logo-image
लोकसभा चुनाव

क्यों पर्यटकों लिए खास हैं गुजरात की द्वारका? जानें भगवान कृष्ण नगरी के रहस्य 

यहां पर भगवान ने एक एसी नगरी को स्थापित किया था जो काफी भव्य होने के साथ सुव्यवस्थित थी.

Updated on: 26 Feb 2024, 11:19 PM

नई दिल्ली:

द्वारका, गुजरात राज्य में स्थित एक प्राचीन शहर है. यह हिंदुओं के चारधामों में से एक है और भगवान कृष्ण की नगरी के रूप में जाना जाता है. द्वारका पर्यटकों के लिए एक लोकप्रिय गंतव्य है, और इसके कई कारण हैं. यह नगरी भगवान कृष्ण के शासन के लिए याद की जाती है. यहां पर भगवान ने एक एसी नगरी को स्थापित किया था जो काफी भव्य होने के साथ सुव्यवस्थित थी. आइए जानते हैं द्वारका को खास बनाने वाले कारणों के बारे में. 

ये भी पढ़ें: Loksabha Election 2024: क्या राहुल गांधी वायनाड सीट से नहीं लड़ेंगे चुनाव? जानें किन सीटों पर है दावेदारी 

धार्मिक महत्व:

द्वारका भगवान कृष्ण की निवासस्थली थी. यहां उन्होंने द्वारकाधीश मंदिर का निर्माण करवाया था. ये आज भी हिंदुओं के लिए एक महत्वपूर्ण तीर्थस्थल है. द्वारकाधीश मंदिर 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक है. द्वारका में गोमती नदी का संगम भी है, जो हिंदुओं के लिए पवित्र माना जाती है. 

ऐतिहासिक महत्व:

द्वारका एक प्राचीन शहर है, इसका इतिहास 4,000 साल से भी अधिक पुराना है. द्वारका में कई ऐतिहासिक स्मारक हैं, जिनमें द्वारकाधीश मंदिर, बेट द्वारका, नागेश्वर मंदिर और गोमती घाट शामिल हैं. 

सांस्कृतिक महत्व:

द्वारका गुजरात की संस्कृति का केंद्र है. यहां कई त्योहार और उत्सव मनाए जाते हैं, जिनमें द्वारका महोत्सव, रथ यात्रा और जन्माष्टमी शामिल हैं. द्वारका में कई कला और हस्तशिल्प भी हैं, जो पर्यटकों के बीच लोकप्रिय हैं.

प्राकृतिक सुंदरता:

द्वारका समुद्र के किनारे स्थित है. यहां कई सुंदर समुद्र तट हैं, जिनमें चक्रतीर्थ बीच, ओखा बीच और गोपनाथ बीच शामिल हैं. द्वारका में कई प्राकृतिक झीलें और पहाड़ भी हैं, जो पर्यटकों को आकर्षित करते हैं.

आवास और भोजन:

द्वारका में सभी बजट के लिए आवास उपलब्ध हैं. यहां कई रेस्तरां हैं जो विभिन्न प्रकार के भारतीय और अंतरराष्ट्रीय व्यंजन परोसते हैं.

कनेक्टिविटी:

  • द्वारका हवाई, रेल और सड़क मार्ग से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है. 
  • द्वारकाधीश मंदिर: भगवान कृष्ण को समर्पित एक भव्य मंदिर.
  • बेट द्वारका: समुद्र के बीच स्थित एक द्वीप, जहां द्वारकाधीश मंदिर की एक प्रतिमा है.
  • नागेश्वर मंदिर: भगवान शिव को समर्पित एक ज्योतिर्लिंग
  • गोमती घाट: गोमती नदी का किनारा, जहां पर्यटक स्नान और पूजा कर सकते हैं
  • चक्रतीर्थ बीच: एक सुंदर समुद्र तट, जहां पर्यटक तैराकी और धूप सेंकने का आनंद ले सकते हैं
  • ओखा बीच: एक और सुंदर समुद्र तट, जो अपनी सूर्यास्त के लिए प्रसिद्ध है.
  • गोपनाथ बीच: एक शांत समुद्र तट जो अपने प्राकृतिक सौंदर्य के लिए जाना जाता है.
  • द्वारका पर्यटकों के लिए एक शानदार जगह है. यहां धार्मिक, ऐतिहासिक, सांस्कृतिक और प्राकृतिक आकर्षणों का एक अनूठा मिश्रण है.