logo-image
लोकसभा चुनाव

जेल में क्यों बढ़ रही CM अरविंद केजरीवाल की शुगर? ईडी ने कोर्ट में दी ये दलील

ED के वकील ने राऊज एवेन्यू कोर्ट में सुनवाई के दौरान दलील दी कि CM घर से आया खाना खा रहे हैं. इसकी वजह से उनका शुगर लेवल बढ़ रहा है.

Updated on: 18 Apr 2024, 03:50 PM

नई दिल्ली:

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का शुगर लेवल लगातार बढ़ रहा है. इसके लिए ईडी ने उनके खानपान को जिम्मेदार ठहराया है. प्रवर्तन निदेशालय के वकील ने राऊज एवेन्यू कोर्ट में सुनवाई के दौरान दलील दी कि सीएम घर से आया खाना खा रहे हैं. इसकी वजह से उनका शुगर लेवल बढ़ रहा है. इस दौरान ईडी की ओर से पेश वकील जुहैब हुसैन ने अपनी दलील में कहा कि सीएम अरविंद केजरीवाल का शुगर लेवल बढ़ने की मुख्य वजह उनका घर का खाना है. वकील ने कहा कि उन्हें घर से आलू-पूरी, आम, मिठाई और मीठी चीजें खाने को मिल रही हैं. 

ईडी के वकील ने इस बात पर जेल ऑथोरिटी से पूरी रिपोर्ट मांगी है. इसके बाद अरविंद केजरीवाल के वकील विवेक जैन ने ईडी के वकीलों की दलीलों का विरोध कया. उन्होंने कहा कि ये बयान मीडिया के लिए दिया गया है. 

कोर्ट ने मांगा डाइट चार्ट 

अदालत में अरविंद केजरीवाल के वकील ने दलील दी कि उनका फास्टिंग शुगर लेवल 243 पर था. ये काफी अधिक है. जबकि साधारण रूप ये 120 होती है. उनका कहना है कि सीएम अरविंद केजरीवाल को वही खाना मिल रहा है, जो उन्हें डॉक्टरों ने बताया है. इस पर अदालत ने कहा कि उसे सीएम का डाइट चार्ट उपलब्ध कराया जाए. 

केजरीवाल के वकील से अदालत ने कहा कि हम जेल से मेडिकल रिपोर्ट मंगवा रहे हैं. इसके साथ आप भी हमें डॉक्टर का लिखा प्रिस्क्रिप्शन दें. वहीं ईडी की ओर से जवाब आया कि आप जेल के DG से इस रिपोर्ट को मांग सकते हें. 

ये भी पढ़ें: शिल्पा शेट्टी के पति राज कुंद्रा पर ED की बड़ी कार्रवाई, 97 करोड़ की संपत्ति अटैच

नए सिरे से संशोधित याचिका दाखिल होगी

अब अगली सुनवाई शुक्रवार को दोपहर 2 बजे होगी. सीएम अरविंद केजरीवाल की ओर से उनकी याचिका को वापस लिया गया है. इसके बाद नए सिरे से संशोधित याचिका दाखिल होगी. इसके लेकर अब कल सुनवाई होगी. 

तिहाड़ जेल में बंद हैं केजरीवाल  

आपको बता दें कि सीएम अरविंद केजरीवाल कथित शराब घोटाला मामले को लेकर तिहाड़ जेल में बंद है. कोर्ट में अरविंद केजरीवाल की ओर से याचिका लगाई गई थी कि उनका शुगर लेवर कंट्रोल में नहीं है. इसे लेकर वह अपने डॉक्टरों से सलाह लेना चाहते हैं. इस पर अदालत ले ईडी को 18 अप्रैल तक जवाब देने का आदेश दिया था.