News Nation Logo
Banner

छत्तीसगढ़ में कुपोषित बच्चों की संख्या में करीब 14% की आई कमी : सरकार

छत्तीसगढ़ सरकार ने सोमवार को कहा कि कुपोषण के खिलाफ चलाए गए अभियान के कारण पिछले एक साल में राज्य के भीतर कुपोषित बच्चों की संख्या में करीब 14 फीसदी की कमी आई है.

Bhasha | Updated on: 07 Oct 2020, 04:43:47 PM
Malnutrition rate

Malnutrition rate (Photo Credit: (सांकेतिक चित्र))

दिल्ली:

छत्तीसगढ़ सरकार ने सोमवार को कहा कि कुपोषण के खिलाफ चलाए गए अभियान के कारण पिछले एक साल में राज्य के भीतर कुपोषित बच्चों की संख्या में करीब 14 फीसदी की कमी आई है. छत्तीसगढ़ सूचना केंद्र की ओर से यहां जारी बयान के मुताबिक, एक साल के भीतर 67 हजार से अधिक बच्चे कुपोषण से मुक्त हुए हैं.

राज्य की महिला एवं बाल विकास मंत्री अनिला भेंड़िया ने कहा, ‘‘ छत्तीसगढ़ में मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान के सकारात्मक परिणाम सामने आये हैं. अभियान के साथ विभिन्न योजनाओं के एकीकृत योजना और समन्वित प्रयास से बच्चों में कुपोषण दूर करने में बड़ी सफलता मिली है.’’

ये भी पढ़ें: मप्र में कुपोषण मिटाने के लिए रहेगा अंडे का विकल्प : मंत्री

उन्होंने बताया, ‘‘योजना के शुरू होने के समय के आंकड़ों के अनुसार प्रदेश में लगभग 4 लाख 92 हजार बच्चे कुपोषित थे. अब इनमें से 67 हजार से अधिक बच्चे कुपोषण से मुक्त हो गए हैं. इस तरह कुपोषित बच्चों में लगभग 13.79 प्रतिशत की कमी आई है.’’

मंत्री के मुताबिक, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वेक्षण-4 के आंकड़ों में महिलाओं और बच्चों में कुपोषण और एनीमिया की दर को देखते हुए प्रदेश को कुपोषण और एनीमिया से मुक्त करने अभियान की शुरुआत भी की है. अनिला का कहना है कि राष्ट्रीय परिवार सर्वेक्षण-4 के अनुसार, प्रदेश के 5 वर्ष से कम उम्र के 37.7 प्रतिशत बच्चे कुपोषण और 15 से 49 वर्ष की 47 प्रतिशत महिलाएं एनीमिया से पीड़ित थे. भाषा हक हक शाहिद शाहिद

First Published : 07 Oct 2020, 04:43:18 PM

For all the Latest States News, Delhi & NCR News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो