News Nation Logo

जबरन धर्म परिवर्तन पर बोले सीएम मनोहर लाल खट्टर, कानून बनाने की जरूरत

सोमवार को हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि हरियाणा के कई हिस्सों से जबरन धर्म परिवर्तन की घटनाएं सामने आ रही हैं. ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए हमें एक कानून बनाने की जरूरत है.

News Nation Bureau | Edited By : Rupesh Ranjan | Updated on: 30 Aug 2021, 04:19:05 PM
CM Manohar Lal Khattar

CM Manohar Lal Khattar (Photo Credit: News Nation )

highlights

  • जबरन धर्म परिवर्तन पर सीएम ने जताई चिंता
  • जबरन धर्म परिवर्तन को रोकने के लिए कानून बनाने की सीएम ने कही बात 

नई दिल्ली:

हरियाणा के कई हिस्सों में मानसिक तनाव और आर्थिक तंगी से जूझ रहे लोगों को जाल में फंसाकर धर्म परिवर्तन कराया जा रहा है. हाल ही में मेवात में जबरन धर्म परिवर्तन करने का मामला सामने आया था. सोमवार को हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि हरियाणा के कई हिस्सों से जबरन धर्म परिवर्तन की घटनाएं सामने आ रही हैं. ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए हमें एक कानून बनाने की जरूरत है. एक अध्ययन किया गया है और जल्द ही कानून का मसौदा तैयार किया जाएगा. हम देखेंगे कि इसे अध्यादेश के रूप में पेश किया जाए या विधानसभा में पेश किया जाए. बता दें कि उक्त बातें हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कही. 

यह भी पढ़ें: जन्‍माष्‍टमी: मथुरा से गोकुल तक सज गए सारे देवालय, जन्‍मोत्‍सव की ऐसी है तैयारी

बता दें कि इससे पहले प्रदेश में जबरन कराए जा रहे धर्म परिवर्तन को रोकने के लिए हरियाणा सरकार के द्वारा बुधवार को एसटीएफ का गठन किया जा चुका है. नूंह पुलिस ने जबरन धर्मांतरण मामले में दो अलग-अलग मुकदमे दर्ज कर दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. वहीं मेवात जबरन धर्मांतरण के मामले में पुलिस ने सख्त कार्रवाई करते हुए दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है. 

यह भी पढ़ें: आगरा में आप की तिरंगा यात्रा, मनीष सिसोदिया ने योगी सरकार पर साधा निशाना

UP में हो चुकी है धर्म परिवर्तन विधेयक पास

उत्तर प्रदेश विधानसभा में धर्म परिवर्तन विधेयक को पास किया जा चुका है. इस विधेयक के मुताबिक किसी को जबरन धर्म परिवर्तन कराने पर 10 साल तक की सजा होगी. इसके अलावा ऐसे लोगों पर 50 हजार रुपयों का जुर्माना भी रखा गया है. जबरन कराए जा रहे धर्म परिवर्तन को रोकने को लेकर उत्तर प्रदेश सरकार के द्वारा सख्त कदम उठाए गए हैं. बता दें कि उत्तर प्रदेश में धर्म परिवर्तन करने से पहले जिलाधिकारी के समक्ष आवेदन करना और उनसे इसकी अनुमति लेना अनिवार्य है. सरकार द्वारा जारी की गई इन गाइड लाइंस को फॉलो नहीं किए जाने पर उत्तर प्रदेश में जबरन धर्म परिवर्तन के तहत मुकदमे दर्ज किए जाने का प्रावधान है. 

First Published : 30 Aug 2021, 04:19:05 PM

For all the Latest States News, Haryana News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.