laws) के विरोध और तीनों कानून वापस लिए जाने की मांग पर चल रहे किसान आंदोलन (Farmers Protest) ने अब नया रुख अख्तियार कर लिया है. हरियाणा (Haryana) में हिसार की कई खापों ने किसान आंदोलन के समर्थन औऱ पेट्रोल-डीजल की कीमतों में हो रही लगातार वृद्धि के चलते एक ऐसा फैसला किया है, जिससे न सिर्फ सरकार दबाव में आ सकती है, बल्कि हिसार और उसके आस-पास के इलाकों में दूध की भी जबर्दस्त किल्लत हो सकती है. हिसार (Hisar) के नारनौंद में सतरोल की खाप ने एक अहम फैसला लेते हुए घोषणा की है कि 1 मार्च से सरकारी सहकारी समितियों समेत डेरी को 100 रुपए प्रति लीटर की दर से दूध बेचा जाएगा. इस फरमान को नहीं मानने वालों पर 11 हजार रुपए का जुर्माना लगाने की भी घोषणा की गई है. यही नहीं, खाप ने जननायक जनता पार्टी (JJP) और भारतीय जनता पार्टी (BJP) के नेताओं के गांवों में घुसने पर भी प्रतिबंध लगा दिया है. 

11 हजार रुपए का जुर्माना
यह जानकारी देते हुए सतरोल खाप के प्रधान रामनिवास लोहान व प्रवक्ता फुल कुमार ने बताया कि किसानों के समर्थन में यह फैसला लिया गया है. कृषि कानूनों पर चल रहे किसान आंदोलन को तीन महीने हो गए हैं, लेकिन सरकार टस से मस नहीं हो रही. ऐसे में शनिवार को सतरोल खाप ने यह फैसला लिया है कि डेरी और दूध के केंद्रों को किसान 100 रुपए प्रति किलो दूध देंगे. वही गरीब आदमी व आपस में दूध देने पर कोई भी पाबंदी नहीं लगाई गई है. इस फरमान को नहीं मानने वालों पर 11 हजार रुपए के जुर्माने का भी प्रावधान रखा गया है. सतरोल खाप एक बड़ी खाप है और किसानों के समर्थन में पहले भी कई फैसले ले चुकी है. अगर खाप का यह फैसला कामयाब होता है, तो आने वाले दिनों में हिसार के शहरी इलाके में दूध की दिक्कत हो सकती है.

यह भी पढ़ेंः बंगाल को बेटी चाहिए, बुआ नहीं! 'नवरत्नों' के सहारे BJP का ममता पर वार

जेजेपी और बीजेपी नेताओं का गांवों में प्रतिबंध
इसके अलावा खाप ने जननायक जनता पार्टी और भारतीय जनता पार्टी के नेताओं के गांवों में प्रवेश पर भी प्रतिबंध लगा दिया है. नारनौंद में पंचायत कर सर्वसम्मति से फैसला लिया गया है, जिसमें दूध के दामों पर टैक्स भी तय किए गए है. खाप ने दूध का आधार मूल मूल्य 35.5 रुपए तय किए हैं. इसके बाद हरा चारा टैक्स 20.35 रुपए, तुड़ी टैक्स 14.15 रुपए, गोबर टैक्स 9.00 रुपए, लेबर चार्ज 15.15 रुपए, किसान लाभांश 5.85 रुपए लगाया गया है. हालांकि आम लोगों को 55 से 60 रुपये प्रति लीटर की दर में दूध मिलता रहेगा.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 28 Feb 2021, 06:53:34 AM

For all the Latest States News, Haryana News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो