News Nation Logo
Banner

आज 11 बजे पीएम मोदी से मिलेंगे नीतीश और तेजस्वी, जातिगत जनगणना पर होगी बात

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और तेजस्वी यादव आज यानि सोमवार को सुबह 11 बजे पीएम मोदी से मुलाकात करेंगे. इस दौरान नीतीश कुमार और तेजस्वी यादव समेत 10 अन्य दलों के नेता पीएम मोदी से जातिगत जनगणना के मुद्दे पर चर्चा करेंगे.

News Nation Bureau | Edited By : Rajneesh Pandey | Updated on: 23 Aug 2021, 06:55:27 AM
PM MODI AND NITISH KUMAR

PM MODI AND NITISH KUMAR (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • आज यानि सोमवार को पीएम मोदी से मिलेंगे नीतीश कुमार
  • तेजस्वी यादव सहित 10 दलों के नेता होंगे बैठक में शामिल
  • जातिगत जनगणना के मुद्दे पर होगी चर्चा

नई दिल्ली:

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और तेजस्वी यादव आज यानि सोमवार को सुबह 11 बजे पीएम मोदी से मुलाकात करेंगे. इस दौरान नीतीश कुमार और तेजस्वी यादव समेत 10 अन्य दलों के नेता पीएम मोदी से जातिगत जनगणना के मुद्दे पर चर्चा करेंगे. बता दें कि जातिगत जनगणना दिन प्रतिदिन एक बड़ा मुद्दा बनता जा रहा है. देश में इस पर लगातार बयान और बहसबाजी जारी है. इस बीच लगातार ये बात सामने आ रही है कि देश में जातिगत जनगणना होनी ही चाहिए. इस मुद्दे पर विपक्ष के साथ-साथ सभी सहयोगी पार्टियां भी इस जनगणना के पक्ष में नजर आ रही हैं और लगातर केंद्र पर इसके लिए दबाव बनाने की कोशिश कर रही हैं. इस दौरान नीतीश कुमार के साथ 10 अन्य दलों के नेता भी शामिल हो सकते हैं.

यह भी पढ़ें : जंतर मंतर पर भड़काऊ नारेबाजी मामले में हिंदू आर्मी चीफ सुशील तिवारी गिरफ्तार

राजधानी दिल्ली में होगी बैठक

पीएम मोदी और नीतीश कुमार की यह बैठक राजधानी दिल्ली में होगी और इस बैठक में शामिल होने के लिए नीतीश दिल्ली पहुंच चुके हैं. यह जानकारी खुद नीतीश कुमार ने साझा की है. इस दौरान उन्होंने कहा कि हम देश में जातिगत जनगणना करवाने की मांग लेकर पीएम मोदी से मिलने जा रहे हैं. नीतीश के साथ इस बैठक में तेजस्वी यादव, वीआईपी (VIP) प्रमुख और मंत्री मुकेश सहनी सहित 10 दलों के नेता शामिल होंगे. बिहार में जातिगत जनगणना करवाने का मुद्दा काफी तेजी से चल रहा है.

नीतीश के साथ 10 अन्य दलों के नेता भी होंगे बैठक में शामिल

इस बार जातिगत जनगणना के मुद्दे पर बात करने के लिए नीतीश कुमार के साथ 10 दलों का प्रतिनिधिमंडल प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात करने जा रहा है. आखिरी बार जातिगत जनगणना के आंकड़े आजादी से पहले साल 1931 में जारी किए गए थे. इसके बाद 2011 में जातिगत जनगणना फिर से हुई, लेकिन सरकार द्वारा उन आंकड़ों को जारी नहीं किया गया. जिसको लेकर पिछले कई सालों से नीतीश कुमार जातिगत जनगणना की मांग कर रहे हैं. कई बार उन्होंने सार्वजनिक रूप से भी देश में जातिगत जनगणना की जरूरत बताई है. उन्होंने कहा कि ये एक ऐसा मुद्दा है जिस पर उनकी केंद्र संग सहमति नहीं बन रही है. इस बारे में हाल ही में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने लोकसभा में कहा था कि केंद्र जाति के अनुसार जनसंख्या की गणना नहीं करेगा. जिसके बाद एक बार फिर नीतीश कुमार जातिगत जनगणना के मुद्दे को लेकर काफी सक्रिय नज़र आ रहे हैं.

10 अन्य दलों के प्रतिनिधिमंडल में बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव, कांग्रेस विधायक दल के नेता अजित शर्मा, CPIML से महबूब आलम, AIMIM से अख्तरुल इमान, पूर्व सीएम और हम पार्टी के अध्यक्ष जीतन राम मांझी, VIP के मुखिया और मंत्री मुकेश सहनी भी शामिल होंगे. इनके साथ सीपीआई से सूर्यकांत पासवान, और सीपीएम के अजय कुमार समेत कुल 11 नेता इस बैठक में शामिल होंगे.

First Published : 23 Aug 2021, 06:47:50 AM

For all the Latest States News, Delhi & NCR News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.