News Nation Logo
Breaking
Banner

कैप्टन और कांग्रेस ने पंजाबियों पर अविश्वास के कारण 209 गैर पंजाबियों को दी नौकरियां:Bhagwant Mann

भगवंत मान ने खुलासा किया कि `स्पेशल प्रोटक्शन यूनिट' में सुरक्षा अधिकारी और मुलाजिमों की भर्ती के समय अकाली-भाजपा की संयुक्त सरकार के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने वर्ष 2014 और वर्ष 2016 में अन्य राज्यों के 146 व्यक्तियों को भर्ती किया था.

News Nation Bureau | Edited By : Radha Agrawal | Updated on: 26 Nov 2021, 09:26:17 PM
Bhagwant Mann

Bhagwant Mann (Photo Credit: Twitter )

नई दिल्ली :  

आम आदमी पार्टी (आप) पंजाब के अध्यक्ष एवं सांसद भगवंत मान ने मुख्यमंत्री की सुरक्षा के लिए गैर-पंजाबियों को कांग्रेस और अकाली भाजपा की सरकारों द्वारा भर्ती किए जाने को पंजाब, पंजाबी और पंजाबियत से गद्दारी करार दिया है. उन्होंने पंजाब वासियों से अपील की है कि पंजाब से गद्दारी करने वाले प्रकाश सिंह बादल व सुखबीर बादल, कैप्टन अमरिंदर सिंह, कांग्रेस और अकाली दल बादल को आगामी विधानसभा चुनावों में पंजाब, पंजाबी और पंजाब वासियों पर जताए अविश्वास का करार जवाब दिया जाए. 

पार्टी मुख्यालय से शुक्रवार को जारी बयान में `आप' पंजाब के अध्यक्ष एवं सांसद भगवंत मान ने बताया कि पंजाब, पंजाबी और पंजाबियत को बचाने का नारा देकर राज करने वाले अकाली दल के प्रकाश सिंह बादल व सुखबीर बादल और कांग्रेस के कैप्टन अमरिंदर सिंह को पंजाबियों पर ही विश्वास नहीं है, क्योंकि बादल और कैप्टन ने अपनी, अपने परिवारों व अन्य करीबियों की सुरक्षा के लिए बनाए `स्पेशल प्रोटक्शन यूनिट' में अन्य राज्यों के 209 व्यक्तियों को नौकरियां दी, जबकि पंजाब के केवल 19 नौजवानों को नौकरी नसीब हुई, यह पंजाब, पंजाबी और पंजाबियत से गद्दारी है. उन्होंने आरोप लगाया कि क्वस्पेशल प्रोटक्शन यूनिट' में अन्य राज्यों से डीएसपी, इंस्पेक्टर, सब-इंस्पेक्टर और जवान भर्ती करके बादलों और कैप्टन ने न सिर्फ पंजाबियों की पीठ पर चाकू घोंपा, बल्कि पंजाब के खजाने को भी लूटा है.

यह भी पढ़ें : कर्नल केठियाल ने सीएम केजरीवाल की तीसरी मुफ्त तीर्थ यात्रा योजना का हरिद्वार से किया शुभारंभ

भगवंत मान ने खुलासा किया कि `स्पेशल प्रोटक्शन यूनिट' में सुरक्षा अधिकारी और मुलाजिमों की भर्ती के समय अकाली-भाजपा की संयुक्त सरकार के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने वर्ष 2014 और वर्ष 2016 में अन्य राज्यों के 146 व्यक्तियों को भर्ती किया था. इसी तरह कांग्रेस के तत्कालीन मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने वर्ष 2021 में 63 गैर-पंजाबियों को भर्ती किया. इससे न केवल रोजगार के लिए जद्दोजहद करते आ रहे पंजाब के होनहार और योगय नौजवानों के नौकरी के मौके छीने हैं, बल्कि पंजाब पुलिस में पदोन्नति प्रक्रिया भी गड़बड़ की है. इसका सीधा नुकसान पंजाब के जवानों और अधिकारियों का हुआ है. उन्होंने आरोप लगाया कि पंजाबियों से वोट लेकर पंजाब पर राज करने वाले बादल और कैप्टन को पंजाबियों पर ही भरोसा नहीं लेकिन ये बातें पंजाब, पंजाबी और पंजाबियत को बचाने की करते हैं.

सांसद भगवंत मान ने पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी और गृह मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा से सवाल किया कि `स्पेशल प्रोटक्शन यूनिट' में गैर-पंजाबियों को नौकरियां देने के मामले में सरकार ने क्या फैसला किया है? पंजाबियों से गद्दारी करने वाले प्रकाश सिंह बादल, कैप्टन अमरिंदर सिंह व अकाली-कांग्रेसियों समेत जिम्मेदार उच्चाधिकारियों के खिलाफ क्या कार्रवाई की जाएगी? क्या बादल, कैप्टन और अधिकारियों के खिलाफ पंजाबियों से गद्दारी करने के आरोप में केस दर्ज किया जाएगा?

 

First Published : 26 Nov 2021, 09:26:17 PM

For all the Latest States News, Delhi & NCR News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.