News Nation Logo

गुजरात में आदिवासी समुदाय के लोगों को अयोध्या तीर्थ यात्रा पर मिलेगी 5 हजार की नकद राशि

गुजरात में 182 में से 27 सीटों पर आदिवासी वोट बैंक का प्रभुत्व है. जिसमें से डांग और नवसारी जिले में सबसे ज्यादा आदिवासी समुदाय के लोग रहते हैं.

Written By : प्रदीप सिंह | Edited By : Pradeep Singh | Updated on: 16 Oct 2021, 08:23:59 PM
purresh modi

पूर्णेश मोदी, गुजरात सरकार के मंत्री (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • गुजरात सरकार के मंत्री पूर्णेश मोदी ने आदिवासी इलाके डांग में की घोषणा
  • भारतीय जनता पार्टी के पास आदिवासी वोट बैंक काफी कम है
  • आदिवासी भाई बहन को अयोध्या की तीर्थ यात्रा पर जाने पर मिलेगा ₹5000 की नकद राशि  

नई दिल्ली:

गुजरात सरकार ने आदिवासियों को रिझाने के लिए एक अलग ही दांव खेला है. गुजरात सरकार के मंत्री पूर्णेश मोदी ने गुजरात के सबसे बड़े आदिवासी इलाके डांग में जिसे शबरी धाम भी कहा जाता है वहां से यह घोषणा की है कि आने वाले दिनों में जो भी आदिवासी भाई बहन उत्तर प्रदेश के अयोध्या में भगवान राम की मंदिर की तीर्थ यात्रा पर जाएगा उन्हें ₹5000 की नकद राशि दी जाएगी. गौरतलब है कि गुजरात में आने वाले साल में चुनाव है और भारतीय जनता पार्टी के पास आदिवासी वोट बैंक काफी कम है. लिहाजा इस योजना को चुनावी योजना के तौर पर देखा जा रहा है.

यह भी पढ़ें: सोसायटी में हिंदुओं ने लगाए बैनर, मुस्लिमों को घर बेचने की प्रक्रिया पर उठाए सवाल

मंत्री ने घोषणा राज्य कक्षा के दशहरा महोत्सव के दौरान की है.  गौरतलब है कि गुजरात में 182 में से 27 सीटों पर आदिवासी वोट बैंक का प्रभुत्व है. जिसमें से डांग और नवसारी जिले में सबसे ज्यादा आदिवासी समुदाय के लोग रहते हैं. खास तौर पर क्रिश्चियन आदिवासी समुदाय भी इसमें शामिल हैं. देखा जाए तो गुजरात में आदिवासी वोट बैंक 14 प्रतिशत है. लिहाजा सरकार की यह योजना आदिवासी वोट बैंक बटोरने की है.

गुजरात का डांग जिला पश्चिमी घाट की उत्तरी दिशा में है. इसके उत्तर और पश्चिम में तापी, नवसारी, वलसाड तथा दक्षिण और पूर्व में नंदुरबार तथा नासिक जिले हैं. इनका केंद्रीय नगर अहवा है. पर्वतीय संकरा क्षेत्र होने के कारण यहां रागी तथा अन्य धान उत्पन्न होते हैं. पहले यह गुजरात की छोटी-छोटी देशी रियासतों के समूह में था. 1949  ई. में बंबई राज्य में इसका विलय हुआ और 1960 ई. में गुजरात राज्य बनने पर यह उसमें सम्मिलित होगया. इस जिले में 72 प्रतिशत आदिवासी हैं. शबरीधाम, सापुतारा, महाल, डोन, पंपा सरोवर, पूर्णा वन्यजीव अभयारण्य यहां के प्रमुख पर्यटन स्थल है.

First Published : 16 Oct 2021, 08:22:03 PM

For all the Latest States News, Gujarat News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.