News Nation Logo
Banner

छत्तीसगढ़ में फूटा 'कोरोना बम', एक ही गांव में मिले 180 मरीज, प्रशासन ने किया सील

छतीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के गृह जिला दुर्ग के एक गांव में कोरोना विस्फोट हुआ है. जिले के ढौर गांव में 180 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए हैं, जिसको देखते हुए प्रशासन ने गांव को सील कर दिया है.

Written By : दिलीप शर्मा | Edited By : Dalchand Kumar | Updated on: 31 Mar 2021, 04:01:55 PM
Covid

फूटा 'कोरोना बम': एक ही गांव में मिले 180 मरीज, प्रशासन ने किया सील (Photo Credit: फाइल फोटो)

highlights

  • छत्तीसगढ़ में फूटा 'कोरोना बम'
  • एक ही गांव में मिले 180 मरीज
  • प्रशासन ने किया गांव को सील

दुर्ग:

छतीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के गृह जिला दुर्ग इन दिनों प्रदेश में कोरोना वायरस का हॉट स्पॉट जोन बना हुआ है. आलम यह है कि संक्रमण अब शहरों से गांवों तक तेजी से पैर पसार रहा है. जिले के ढौर गांव में ही 180 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए हैं, जिसको देखते हुए प्रशासन ने अब पूरे गांव को कंटेनमेंट जोन बनाकर इस गांव को सील कर दिया है. इस गांव में कुछ दिनों पहले झांकी और मेला का कार्यक्रम आयोजित किया गया था, जिससे ही यह संक्रमण फैलने की आशंका जताई जा रही है. साथ ही बहुत से लोग रायपुर जैसे शहरों में मजदूरी करने लिए जाते हैं. लेकिन अचानक इस तरह एक गांव में 180 लोगों के संक्रमित होने से प्रशासन सकते में आ गया है.

यह भी पढ़ें : बिजली उपभोक्ताओं को E-Mail और व्हाट्सएप से मिलेगा बिजली का बिल

दुर्ग जिले के ग्राम ढौर के अचानक हॉटस्पॉट बन जाने से अब जिले के अन्य गांवों में भी संक्रमण का खतरा मंडरा रहा है. जिले में अब तक शहरों में ही संक्रमित व्यक्ति पाए जा रहे हैं, लेकिन अब गांव में भी भारी मात्रा में संक्रमित पाए जा रहे हैं. वहीं अब ग्राम ढौर को पूरी तरह जिला प्रशासन ने हॉटस्पॉट घोषित कर कंटेनमेंट जोन बना दिया है. इतना ही नहीं, गांव की आबादी 4500 हैं. 1500 परिवारों के इस गांव में रहते हैं, लेकिन अब इस गांव के लोगों का बाहर आना जाना बंद करा दिया गया है.

यह भी पढ़ें : महिला अपराधों की रोकथाम के लिए 700 थानों में बने ऊर्जा महिला हेल्पलाइन डेस्क

जिला स्वास्थ्य विभाग ने गांव में कैंप लगाकर 3000 लोगों का कोविड टेस्ट किया है, जिनमें 180 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. जिले में संक्रमण को बढ़ते देख अब धारा 144 को गांवों के लिए भी लागू कर दिया गया है. इसके अलावा मास्क की अनिवार्यता के लिए गांवों में मुनादि कराई जा रही है. गांव में बाहर से आने जाने वालों की सूची तैयार की जा रही है. शादी, अंत्येष्टि में भी 50 लोगों की अनुमति दी जा रही है. दुर्ग सीएमएचओ डॉ गम्भीर ठाकुर का कहना है कि ढौर गांव में लोगों की सैंपलिंग की जा रही है. अभी भी गांव को कंटेनमेंट जोन बनाकर सैंपल लिए जा रहे हैं. लोगों को आइसोलेट किया जा रहा है. गंभीर और सिम्प्टोमेटिक वालों को हॉस्पिटल शिफ्ट किया जा रहा है. 

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 31 Mar 2021, 04:01:55 PM

For all the Latest States News, Chhattisgarh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.