News Nation Logo
Banner

दिल्ली में कोरोना पॉजिटिव हुए श्रमिकों को 10 हजार रुपये की सहायता

दिल्ली सरकार के श्रम विभाग ने घोषणा की है कि इस महामारी (Pendamic) में कोरोना पॉजिटिव (Corona Positive) हुए पंजीकृत निर्माण श्रमिकों और उनके परिवार वालों को चिकित्सकीय सहायता के रूप में 5 हजार से 10 हजार रुपये की सहायता राशि दी जाएगी.

News Nation Bureau | Edited By : Ravindra Singh | Updated on: 27 Apr 2021, 11:23:15 PM
arvind kejriwal

अरविंद केजरीवाल (Photo Credit: फाइल )

highlights

  • दिल्ली सरकार कोविड पीड़ित श्रमिकों के खाते मेंं 10 हजार डालेगी
  • सिसोदिया ने पंजीकृत श्रमिकों के खातों में 5-5 हजार रुपये डाले
  • कुल मिलाकर दिल्ली सरकार ने 2 लाख श्रमिकों को 100 करोड़ रुपयों की मदद की

नयी दिल्ली:  

दिल्ली सरकार (Delhi Government) ने कोरोना वायरस संक्रमण (Corona Virus Infection) के दौरान निर्माण श्रमिकों (Help of Labours)की सहायता के लिए एक और कदम उठाया है. दिल्ली सरकार के श्रम विभाग ने घोषणा की है कि इस महामारी (Pendamic) में कोरोना पॉजिटिव (Corona Positive) हुए पंजीकृत निर्माण श्रमिकों और उनके परिवार वालों को चिकित्सकीय सहायता के रूप में 5 हजार से 10 हजार रुपये की सहायता राशि दी जाएगी. निर्माण श्रमिकों के कोरोना रिपोर्ट (Coroana Report) की आईसीएमआर के पोर्टल पर जांच कर सहायता राशि को सीधे उनके खातों में भेजा जाएगा. ये सहायता राशि कोरोना काल के दौरान श्रमिकों के वित्तीय संकट को कम करने में मदद करेगी.

दिल्ली सरकार द्वारा प्रवासी, दिहाड़ी और निर्माण कार्यों में लगे श्रमिकों की अन्य जरूरतों के पूरा करने के लिए दिल्ली के सभी जिलों में कई स्कूलों और कंस्ट्रक्शन साइट्स पर 150 से अधिक फूड डिस्ट्रीब्यूशन सेंटर भी शुरू कर दिए हैं. इन केंद्रों के माध्यम से अबतक लगभग 83 हजार फूड पैकेट बांटे जा चुके हैं. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी श्रमिकों और प्रवासियों से अपील की है कि वो दिल्ली न छोड़े क्योंकि दिल्ली सरकार उनके लिए सभी प्रकार की सहायता सुनिश्चित कर रही है.

यह भी पढ़ेंःस्वास्थ्य मंत्रालय ने जारी किए कोविड के आंकड़े, इन राज्यों में स्थिति भयानक

उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली सरकार ने राजधानी के पंजीकृत निर्माण श्रमिकों को 5-5 हजार रुपये की वित्तीय सहायता राशि प्रदान की है.अबतक लगभग 2 लाख श्रमिकों को 100 करोड़ की सहायता राशि दी गई है. पिछले वर्ष दिल्ली में पंजीकृत निर्माण श्रमिकों की संख्या करीब 55 हजार थी, इन्हें पिछले वर्ष भी लॉकडाउन के दौरान दिल्ली सरकार की ओर से 5-5 हजार रुपए की सहायता राशि प्रदान की गई थी. इस सरकार द्वारा मेगा रेजिस्ट्रेशन ड्राइव चलाने के बाद बड़ी संख्या में श्रमिकों का पंजीकरण हुआ. दिल्ली में फिलहाल 1 लाख 72 हजार पंजीकृत निर्माण श्रमिक है.

यह भी पढ़ेंःकेंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह राज्यों के राज्यपालों से कोविड पर की बातचीत

वहीं आपको बता दें कि राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण की वजह से हालात बुरे होते चले जा रहे हैं. दिल्ली में पिछले 24 घंटों में 381 मरीजों की मौत हुई है. एक दिन में इतनी ज्यादा मौतों के मामले में सबसे आगे है ये दिन वहीं अगर हम पिछले 24 घंटों में दिल्ली के कोविड रोगियों के पॉजिटिविटिव रेट की बात करें तो 24149 नए मामलों के साथ यह 33 फीसदी के करीब जा पहुंचा है.  जब कि अगर हम दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमित मरीजों के एक्टिव मामलों की संख्या की बात करें तो ये आंकड़ा 98,000 के पार तक जा पहुंचा है और ये नंबर अब तक सबसे ज्यादा मरीजों का आंकड़ा है.

First Published : 27 Apr 2021, 11:22:50 PM

For all the Latest States News, Delhi & NCR News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.