News Nation Logo

दिल्ली में तीसरी लहर से बच्चों को बचाने के लिए बनेगी विशेष टास्क फोर्स, CM केजरीवाल का फैसला

कोविड संक्रमण की संभावित तीसरी लहर के मद्देनजर दिल्ली सरकार ने तैयारियां तेज कर दी है. संभावित तीसरी लहर को लेकर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने हाईलेवल मीटिंग में बड़ा फैसला लिया है.

News Nation Bureau | Edited By : Dalchand Kumar | Updated on: 19 May 2021, 02:55:27 PM
CM Kejriwal

दिल्ली में तीसरी लहर से बच्चों को बचाने के लिए बनेगी विशेष टास्क फोर्स (Photo Credit: फाइल फोटो)

highlights

  • तीसरी लहर से निपटने की तैयारी
  • दिल्ली सरकार ने की हाईलेवल मीटिंग
  • बैठक में लिए गए महत्वपूर्ण फैसले

नई दिल्ली:

कोरोना वायरस संक्रमण की संभावित तीसरी लहर के मद्देनजर दिल्ली सरकार ने तैयारियां तेज कर दी है. संभावित तीसरी लहर को लेकर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने हाईलेवल मीटिंग में बड़ा फैसला लिया है. राजधानी में तीसरी लहर से बच्चों को बचाने के लिए विशेष टास्क फोर्स का गठन किया जाएगा. इसके अलावा बेड्स, ऑक्सीजन और दवाओं की पूर्व तैयारियों के लिए भी अधिकारियों की टीम बनेगी. सीएम अरविंद केजरीवाल की बैठक में फैसला लिया गया है कि ऑक्सीजन सप्लाई और उसकी उपलब्धता को लेकर प्राथमिकता के आधार पर काम होगा. 

यह भी पढ़ें : Cyclone Tauktae Live Updates : PM नरेंद्र मोदी ने चक्रवात से प्रभावित दीप और गुजरात के क्षेत्रों का हवाई दौरा किया

कोरोना महामारी की संभावित तीसरी लहर को लेकर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दोपहर 12 हाईलेवल मीटिंग बुलाई. दिल्ली सचिवालय में हुई इस बैठक में उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया, स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन के अलावा चीफ सेक्रेटरी भी मौजूद रहे. इस बैठक में केजरीवाल सरकार ने यह महत्वपूर्ण फैसले लिए. अरविंद केजरीवाल ने कहा कि अगर कोरोना की तीसरी लहर आती है तो उससे लड़ने के लिए हमें पहले से तैयार रहना होगा. उन्होंने कहा कि तीसरी लहर से बच्चों को बचाने के लिए विशेष टास्क फ़ोर्स बनाएंगे. साथ ही पर्याप्त बेड, ऑक्सीजन और ज़रूरी दवाओं का पहले से बेहतर प्रबंधन किया जाएगा. 

देखें : न्यूज नेशन LIVE TV

फिलहाल दिल्ली में कोरोना वायरस की दूसरी लहर से जूझ रही है. हालांकि कुछ दिनों से थोड़ी राहत जरूर मिली है. कोरोना के नए मामले मंगलवार को लगातार दूसरे दिन 5,000 के स्तर से कम रहे, जो 4,482 मामले दर्ज किए गए. यह 4 अप्रैल के बाद से सबसे कम आंकड़ा है, जब 4,033 मामले सामने आए थे. राजधानी शहर में भी रोजाना टेस्ट पॉजिटिविटी दर में कमी देखी गई, जो 7 प्रतिशत से नीचे 6.89 प्रतिशत हो गई. हालांकि, 265 मौतें हुईं, जिससे मरने वालों की संख्या 22,111 हो गई. दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य बुलेटिन के अनुसार, मंगलवार को कुल 9,403 कोविड मरीज ठीक हुए, जबकि शहर में इस समय 50,863 सक्रिय मामले हैं.

यह भी पढ़ें : तेजस्वी यादव ने अपने सरकारी आवास को बनाया कोविड केयर सेंटर, JDU ने कसा तंज 

पिछले दो हफ्तों से दिल्ली, जो लॉकडाउन में है, वहां रोजाना पॉजिटिव मामलों और पॉजिटिविटी दर में भारी कमी देखी गई है. कोविड महामारी की दूसरी लहर के चरम के दौरान 20 अप्रैल को दिल्ली के रोजाना पॉजिटिव मामले 28,395 थे, जबकि सबसे ज्यादा रोजाना पॉजिटिविटी दर 22 अप्रैल को 36 प्रतिशत थी. दिल्ली में सोमवार को 4,524, रविवार को 6,456, शनिवार को 6,430, शुक्रवार को 8,506, गुरुवार को 10,489, बुधवार को 13,287 और मंगलवार को 12,481 नए मामले सामने आए.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 19 May 2021, 02:03:17 PM

For all the Latest States News, Delhi & NCR News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो